Uncategorized

भारत की लगातार 8वीं जीत में छाए कोहली-जड्डू, 20 वर्ष पुराना रिकॉर्ड बराबर

ख़बर आजतक : ऐतिहासिक ईडन गार्डंस पर विराट कोहली ने 35वें जन्मदिन पर 65000 दर्शकों के सामने अपने आदर्श सचिन तेंदुलकर के वनडे क्रिकेट में रिकॉर्ड 49 शतकों की बराबरी की। उनकी शतकीय पारी के दम पर भारत ने दक्षिण अफ्रीका को 327 रनों का लक्ष्य दिया। लक्ष्य का पीछा करने उतरे साउथ अफ्रीकी बब्बर शेरों को भारतीय पेसरों ने घुटनों पर ला दिया। टूर्नामेंट में रनों का पहाड़ा खड़ा करने वाली टीम ने 27.1 ओवरों में 83 रन बनाते हुए हथियार डाल दिए। यह भारत की लगातार 8वीं जीत है और इसके साथ ही भारत ने अपने 2003 में बनाए गए रिकॉर्ड की बराबरी कर ली।इससे पहले श्रीलंका के खिलाफ पिछले मैच में 302 रन से मिली जीत में शतक से 12 रन से चूके कोहली ने आखिरकार यहां अपने 289वें मैच में 277वीं पारी में 49वां शतक जमाया। तेंदुलकर ने 463 वनडे की 452 पारियों में 49 शतक और 96 अर्धशतक बनाये थे। सचिन के नाम सौ अंतरराष्ट्रीय शतक हैं जबकि कोहली का यह 79वां अंतरराष्ट्रीय शतक है जिन्होंने टेस्ट में 29 और टी20 में भी एक शतक बनाया है।कोहली ने श्रेयस अय्यर (77 रन) के साथ तीसरे विकेट की साझेदारी में 134 रन बनाकर भारत के बड़े स्कोर की नींव रखी। शीर्ष दो टीमों के इस मुकाबले में केशव महाराज को छोड़कर दक्षिण अफ्रीका का कोई गेंदबाज भारतीय बल्लेबाजों खासकर कोहली पर अंकुश नहीं लगा सका। कोहली ने पारी के 49वें ओवर में कागिसो रबाडा की गेंद पर एक रन लेकर तिहरा अंक छुआ तो पूरा ईडन गार्डंस उनके नाम से गूंज उठा। उन्होंने हेलमेट उतारकर दर्शकों और ड्रेसिंग रूम का अभिवादन स्वीकार किया और आसमान की ओर देखा।

इससे पहले रोहित शर्मा ने विध्वंसक अंदाज में आगाज किया। नई गेंद के अपने दोनों गेंदबाजों को कामयाबी नहीं मिलती देख दक्षिण अफ्रीका के कप्तान तेम्बा बावुमा ने छठे ओवर में कागिसो रबाडा को गेंद सौंपी जिन्होंने अपने कप्तान के भरोसे को सही साबित करके खतरनाक होते दिख रहे रोहित को पवेलियन भेजा। रोहित ने मिडऑफ पर काफी तेज शॉट खेला लेकिन बावुमा ने अपने पीछे की ओर झुकते हुए अपने सीने पर शानदार कैच लपका। रोहित ने 24 गेंद में छह चौकों और दो छक्कों की मदद से 40 रन बनाए।कोहली और श्रेयस ने ढीली गेंदों को नसीहत देते हुए रन बनाने का सिलसिला जारी रखा। इस बीच महाराज के दस ओवर का कोटा पूरा हो गया जिन्होंने सिर्फ 30 रन देकर एक विकेट लिया। श्रेयस ने 30वें ओवर में शम्सी को दो चौके जड़े और एडेन मार्कराम को 34वें ओवर में छक्का लगाया। शतक की ओर बढते दिख रहे श्रेयस हालांकि एंगिडि की गेंद पर हवाई शॉट खेलकर गलती कर गए और मार्कराम ने उनका कैच लपककर 134 रन की इस साझेदारी का अंत कर दिया। श्रेयस ने अपनी पारी में 87 गेंद खेलकर सात चौके और दो छक्के लगाए। इसके बाद कोहली (नाबाद 101) और सूर्यकुमार यादव (19 गेंद में 22 रन) ने तेजी से रन बंटोरे। यादव को 46वें ओवर में शम्सी ने विकेट के पीछे क्विंटन डि कॉक के हाथों लपकवाया। रविंद्र जडेजा 15 गेंद में 29 रन बनाकर नाबाद रहे।

Related posts

सभी को संगठित होकर समाज का विकास करना है: हरिशंकर

Nitesh Verma

एडुएथिक से इंजीनियरिंग और मेडिकल के छात्रों को होगा फायदा : नीना नारायण

Nitesh Verma

सेक्टर 4 मजदूर मैदान मे अक्षरधाम मंदिर प्रारूप पंडाल मे विराजमान होंगे 16 फिट के गणपति बाप्पा

Nitesh Verma

Leave a Comment