झारखण्ड राँची

ई एल एल विभाग में स्नातक सत्र 2023-27 की कक्षा हुई प्रारंभ

नितीश_मिश्र

राँची(खबर_आजतक): डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी विश्वविद्यालय के अंग्रेजी भाषा व लेक्चरर विभाग के कोऑर्डिनेटर डॉ विनय भरत ने बताया कि महज 2021 में स्थापित अंग्रेजी भाषा एवं साहित्य विभाग (ईएलएल), डॉ. श्यामा प्रसाद मुख़र्जी विश्वविद्यालय के सुगम इतिहास में एक उभरता हुआ विभाग है जो छात्रों को भाषा एवं साहित्य में भविष्य बनाने के काम में अग्रसर है। इस दौरान गुरुवार को नामांकन प्रक्रिया पूरी होने के बाद सत्र 2023-27 की कक्षा प्रारंभ हो गई।

इस दौरान सितंबर के आखिरी सप्ताह में विधिवत ओरिएंटेशन कार्यक्रम आयोजित की जाएगी ताकि विभाग अपने स्थापना के उद्देश्य को पूरा कर सके। वहीं विभाग कॉर्डिनेटर डॉ विनय भरत ने बताया कि इस विभाग की स्थापना उन छात्रों को मद्देनज़र रखते हुए की गई है, जो विशुद्ध साहित्य के इतर भाषा और साहित्य के फ्यूजन से अपना भविष्य संवारना चाहते हैं।

उन्होंने विभाग में पढ़ने वाले छात्रों के समक्ष अवसर और संभावनाएँ साझा करते हुए बताया कि बदलते वक्त ने रोजगार के नए आयाम को खोला है। यह विषय उन अवसरों तक पहुंचने का मार्ग खोलती है। इस दौरान शिक्षक सौरभ मुखर्जी ने विभिन्न क्षेत्रों का जिक्र किया जहाँ छात्र ऑनर्स के बाद जा सकते हैं। यह विषय प्रतिलेखन, अनुवाद, लिंगुअल एक्सपर्ट, ट्रांसक्राइबिंग, मैनेजमेंट, सिविल सर्विसेज, बैंकिंग, एस एस सी, मल्टीनेशनल बीपीओ आदि के साथ ‐ साथ स्कूल और उच्च शिक्षण के क्षेत्र में पर्याप्त करियर के अवसर प्रदान करता है। इस कोर्स के साथ छात्र किसी भी सरकारी नौकरियों के लिए आवेदन कर सकते हैं और छात्रों की पसंद के अनुसार भाषाविज्ञान या साहित्य में स्नातकोत्तर का चयन कर सकते हैं।

वहीं शिक्षक कर्मा कुमार और श्वेता गौरव ने प्रोग्रेस रिपोर्ट रखते हुए बताया कि विभाग का कुल नामांकन केवल दो वर्षों में 400 है जिसमे कि लड़कियों की संख्या 210 हैं, जो कुल नामांकन का 52.6% है। अब इस सत्र के नामांकन के साथ विभाग की कुल संख्या 650 विद्यार्थियों की हो गयी है। साथ ही विभाग में आदिवासी छात्रों की एक बड़ी संख्या भी शामिल है।

शिक्षिका शुभांगी रोहतगी ने बीते 2 वर्ष की उपलब्धि साझा किया। उन्होंने बताया कि अभी तक विभाग कुल 36 संगोष्ठी और सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित कर चुका है जिसमें डॉ नितिन मदन कुलकर्णी (आईएएस) अंजनी सहाय (आई एफ एस), पद्मश्री प्रो. एच सी वर्मा, पद्मश्री राजेन्द्र सिंह जैसे गणमान्य अतिथि आकर हमारे छात्रों को संबोधित कर चुके हैं।

ईएलएल विभाग का उद्देश्य छात्रों के सर्वांगीण विकास के लिए एक उदात्त शैक्षणिक वातावरण प्रदान करना है।
हमारे पास एक साहित्यिक क्लब, एक थिएटर क्लब और एक संगीत क्लब है जहां छात्र को विभिन्न पाठ्येतर गतिविधियों को मुफ्त में प्रशिक्षित किया जाता है।

इस दौरान शिक्षिका रंजना कुमारी ने समाजिक सरोकार से जुड़ने का भी आह्वान किया। विभाग सैनिटरी पैड के वितरण और विभिन्न पर्यावरणीय ड्राइव जैसे विभिन्न सामाजिक कार्यक्रमों में भी खुद को संलग्न करते हैं। उन्होंने सैम्फोर्ड हॉस्पिटल के साथ रक्तदान शिविर जैसे कार्यक्रमों को साझा किया। हम अपनी भविष्य की परियोजना के रुप में फूड फॉर हंगर कार्यक्रम शुरु करने की कोशिश कर रहे हैं।

इस मौके पर क्लास रिप्रेजेंटेटिव मानसी विश्वास, ग्लैड केरकेट्टा, प्रिया कुमारी और सामिया यास्मीन ने सम्बोधित किया।

Related posts

राज्य के पूर्व सैनिकों के कल्यानार्थ यूनाइटेड फ्रंट झारखण्ड के बैनर तले राज्यपाल महोदय से विस्तृत चर्चा

Nitesh Verma

राज्यपाल द्वारा “विश्वविद्यालय का दृष्टिकोण और रणनीति विकास” विषय पर दो दिवसीय कार्यशाला का आयोजन

Nitesh Verma

ह्यूमन राइट्स के द्वारा जरूरतमंद लोगों के बीच कंबल वितरण किया गया

Nitesh Verma

Leave a Comment