Uncategorized बोकारो

उत्साह व उमंग से भरपूर चिन्मय क्रीडोत्सव सोल्लास संम्पन्न,सभी हाउस के प्रतिभागियों ने अपना दमखम दिया,468 अकों से वायु हाउस रहा विजयी

डिजिटल डेस्क

बोकारो (ख़बर आजतक) : चिन्मय विद्यालय, बोकारो कें क्रीडागंन में वार्षिक खेल समारोह पूरे उत्साह के साथ सम्पन्न हुआ । जिसमें सभी हाउस के खिलाड़ियों ने बढ़-चढ़ कर भाग लिया और इन सभी का उत्साह बढ़ाने के लिए अभिभावकों की भारी भीड़ जमा थी।

वैदिक स्वस्तिवाचन मंत्र के साथ कार्यक्रम की शुरुआत हुई इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि थे विश्वरुप मुखोपाध्याय, (अध्यक्ष, चिन्मय विद्यालय समिति) विशिष्ट सम्मानित अतिथि थे – परमपूज्या स्वामिनी संयुक्तानंद सरस्वती, (आचार्य, चिन्मय मिशन केन्द्र, बोकारो), विद्यालय सचिव महेश त्रिपाठी एवं आर एन मल्लिक (कोषाध्यक्ष), दीप्ति झा ।

सभी अतिथियों सहित उपस्थित जन समूह का स्वागत करते हुए विद्यालय प्राचार्य सुरज शर्मा ने कहा कि इस गुनगुनाती गुलाबी धूप में चिन्मय विद्यालय के क्रीडा क्षेत्र में आप सभी के उत्साहपूर्ण उपस्थिति से संपूर्ण चिन्मय परिवार अभिभूत हैं। आप सभी का सादर अभिनंदन एवं हार्दिक स्वागत। आगे उन्होंने कहा – खेल जीवन ही जीवन का दर्शन है, यह हमें लक्ष्य निर्धारित कर उसे पाने के लिए एकाग्रचित हो हमेशा अभिप्रेरित करता रहता है। हमेशा जीतने की जिजीविषा बनाए रखता है। उन्होंने फीफा वल्र्डकप के निर्णायक मैच का उदाहरण देते हुए कहा कि फ्रांस और अर्जंटाइना के बीच खेला गया यह फुटबाॅल मैच शुरु से अंत तक दिलचस्प रहा और निर्णय पेनाल्टी शुट आउट से हुआ जिसमें अपनी सर्वोत्कृष्ट एकाग्रता के कारण मेसी गोल दागने में सफल रहा और अर्जंटाइना को विजय दिलायी। खेल जीवन को सफलता के सर्वोच्च शिखर पर ले जाता है।

मुख्य अतिथि विश्वरुप मुखोपाध्याय ने कहा कि खेल संकल्प से सिद्धि तक पहुँचने का मार्ग बताता है। आगे उन्होंने कहा कि चिन्मय विद्यालय का मुख्य उद्देश्य बच्चों का समग्र विकास है यह कार्यक्रम सात स्तंभो वाला चिन्मय दृष्टि पर आधारित है, परंतु खेल एक ऐसा खूबसूरत प्लैटफार्म है जिसमें ये सभी सात आयाम समाहित हैं। विद्यालय के कई छात्र खेल में राष्ट्रीय स्तर तक यश अर्जित कर चुके हैं । आने वाले वर्षो में विद्यालय खेल पर और अधिक ध्यान केन्द्रित करेगा। अपना संबोधन समाप्त कर विद्यालय गान के धुन के बीच उन्होंने खेल दिवस का झंडा फहराया तथा कार्यक्रम के शुरुआत की घोषणा की । पूरा कार्यक्रम उद्घाटन से लेकर समापन तक खेल-कूद एवं नृत्य-संगीत से भरा रहा। मनोरंजक कार्यक्रम की प्रस्तुति में नृत्य शिक्षिका रेणु शाह सहित विद्यालय के संगीत-नाटक का सराहनीय योगदान रहा।

चिन्मय वार्षिक खेल-उत्सव दो सत्रों में आयोजित हुआ। जिसके के परिणाम इस प्रकार हैं –

प्रथम सत्र में कक्षा प्री-नर्सरी से छठी तक के छात्र-छात्राओं के लिए 32 प्रतियोगिता का अयोजन किया गया। जिसमें – म्यूजिकल चेयर, हर्डल रेस, ओवर हेड रेस और विभिन्न दौड़ प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया।

स्वर्ण पदक विजेता के नाम इस प्रकार हैं –

प्री-नर्सरी – विशु कुमार, त्रिशा, याशिका, समीर कुमार,

नर्सरी – नियांशी सोरेन, अर्णव राज, इशिक दुबे, जय गुप्ता

प्रेप – शिखा रानी, तेजस आनंद, श्रेयनवी सिंह को स्वर्ण, उत्कर्ष राज महतों

कक्षा-1 आराध्या सिंह, बजरंगी, अनिशा कुमारी, अमिया पांडे

कक्षा-2 सानवी पराशर, आयुष मुर्मू

कक्षा-3 अनन्या हलदर, शयान महतों, अर्णिशा ताना, वेदांत,

कक्षा-4 अंसिका श्री, राधे श्याम, मंयक शेखर

कक्षा-5 – 6 चंद्र शिव, सौम्या जंयत,

द्वितीय सत्र में कक्षा सातवीं से बारहवीं तक के छात्र-छात्राओं के लिए 100 मीटर, 200 मीटर, 400 मीटर, 4 गुणा 100 मीटर, 800 मीटर आदि विभिन्न प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया। प्रतियोगिता के अंत में अभिभावकों एवं शिक्षकों के लिए 100 एवं 200 मीटर दौड़ का आयोजन किया गया जीतने वाले सभी प्रतिभागियों को पदक प्रदान कर सम्मानित किया गया।

कक्षा-7 एवं 8 -आदित्या कुमार महतों को लंबी कुद एवं दौड़ 800 मीटर में स्वर्ण पदक, कृतिका को 100 एवं 400 मीटर में स्वर्ण पदक, इशिता तिवारी लंबी कुद एवं डिसकश में स्वर्ण एवं विद्या वैभव को डिसकश में स्वर्ण, अंकित कुमार पावरिया 100 मीटर

कक्षा-9 एवं 10 -आयुष कुमार सिंह स्वर्ण पदक 800 मीटर, अंकित सारंगी को डिसकश में स्वर्ण, तिशा को डिसकश में स्वर्ण पदक मिला, रिषभ राज को 100 मीटर स्वर्ण।

कक्षा-11 एवं 12 – आनंद किशोर सिंह 100 एवं 800 मीटर में स्वर्ण पदक, श्रेया केषरी को लंबी कुद एवं दौड़ के लिए स्वर्ण पदक 400 मीटर, आयुष कुमार सिंह को स्वर्ण पदक मिला, मेघा को 100 मीटर में स्वर्ण।

अभिाभावक वर्ग में 200 मीटर दौड़ में भाग लेने के लिए एस पी झा एवं एन आर सारंगी को सम्मनित किया गया।

क्रीड़ा उत्सव का संचालन क्रीडा विभाग के विभागाध्यक्ष हरिहर पाडें के नेतृत्व में सफलता पूर्वक हुआ जिसमें संजीव सिंह, प्रांजाल साकिया, देवदीप चक्रवर्ती, रणविजय ओझा, परवीन, नितिश कुमार, ललिता उरांव के साथ-साथ विद्यालय के समस्त शिक्षकेतरगण एवं अभिभावकगण भी उपस्थित थे।

Related posts

गोमिया के झुमरा गाँव मे वज्रपात से 3 जानवरों की मौत

Nitesh Verma

गोमिया : सड़क दुर्घटना में नवजात शिशु सहित तीन घायल

Nitesh Verma

जनशक्ति को जगाने का कार्यक्रम है प्रधानमंत्री का मन की बात : अमित

Nitesh Verma

Leave a Comment