राँची

किशोर मंत्री के नेतृत्व में आलमगीर आलम से मिला चैंबर का प्रतिनिधिमंडल

एक बार इस विधेयक को वापस लेने के बाद पुन: विधेयक को लाए जाने से व्यापारी स्वयं को ठगा महसूस कर रहे : किशोर मंत्री

नितीश_मिश्र

राँची(खबर_आजतक): झारखण्ड विधानसभा में पारित कृषि शुल्क विधेयक के कारण प्रदेश के सभी जिलों के व्यापारियों, कृषकों एवं व्यापारिक संगठनों के बीच बन रही असमंजसता की स्थिति को देखते हुए अध्यक्ष किशोर मंत्री के नेतृत्व में झारखण्ड चैंबर ऑफ कॉमर्स का एक प्रतिनिधिमण्डल संसदीय कार्य एवं ग्रामीण विकास मंत्री आलमगीर आलम से उनके आवास पर मिला। इस मुलाकात के दौरान चैंबर अध्यक्ष किशोर मंत्री ने कहा कि एक बार इस विधेयक को वापस लेने के बाद पुनः विधेयक को लाये जाने से व्यापारी स्वयं को ठगा महसूस कर रहे हैं। यह विधेयक आधार विहीन है और इसके प्रभावी होने से भ्रष्टाचार बढ़ेगा।

जरुरी है कि सरकार इस मामले में शीघ्र हस्तक्षेप करते हुए इस विधेयक को स्थाई रूप से समाप्त करने की पहल करे। उन्होंने यह भी सुझाया कि कृषकों के विकास के लिए राज्य में कृषि मंडियों को मॉडल रूप में विकसित करने की पहल होनी चाहिए। इस मामले में यदि कोई समस्या है तो सरकार को व्यापारी और कृषकों के साथ मिल-बैठकर समस्या के समाधान की पहल की जानी चाहिए।

इस बैठक के दौरान उपस्थित कांग्रेस पार्टी के महासचिव अजयनाथ शाहदेव, झारखण्ड प्रोफेशनल कांग्रेस के आदित्य विक्रम जयसवाल, महानगर के अध्यक्ष संजय पाण्डेय और राँची महानगर के अध्यक्ष कुमार राजा और ज्योति मथारु ने भी इस विधेयक को अव्यवहारिक बताते हुए मंत्री आलमगीर आलम से इस विधेयक को वापस लेने की सहमति दी। यह भी कहा कि इस विधेयक के प्रभावी होने से राज्य के कृषक एवं खाद्य प्रसंस्करण से जुडे उद्योग प्रभावित होंगे और यह राज्यहित में नहीं है। चैंबर के आग्रह पर ज्योति मथारु ने व्यक्तिगत रुप से भी कांग्रेस के झारखण्ड प्रभारी अविनाश पाण्डेय से इस विधेयक को समाप्त कराने का आग्रह किया है।

इस मुलाकात के दौरान काफी साकारात्मक वार्ता हुई।मंत्री आलगीर आलम ने चैंबर अध्यक्ष को इस मामले में आवश्यक सहयोग के लिए आश्वस्त किया।

इस प्रतिनिधिमण्डल में चैंबर अध्यक्ष किशोर मंत्री, उपाध्यक्ष आदित्य मल्होत्रा, महासचिव डॉ अभिषेक रामाधीन, को-ऑर्डिनेशन विद पॉलिटीकल उप समिति के चेयरमेन निरंजन शर्मा, राँची चैंबर पंडरा के अध्यक्ष संजय माहुरी सहित अन्य सदस्य उपस्थित थे।

चैंबर अध्यक्ष किशोर मंत्री ने जताई उम्मीद, कहा ‐ खण्डेलवाल के मार्गदर्शन से झारखण्ड के बच्चों को काफी लाभ

रविवार को दोपहर ढाई बजे से चैंबर भवन में पूर्व आईएएस एवं आईआईटीयन के.के खण्डेलवाल का लेक्चर होगा। विषय होगा आईआईटी की तैयारी कैसे करें। इस कार्यक्रम में के के खण्डेलवाल राजधानी के बच्चों और अभिभावकों को आईआईटी जेईई परीक्षा की तैयारी के तरीके बतायेंगे। यह जानकारी चैंबर के एजुकेशन उप समिति के चेयरमेन विकास सिन्हा ने दी। उल्लेखनीय है कि के के खंडेलवाल गत वर्ष झारखण्ड के मुख्य सचिव रैंक स्तर पद से रिटायर हुए हैं। सेवाकाल में के के खंडेलवाल ने 16 बच्चों की तैयारी कराकर सभी को आईआईटी में प्रवेश की बड़ी सफलता दिलाई है।

चैंबर अध्यक्ष किशोर मंत्री ने उम्मीद जताई कि के.के. खंडेलवाल के मार्गदर्शन से झारखण्ड के बच्चों को काफी लाभ होगा। अब उन्हें आईआईटी के लिए कोटा या दिल्ली जाने की जरुरत नहीं होगी। झारखण्ड में शिक्षा के बढ़ते कदम के लिए के.के. खंडेलवाल का टॉक शो आईआईटी की तैयारी कर रहे बच्चों के लिए प्रेरणादायी होगा।

Related posts

लोकतांत्रिक देश की आत्मा है संविधान, अधिकारों और दायित्वों का बोध कराता है: सुदेश महतो

Nitesh Verma

हिन्दू जागरण मंच झारखण्ड प्रांत के कार्यसमिति सदस्य सुजीत सिंह ने दिया इस्तीफा

Nitesh Verma

सरला बिरला में दो दिवसीय राष्ट्रीय सम्मेलन का शुभारंभ, ‘ क्वांटम विज्ञान व तकनीक में हालिया प्रगति’ विषय पर की गई चर्चा

Nitesh Verma

Leave a Comment