राँची

एसबीयू में एक दिवसीय नेशनल सीएसआर सम्मिट 2023 का किया गया आयोजन

नितीश_मिश्र

राँची(खबर_आजतक) : सरला बिरला विश्वविद्यालय के फैकेल्टी ऑफ कॉमर्स एंड मैनेजमेंट के द्वारा कॉरपोरेट सोशल रिस्पांसिबिलिटी: एथिकल प्रैक्टिसेज टुवर्ड्स रुरल एंड ट्राईबल सस्टेनेबल क्वालिटी एश्योरेंस इन द न्यू सिविल सोसायटी शीर्षक एक दिवसीय नेशनल सीएसआर सम्मिट- 2023 का आयोजन बी के बिरला ऑडिटोरियम में किया गया।

इस सम्मिट का विधिवत शुभारंभ सीसीएल राँची के सीएमडी पी.एम प्रसाद, सेल राँची के एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर संजीव कुमार, आईआईसीएम राँची के एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर डॉ कामाक्षी रमन, मेकॉन कौन राँची के सीजीएम आभा डब्लू विश्वास, नाबार्ड झारखंड के गौतम सिंह, विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो गोपाल पाठक, कुलसचिव प्रो विजय कुमार सिंह , डीन डॉ संदीप कुमार आदि के द्वारा संयुक्त रुप से दीप प्रज्वलन के साथ किया गया।

इस सम्मिट में सीसीएल राँची के सीएमडी पी.एम प्रसाद ने सीएसआर के उद्देश्य एवं क्रियान्वयन के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि सर्वप्रथम ग्रामीण एवं ट्राइबल क्षेत्रों में जागरुकता की आवश्यकता है। सीएसआर के उद्देश्य की प्राप्ति के लिए छात्रों, पदाधिकारियों, ग्रामीणों सहित सभी के व्यक्तिगत सहयोग की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि वर्ष में एक बार कुछ दिनों के सीएसआर एक्टिविटी होने चाहिए। उन्होंने सरला बिरला विश्वविद्यालय के प्रयासों की सराहना करते हुए कहा कि आगे इस दिशा में हम हर संभव सहयोग करेगें।

सेल राँची के एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर संजीव कुमार ने अमीर एवं गरीबों के बीच को खाई को पाटने के लिए सीएसआर के तहत सस्टेनेबल बिजनेस प्रैक्टिसेज पर जोर दिया तथा ग्रामीण एवं ट्राइबल क्षेत्रों में महिला सशक्तिकरण पर जोर दिए जाने की बात कही।

आईआईसीएम राँची के एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर डॉ कामाक्षी रमन ने सामाजिक उत्थान के लिए इन्वेस्टमेंट किए जाने की बात की तथा असफलता से सीख लेने की बात कही। मेकॉन राँची के सीजीएम आभा डब्लू विश्वास ने कहा कि कारपोरेट एवं एकेडमी के बीच सामंजस्य स्थापित किए जाने की आवश्यकता है। उन्होने ग्रामीण एवं ट्राइबल क्षेत्रों में ड्रिंकिंग वॉटर फैसिलिटी, हेल्थ एंड न्यूट्रिशन प्रोग्राम, मोबाइल एंबुलेंस, सैनिटेशन प्रोग्राम, सेल्फ एंप्लॉयमेंट, ट्रेंनिंग प्रोग्राम,सोलर पावर सिस्टम आदि के बारे में सभी को जागरुक किया।

नाबार्ड झारखंड के गौतम सिंह ने नाबार्ड द्वारा संचालित विभिन्न योजनाओं के बारे में जानकारी देते हुए ग्रामीण क्षेत्रों में आर्थिक, सामाजिक समृद्धि के लिए सामाजिक उत्तरदायित्व की विस्तृत जानकारी पीपीटी के माध्यम से प्रस्तुत करते हुए सीएसआर के विभिन्न बिंदुओं पर छात्रों, प्राध्यापकों एवं उपस्थित प्रतिभागियों के समक्ष प्रस्तुत किए।

इस अवसर पर कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे हैं विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर गोपाल पाठक ने फैकल्टी ऑफ कॉमर्स एंड मैनेजमेंट के द्वारा किए जा रहे कार्यों की प्रशंसा करते हुए ग्रामीण एवं ट्राइबल क्षेत्र रुम में सीएसआर के तहत योजनाओं के सफल क्रियान्वयन के सुझाव दिए।

विश्वविद्यालय के मुख्य कार्यकारी पदाधिकारी डॉ प्रदीप कुमार वर्मा ने कार्यक्रम की सफलता के लिए वाणिज्य एवम प्रबन्धन विभाग को शुभकामनाएं दी है।
विश्वविद्यालय के कुलसचिव प्रोफेसर विजय कुमार सिंह ने ऑर्गेनाइजिंग कमिटी के सभी सदस्यों के कार्यों की प्रशंसा की है तथा उन्हें इसी तरह से टीम भावना के साथ कार्य करने की शुभकामना दी है।

इस दौरान अतिथियों द्वारा सीएसआर सम्मिट से संबंधित सोवेनियर का विमोचन भी किया गया। समिति के दूसरे सत्र में टेक्निकल सेशन का आयोजन किया गया जिसमें एनटीपीसी के डीजीएम एचआर मृत्युञ्जय वर्मा, नाबार्ड के असिस्टेंट जनरल मैनेजर पूजा भारती, जेएसएलपीएस राँची के चीफ ऑपरेटिंग ऑफिसर विष्णु चरण पारीडा, अभिव्यक्ति फाउंडेशन राँची के सेक्रेटरी कृष्णा कांत, ग्रामीण सेवा संघ रामगढ़ के सेक्रेटरी विलास साठे, बलेज एंड ब्लिस फाउंडेशन के डायरेक्टर अकरम अंसारी, सेल्को फाऊंडेशन राँची के डायरेक्टर दीपेंद्र कुमार, बॉस स्किल ट्रेनिंग सेंटर राँची के डायरेक्टर विनीत कुमार, वायफ इंस्टिट्यूट ऑफ सस्टेनेबल लाइवलीहुड एंड डेवलपमेंट के प्रोजेक्ट मैनेजर कमलेश मिश्रा, एक्फाई इंवर्सिटी झारखंड के असिस्टेंट डीन डॉ भागवत बारिक, डॉक्टर सुब्रतो कुमार डे, डॉ विजया गांगुली, गीतम यूनिवर्सिटी विशाखापट्टनम के डॉ रंजन पाणिग्रही आदि ने टेक्निकल पेपर प्रस्तुत किए।

टेक्निकल सेशन के कनक्लूडिंग रिमार्क्स सरला बिरला विश्वविद्यालय के वाणिज्य एवं व्यवसाय प्रबंधन विभाग के एसोसिएट प्रोफेसर डॉ गौतम तांती द्वारा प्रस्तुत किया गया।
इस कार्यक्रम में स्वागत अभिभाषण तथा सम्मिट के ब्रीफ वाणिज्य एवं प्रबन्धन विभाग के डीन एवं सम्मिट के कन्वीनर डॉ संदीप कुमार ने मुख्य पहलुओं पर प्रकाश डाला।
इस कार्यक्रम का संचालन वाणिज्य एवं व्यवसाय प्रबंधन विभाग के सहायक प्राध्यापिका डॉ नीतू सिंघी एवं प्रो एल जी हनी सिंह ने किया तथा धन्यवाद ज्ञापन की औपचारिकता डॉ विद्या झा द्वारा पूरी की गई।

इस कार्यक्रम में विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो गोपाल पाठक, कुलसचिव प्रो विजय कुमार सिंह, डॉ संदीप कुमार, डॉ पूजा मिश्र, हरी बाबू शुक्ला , डॉ अशोक कुमार अस्थाना, प्रो राहुल वत्स, डॉ आरोही आनंद, डॉ राशि मालपानी, डॉ भारद्वाज शुक्ल, डॉ मेघना घोष, डॉ प्रियंका पाण्डेय, डॉ विदुषी शर्मा, प्रो अमित गुप्ता, अनुभव अंकित आदि उपस्थित थे।

Related posts

अखिल भारतीय शिक्षा समागम में शामिल हुए आरयू कुलपति डॉ अजीत कुमार सिन्हा

Nitesh Verma

हिन्दू जागरण मंच झारखण्ड प्रांत के कार्यसमिति सदस्य सुजीत सिंह ने दिया इस्तीफा

Nitesh Verma

राज्य के 9 आईएएस का हुआ तबादला, 7 जिलों के बदले गए डीएम

Nitesh Verma

Leave a Comment