झारखण्ड राँची राजनीति

आदित्य विक्रम के नेतृत्व में “असली चाय पर चर्चा” का आयोजन

नितीश_मिश्र

राँची(खबर_आजतक): आदित्य विक्रम जयसवाल के नेतृत्व में असली चाय पर चर्चा कार्यक्रम का आयोजन किया गया जिसमें मुख्य रुप से यूथ आइकॉन, बिजनसमैन एवं हर वर्ग के प्रबुद्धजन ने विज़न फॉर झारखण्ड पर अपनी प्रतिक्रिया प्रस्तुत किया। आदित्य विक्रम ने काँग्रेस पार्टी द्वारा लायी गई मैनिफेस्टो पर ज़ोर डालते हुए कहा कि पार्टी ने सबसे बेहतरीन मैनिफेस्टो प्रस्तुत कर हर वर्ग के लिए सोचा है एवं सभी के लिए न्याय किया है अगर हम सत्ता में आये तो ये सारे वादे धरातल पर पूरा कर देश हित में एक नया कदम बढ़ाएँगे।

इस मौक़े पर स्पीकर्स में मीनाक्षी सिंह, डॉक्टर रीमा खलखो, रवि खलखो, अभ्युदय एनजीओ के फाउंडर हरनयन नदीम, भानु प्रताप सिंह, अनुष्का चौधरी, विद्याकर कुँवर, जैनेट एंड्रयू, ऐलन एंड्रयू, प्रखर मोदी आदि लोगो ने अपनी प्रतिक्रिया दी।

वहीं डेली वेज वर्कर्स,काँग्रेस मैनिफेस्टो, मनरेगा, 25 लाख का हेल्थ कवर, अर्बन क्षेत्र के लिए अलग योजना, हर वर्ग से करप्शन हटाने के लिए एक अलग बॉडी का निर्माण, क्लाइमेट कंट्रोल रिन्यूएबल एनर्जी अवेयरनेस प्रोग्राम, टूरिज्म कॉरिडोर का निर्माण,रोड सेफ्टी बोर्ड का निर्माण, माइनॉरिटीज़ पर अच्छा क़ानून बनाना, जीडीपी, लॉकडाउन के कारण जो नुक़सान युवाओं को हुआ उसपर विचार करना, एडमिनिस्ट्रेटिव करप्शन,अच्छी गवर्नेंस की व्यवस्था,सस्टेनेबल इकोनॉमिक डेवलपमेंट पालिसी बनें, महिलाओं की सुरक्षा व्यवस्था पर ध्यान, महिला आयोग द्वारा महिलाओं की सुरक्षा हेतु अच्छे क़ानून बने,ब्लॉगर सोसायटी अवेयरनेस प्रोग्राम चलाए, चाइल्ड वेलफेयर से अनुरोध नशा मुक्ति के लिए आदि विषयों पर चर्चा हुई एवं इसको ठीक करने पर सब ने अपनी प्रतिक्रिया प्रस्तुत की।

इस अवसर पर आदित्य विक्रम जयसवाल ने रामधारी सिंह दिनकर की एक पंक्ति बोलते हुए कहा कि आजकल हमलोग रचना नहीं, आलोचना करते हैं। आज हमलोगों ने जुमला वाली चाय की चर्चा को नजरअंदाज कर असली चाय पर चर्चा की शुरूआत की है। इस बार भारत में लोकसभा चुनाव के लिए 97 करोड़ मतदाता अपना मताधिकार का इस्तेमाल करेंगे। सबसे अहम बात यह है कि चुनाव में पहली बार वोट देने वाले यानी 18-19 साल के मतदाताओं की संख्या 1.82 करोड़ है. इसके अलावा 20 से 29 साल के युवा वोटरों की संख्या 19.74 करोड़ है। ये युवा मतदाता किसी भी हार जीत में अहम भूमिका निभा सकते हैं।

आदित्य विक्रम जयसवाल ने कहा कि एक विजन फॉर झारखंड एक विजन फॉर देश, एक युवा क्या सोचते हैं और युवा सब जानते भी है, उसी हिसाब से वोट भी करेंगे। इकोनॉमी ग्रोथ कैसे हो, पॉलिसी कैसी हो, 24 साल पहले झारखंड बना है, जिस गति से विकास करना चाहिए वो नहीं हो पाया। कहीं न कहीं त्रुटि है। उन्होंने कहा कि सरकार किसी की भी रहे आने वाले समय में युवा सोच क्या है, अपने देश को हम समृद्धि कैसे बना सके, युवाओं को रोजगार कैसे दे पायें, महिला सुरक्षित कैसे हों, अल्पसंख्यक अपने आप को सुरक्षित कैसे महसूस करें, देश में अराजकता की स्थिति है। यह कार्यक्रम लगातार धरातल पर करेंगे और हर जगहों पर होगी। आज की युवा पीढ़ी की क्या सोच है, आने वाली विधानसभा चुनावों की मैनिफैस्टों में पार्टी अध्यक्षों को शामिल करने हेतु आग्रह करेंगे।

इस मौक़े पर मीनाक्षी सिंह ने कहा कि जो सरकार महिलाओं की सुरक्षा, किसानों, युवाओं, रोज़गार और देश की इकॉनमी ग्रोथ के बारे में सोचे वही सरकार सत्ता में आकर सही कार्य कर सकती है।

अभ्युदय एनजीओ के फाउंडर हरनयन नदीम ने कहा झारखंड राज्य में जितनी रफ़्तार से विकास होनी चाहिए उतनी नहीं हो पायी है इसकी वजह अस्थाई सरकार है युवाओं को सुनहरे कल के लिये वोट करना चाहिए।

इस मौक़े पर स्पीकर अनुष्का ने कहा कि महिलाओं के सुरक्षा हेतु अच्छे क़ानून बने ताकि महिलाएँ निर्भीक होकर समाज में अपना योगदान दे सके।

इस अवसर पर प्रमोद कुमार जयसवाल, राहुल, कैप्टेन अमरेन्द्र सिंह, हरीश प्रभाकर, कृष्णा सहाय, संजीव महतो, अनिल सिंह, आसिफ़ ज़ियाऊल, इरफ़ान ख़ान, आर्या कुमारी, मुस्कान, खेमिस हेम्ब्रम, सक्षम श्रीवास्तव, वंदना, स्वीटी कुमारी, साँखी अग्रवाल आदि मौजूद थे।

Related posts

कांग्रेस से राजयसभा सांसद धीरज साहू के ठिकानों से 200 करोड़ से ज्यादा नगद मिले

Nitesh Verma

बीजेपी ने झारखंड 11 सीटों पर उम्मीदवार का किया एलान, इन्हें दिया टिकट, इस वजह से नहीं हुई बाकी तीन सीटों की घोषणा….

Nitesh Verma

सीसीएल में मनाया गया राष्ट्रीय एकता दिवस

Nitesh Verma

Leave a Comment