झारखण्ड बोकारो शिक्षा

आत्महत्या का विचार आए 10 सेकंड तक परिवार व खुद के बारे में सोचें : डॉ प्रशांत,

डिजिटल डेस्क

बोकारो (खबर आजतक): डीएवी पब्लिक स्कूल सेक्टर 6 में मंगलवार को राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन झारखंड के तहत स्वास्थ्य, चिकित्सा शिक्षा एवं परिवार कल्याण विभाग झारखंड सरकार की ओर से आत्महत्या, तनाव व धूम्रपान पर कार्यशाला का आयोजन किया गया| उद्घाटन मुख्य अतिथि मनोचिकित्सक डॉ प्रशांत कुमार मिश्रा, जिला परामर्शी मो असलम, प्राचार्य बी.एम.एल. दास व काउंसलर छोटेलाल दास ने संयुक्त रूप से किया| डॉ प्रशांत ने कहा किसी प्रकार के तनाव को हल्के में ना लें| तनाव होने की स्थिति में खुद को रिलैक्स रखने की कोशिश करें| साथ ही तनाव की बातों को परिवार, दोस्त और रिश्तेदारों से साझा करें| आज के समय में हर व्यक्ति को तनाव का सामना करना पड़ रहा है| तनाव को परास्त कर आगे बढ़ने की कला को ही तनाव पर विजय प्राप्त करना कहते हैं| आज हर व्यक्ति संवेदनशील हो गया है| ऐसे में किसी भी तरह का तनाव को बर्दाश्त नहीं कर पाते हैं| आत्महत्या जैसे घातक कदम उठा लेते हैं| जब भी मन में आत्महत्या का विचार आए 10 सेकंड तक परिवार और खुद के बारे में सोचें. माता-पिता का ध्यान करें, जिसने आपको जीवन दिया है| प्राचार्य बीएमएल दास ने कहा कि जीवन में नाकारात्मकता तनाव का सबसे बडा कारण है| तनाव होने पर व्यकक्ति में नाकारात्मकता आने लगती है. यदि मनुष्य जीवन की घटनाओं को साकारात्मकता के साथ स्वीकार करे, तो वह सुखी जीवन जी सकता है| साकारात्मलक सोच और व्यववहार के साथ स्वानभाविक तौर पर होने वाली इस नाकारात्मकता को हराया जा सकता है| तनाव होने पर परिवार से बात करे| समस्या को साझा करे| मो असलम ने धूम्रपान से होने वाले समस्याओं की जानकारी दी. बच्चों को धूम्रपान से दूर रहने की सलाह दी गई| संचालन प्रशांत कुमार ने किया. मौके पर एस. प्रताप, रूबी कुमारी, किरण सिंह, कुमार समरेश, बाल शेखर झा, गौतम कुमार सिंह, श्याम भूषण श्रीवास्तव, अखिलेश मिश्रा, विद्यासागर, जाह्नवी बनर्जी बी के झा, स्वरूप नाथ, मनीषा सहाय, नीलम झा सहित अन्य शिक्षक व शिक्षकेतर कर्मचारी मौजूद थे|

Related posts

भारत के रत्न है लाल कृष्ण आडवाणी: बाबूलाल मरांडी

Nitesh Verma

24 जुलाई को अंबा प्रसाद बरही के मनोकामनेश्वर मंदिर में करेगी रुद्राभिषेक

Nitesh Verma

राजनीतिक एवं सामाजिक परिदृश्य बदलने का संकल्प लेकर आगे बढ़ें कार्यकर्ता : सुदेश

Nitesh Verma

Leave a Comment