झारखण्ड राँची शिक्षा

एक्सआईएसएस में बैच 2023-25 के नए शैक्षणिक सत्र का शुभारंभ

नितीश_मिश्र

राँची(खबर_आजतक): ज़ेवियर समाज सेवा संस्थान ने गुरुवार को बैच 2023-25 के नए शैक्षणिक सत्र का शुभारंभ संस्थान के फादर माइकल वैन डेन बोगार्ट ऑडिटोरियम में किया। इस शुभारंभ समारोह में एक्सआईएसएस के चार कार्यक्रमों क्रमशः ह्यूमन रिसोर्स मैनेजमेंट (एचआरएम), रूरल मैनेजमैंट (आरएम), फाइनेंशियल मैनेजमेंट (एफएम) और मार्केटिंग मैनेजमेंट (एमएम) के सभी फैकल्टी एवं छात्रों ने भाग लिया।

इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि विनय रंजन, निदेशक (कार्मिक एवं आईआर), कोल इंडिया लिमिटेड, कोलकाता ने छात्रों को संबोधित किया और कहा, “यदि आप विद्वान लोगों के रास्ते पर चलेंगे, तो आपको ज्ञान मिलेगा।” उन्होंने ज्ञान की अंतर्दृष्टि भी साझा की, जहाँ उन्होंने छात्रों से दृढ़ता अपनाने, हमेशा सीखते रहने, एक उद्देश्य के साथ कड़ी मेहनत करने, कभी हताश न होने और एक मेंटर के मार्गदर्शन पर चलने का आग्रह किया। उन्होंने यह भी कहा कि हमारा करियर हमारे हाथ में है और हमें अपने रास्ते में आने वाले सभी अवसरों का सही उपयोग करना चाहिए।

इस कार्यक्रम में पहले, एक्सआईएसएस के सहायक निदेशक डॉ प्रदीप केरकेट्टा एसजे ने उद्घाटन प्रार्थना के साथ कार्यक्रम की शुरुआत की और जेसुइट सोसाइटी के संस्थापक लोयोला के सेंट इग्नेशियस की परिवर्तनकारी यात्रा को संक्षेप में साझा किया जिसके बाद जेसुइट शिक्षा मूल्यों, समाज के गरीब तबकों का साथ देना और अपनी धरती की देखभाल करने पर ज़ोर दिया ।

कार्यक्रम में आगे एक्सआईएसएस के निदेशक डॉ जोसफ मारियानुस कुजूर एसजे ने अपने संबोधन में नए बैच का स्वागत किया और कहा कि “यह छात्रों के जीवन में एक नए अध्याय की एक नई शुरुआत है जहां वे उत्कृष्टता और एक उज्जवल कल की खोज की यात्रा पर निकलते हैं।” उन्होंने अल्बर्ट आइंस्टीन को भी उद्धृत किया और कहा कि “ज्ञान ऊर्जा की तरह एक स्रोत से दूसरे स्रोत की ओर प्रवाहित होता है। इसे न तो बनाया जा सकता है और न ही नष्ट किया जा सकता है।” उन्होंने नैतिक निर्णय लेने के महत्व पर भी जोर दिया। उन्होंने आगे कहा कि एक्सआईएसएस सतत विकास और समावेशी विकास पर ध्यान केंद्रित करता है और नए बैच को अपनी सीमाओं को पार करते हुए अपने करियर को बनाने के लिए प्रोत्साहित किया।

एक्सआईएसएस के डीन एकेडमिक्स डॉ अमर ई. तिग्गा ने कार्यक्रम में सम्मानित अतिथि विनय रंजन का परिचय देते हुए उन्हें एक प्रभावशाली नेता बताया जो अत्यधिक सक्षम कार्यबल का नेतृत्व करते हैं। उन्होंने उनके व्यापक ज्ञान और सार्वजनिक एवं निजी क्षेत्र में 28 साल के व्यापक करियर के बारे में बताया।

इस कार्यक्रम में आगे सलिल लाल, सीएचआरओ, मारुति सुजुकी और एक्सआईएसएस के एक सम्मानित पूर्व छात्र ने मारुती सुजुकी एक्सआईएसएस अवनीश कुमार देव मेमोरियल स्कॉलरशिप बैच 2022-24 के विजेताओं के नाम बताने के दौरान संस्थान में अपनी यात्रा को याद किया और छात्रों को संबोधित करते हुए कहा, “मैं अपनी करियर को आकार देने में अपने संस्थान और अपने संगठन के प्रोत्साहन के लिए आभारी हूँ।” उन्होंने छात्रों को सक्रिय, सक्षम और सच्चा बनने के लिए प्रेरित किया। एचआरएम कार्यक्रम के प्रमुख डॉ श्यामल गोम्स ने धन्यवाद प्रस्ताव प्रस्तुत किया।

मारुती सुजुकी एक्सआईएसएस अवनीश कुमार देव मेमोरियल स्कॉलरशिप

मारुती सुजुकी एक्सआईएसएस अवनीश कुमार देव मेमोरियल स्कॉलरशिप, मारुति-सुजुकी इंडिया लिमिटेड के जीएम प्लांट एचआर, अवनीश देव की स्मृति में गठित की गई है, जो एक्सआईएसएस पीएम और आईआर बैच 1982-84 के पूर्व छात्र थे और 18 जुलाई 2012 को ऑटो प्रमुख के मानेसर प्लांट में श्रमिकों के झड़प के दौरान उनकी जान चली गई।

एक्सआईएसएस ने मारुति सुजुकी इंडिया लिमिटेड के साथ संयुक्त रूप से मारुति सुजुकी एक्सआईएसएस अवनीश कुमार देव मेमोरियल ट्रस्ट की स्थापना की है, और इस छात्रवृत्ति का उद्देश्य एक्सआईएसएस में एचआर विशेषज्ञता वाले छात्रों के बीच प्रतिस्पर्धा और ज्ञान को प्रोत्साहित करना है।

इस उद्घाटन समारोह के दौरान सुपर्णा देव, अवनीश देव की पत्नी एवं सलिल लाल द्वारा मारुती सुजुकी एक्सआईएसएस अवनीश कुमार देव मेमोरियल स्कॉलरशिप बैच 2022-24 के विजेताओं के नाम भी घोषित किए गए।

इस दौरान सिमरन छाबड़ा, जीएसएस अनिला और मुस्कान शर्मा को इस वर्ष के विजेताओं के रुप में एक-एक लाख रुपये के स्कॉलरशिप से सम्मानित किया गया, जो वर्ष 2013 से प्रदान की जा रही है।

Related posts

झारखंड में कई IAS अधिकारियों का तबादला, जाधव विजया नारायण राव बनी बोकारो डीसी

Nitesh Verma

जेसीआई राँची ने की गौ सेवा

Nitesh Verma

झरिया पुनर्वास एवं विकास प्राधिकार (जेआरडीए) एवं बीसीसीएल पदाधिकारियों के साथ उपायुक्त ने की बैठक

Nitesh Verma

Leave a Comment