झारखण्ड धनबाद

एबीवीपी द्वारा प्राचार्य के घेराव के बाद बस सुविधा शुरू

बाघमारा:- बाघमारा प्रखंड में स्थित एकमात्र अंगीभूत महाविद्यालय कतरास कॉलेज में जो सरकारी बस पड़ी रहती थी वह गुरुवार को अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के द्वारा प्राचार्य का घेराव करने पर चल पडी। मामला यह है कि कॉलेज में बस के संचालन हेतु ड्राइवर और खलासी भी है तथा विश्वविद्यालय द्वारा उन्हें तनख्वा भी दी जाती है परंतु उनके द्वारा बस नहीं चलाया जाता था।

इसी मुद्दे को लेकर अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद का एक प्रतिनिधिमंडल छात्रों के साथ बीते शुक्रवार को कतरास कॉलेज पहुंचकर प्राचार्य से मिलकर चर्चा की व बस को चलाने की मांग की थी। एबीवीपी ने चेतावनी दी थी कि यदि जल्द ही रूट चार्ट जारी करके बस को नहीं चलाया गया तो विद्यार्थी परिषद रणनीति बनाकर आंदोलन करने को बाध्य होगा। प्राचार्य बी कुमार ने मामले की गंभीरता को बिना समझे और अपना मनमाना रवैया अपनाते हुए कोई भी कारवाही नहीं की| प्राचार्य की संवेदनहीनता और इस गैरजिम्मेदाराना हरकत से विवश होकर छात्रहित के लिए अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के सैकड़ों कार्यकर्ता ने उनका घेराव किया| अभाविप प्रतिनिधि ने कहा कि यदि प्राचार्य छात्रहित में निर्णय लेने में असमर्थ है तो तत्काल इस्तीफा दें| एबीवीपी ने प्राचार्य पर आरोप लगाया कि वे महाविद्यालय में डिक्टेटरशिप लाने का प्रयास कर रहे हैं| संगठन ने चेतावनी दी कि यदि आज से बस नहीं चलाई गयी तो एबीवीपी अनिश्चितकाल के लिए हड़ताल करेगा| लगभग चार घंटे की मशक्कत के बाद एबीवीपी कार्यकर्ताओं और प्राचार्य के बीच बस चलाने को लेकर सहमति बनी| प्राचार्य ने कहा कि चौबीस घंटे के भीतर बस का रुट-चार्ट व समय-सारणी जारी की जाएगी|

मौके पर प्रांत विश्वविद्यालय सहसंयोजक शिवम रवानी, प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य अक्षय गुप्ता, अभाविप कार्यकर्ता स्वयं स्वर्ण, मीडिया प्रभारी गोपाल केवट, एसएफएस प्रमुख रोहित राज दे, जीवविज्ञान विभाग संयोजक सिंटू मुखर्जी, कार्यकारिणी सदस्य अनिकेत गुप्ता, विक्रम बजरंगी, शुभम पॉल, वरुण चावला, प्रियांशु चौरसिया, शुभम हजारी, आलोक सिन्हा व सैकडों कार्यकर्ता उपस्थित थे।

Related posts

कैंसर तेजी से बढती गम्भीर और जानलेवा स्वास्थ्य समस्याओं में से एक है : डॉ अरबिंद कुमार

Nitesh Verma

मोटे अनाज अपनाकर शारीरिक और मानसिक रूप से स्वस्थ बने: अन्नपूर्णा देवी

Nitesh Verma

कांग्रेस पार्टी सदैव ही महिला सशक्तिकरण और महिला बिल को संसद से पारित किए जाने की पक्षधर रही: स्मिता बेहरा

Nitesh Verma

Leave a Comment