राँची

इतिहास अतीत का अध्याय ही नहीं बल्कि भविष्य का आईना भी : हसन अंसारी

नितीश_मिश्र

राँची(खबर_आजतक): आजसू के केंद्रीय उपाध्यक्ष एवं झारखंड आंदोलनकारी हसन अंसारी ने शेख भिखारी एवं टिकैत उमराँव सिंह के शहादत दिवस पर ओरमांझी में उनकी प्रतिमा एवं आजसू केंद्रीय कार्यालय में उनके छायाचित्र पर माल्यार्पण कर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि ब्रिटिश हुकूमत के खिलाफ आंदोलन का बिगुल फूँकने वाले महान स्वतंत्रता सेनानी तथा 1857 की क्रांति के महानायक अमर शहीद टिकैत उमरांव सिंह व शेख भिखारी की संघर्ष गाथा प्रदेशवासियों को सदा प्रेरित करती रहेगी। युवा पीढ़ी झारखंड के वीर शहीदों की शहादत से प्रेरणा लेकर एक नए झारखण्ड को गढ़ने का कार्य करे, यही समय की मांग है और राज्य की मौजूदा जरुरत भी।

उन्होंने कहा कि इतिहास अतीत का अध्याय ही नहीं बल्कि भविष्य का आईना भी होता है। इतिहासकारों ने झारखंड के नायकों को इतिहास के पन्नों में वह जगह नहीं दिया, जिसके वे असली हकदार थे। अंग्रेजी शासन और जुल्म, शोषण, दमन के खिलाफ तथा अपनी धरती और अस्मिता की खातिर विद्रोह का चिराग जलाने वाले शहीदों की शौर्य गाथा का इतिहास में आंशिक तौर पर उल्लेख किया गया है। ऐसे में वर्तमान पीढ़ी की जिम्मेदारी और बड़ी हो जाती है। वीर शहीदों के शौर्य एवं बलिदान की गाथा को नई पीढ़ी तक पहुँचाने की तथा इतिहास को फिर से लिखने की जिम्मेदारी।

इस दौरान आजसू पार्टी के केंद्रीय महासचिव राजेन्द्र मेहता, राँची जिलाध्यक्ष संजय महतो, हटिया विधानसभा प्रभारी भरतकांशी साहू, नुरुल होदा, रामधन बेदिया, दिगंबर महतो, सरिता देवी, लक्ष्मी महतो, प्रकाश चौधरी उपस्थित थे।

Related posts

इंडिया इंटरनेशनल मेगा ट्रेड फेयर में उमड़ी खरीदरों की भीड़

Nitesh Verma

केंद्रीय बजट में रखा गया प्रत्येक वर्ग का ध्यान : डॉ आशा लकड़ा

Nitesh Verma

दलित और महिला विरोधी है हेमन्त सोरेन की सरकार : विजय शंकर नायक

Nitesh Verma

Leave a Comment