झारखण्ड बोकारो शिक्षा

संत ज़ेवियर्स के विद्यार्थियों ने दसवीं और बाहरवीं में लहराया परचम

बोकारो ( ख़बर आजतक) : संत जेवियर्स विद्यालय के छात्रों ने दसवीं (ICSE) एवं बारहवीं (ISC) सत्र 2023-2024 के परीक्षा में रिकॉर्ड तोड़ सफलता हासिल की है। यह परिणाम गुणात्मक एवं मात्रात्मक दोनों स्तर में उच्चतम है। संत जेवियर विद्यालय के विद्यार्थियों के अपने कठिन तपस्या से प्राप्त यह अतिउत्तम परिणाम से विद्यालय का नाम पूरे जिला में रोशन हुआ है।


कक्षा दसवीं के परिणाम के आधार पर आयुष सुमन 98 प्रतिशत के साथ विद्यालय में सर्वश्रेष्ठ स्थान पर रहे , वहीं सक्षम अग्रवाल 97.2 प्रतिशत के साथ द्वितीय एवं श्रीश संदीप कुरादकर 97 प्रतिशत के साथ तृतीय स्थान पर रहे।
वहीं बारहवीं में विज्ञान संकाय में अद्वितीय अपूर्व ने 97.5 प्रतिशत के साथ संस्थान में अव्वल स्थान प्राप्त किया, साथ ही ईशान गुप्ता 93.75 प्रतिशत के साथ द्वितीय एवं आयुष कुमार झा 93.25 प्रतिशत के साथ तृतीय स्थान प्राप्त कर संस्थान का नाम रोशन किया।
वाणिज्य संकाय में विद्यालय में सर्वश्रेष्ठ स्थान पर अनुष्का कौर पोपली 94.75 एवं यश कंडुलना 94.75 प्रतिशत प्राप्त किये , द्वितीय श्रुति नायक 92.5 प्रतिशत एवं यशस़्वी सिंह 92.25 प्रतिशत के लाकर तृतीय स्थान पर रहे।
कला संकाय में वेदांत प्रियदर्शी 90 प्रतिशत प्राप्त कर विद्यालय में सर्वश्रेष्ठ स्थान प्राप्त किया , वहीं दूसरे स्थान पर अरुंधति चंदा 88.25 प्रतिशत के साथ दूसरे स्थान पर रहीं।


विद्यालय का प्रत्येक बच्चे को सर्वांगीण विकास की दिशा में अग्रसर करने की कार्यशैली का पुरजोर समर्थन करने वाले हमारे विद्यालय के प्राचार्य महोदय फादर अरुण मिंज, एस.जे. ने विद्यार्थियों को उनके महान् उपलब्धि के लिए, साथ-ही उज्ज्वल भविष्य के लिए शुभकामना दिया। साथ-ही उन्होंने कहा कि यह परिणाम विद्यार्थियों के कठिन परिश्रम , एकाग्रता , आत्मविश्वास , निरंतरता , सकारात्मकता , समयबद्धता , निरंतर ज्ञानार्जन व समुचित कार्यशैली का परिणाम है।
विद्यालय के विद्यार्थी अपने परिणाम में प्राप्त सफलता के लिए इसका पूरा श्रेय विद्यालय के प्राचार्य महोदय , समस्त शिक्षकवृन्द , माता-पिता एवं अपने कठिन परिश्रम मेहनत को देते हैं। दरअसल शिक्षा अपने अज्ञान की एक प्रगतिशील खोज ही है। ज्यों-ज्यों हम ज्ञान के अथाह सागर में डुबकी लगाते हैं, इससे निकले अनुभव के मोती हमें इस बात का एहसास कराते हैं कि अभी हमने बहुत कम जाना है और अभी बहुत कुछ जानना बाकी है। जीवन के हर क्षेत्र में हम रोज़ इसी तथ्य से दो-चार होते हैं।
निष्कर्ष स्वरूप यह कहा जा सकता है कि विद्यालय की सर्वोत्तम कार्यप्रणाली के लिए जिन सर्वोत्तम मानकों की आवश्यकता होती है वह सभी यहाँ उपलब्ध हैं । हमारे विद्यालय के सर्वोत्तम कार्य प्रणाली को एक आदर्श कार्यप्रणाली की संज्ञा दी जा सकती है। विद्यालय परिवार सफल हुए समस्त विद्यार्थियों को शुभकामनाऍं प्रेषित करता है।

Related posts

प्रत्येक जिला में महाधिवेशन के माध्यम से बढ़ाया जाए कार्यकर्ताओं का जुटान: एनोस

Nitesh Verma

अंतराष्ट्रीय बाल मजदूरी निषेध दिवस मनाया गया

Nitesh Verma

माँ भवानी दुर्गा पूजा समिति की वार्षिक बैठक प्रेस क्लब में संपन्न, सर्वसम्मति से रौनक राजपूत अध्यक्ष बनाए गए

Nitesh Verma

Leave a Comment