कसमार झारखण्ड बोकारो

कसमार को सुखाड़ क्षेत्र घोषित करे राज्य सरकार : किसान सभा

मांगे पुरी नहीं होने पर 26 सितंबर को करेंगे जन प्रदर्शन

रिपोर्ट : रंजन वर्मा

कसमार (ख़बर आजतक): अखिल भारतीय किसान सभा कसमार अंचल कमेटी की बैठक मंगलवार को कॉ जटाधारी सिंह की अध्यक्षता में हुई। बैठक को संबोधित करते बोकारो जिला किसान सभा के अध्यक्ष कॉ शकुर अंसारी ने कहा कि केंद्र सरकार ने तीन काले कृषि कानूनों को वापस लेते समय एमएसपी लागू करने, आंदोलन के दौरान हजारों किसानों पर हुए झूठे मुकदमे वापस लेने, एक वर्ष तक चले आंदोलन के दौरान शहीद हुए 750 किसानों के आश्रितों को मुआवजा देने की बात कबूली थी। लेकिन एक भी वादे पूरे नहीं हुए। ग्रामीण रोजगार का एकमात्र जरीया मनरेगा को बंद करने की साज़िश की जा रही है। मोदी सरकार प्रत्येक वर्ष मनरेगा की राशि में कटौती करते जा रही है। झारखंड में लगातार सुखाड़ की स्थिति से किसान परेशान हैं। सुखाड़ राहत योजना के एक वर्ष बाद भी किसानों को लाभ नहीं मिला। इस वर्ष मात्र लगभग 25-30% ही रोपा हो पाया है रोपा हुआ फसल भी बारिश केआभाव में मरने के कगार पर है। बैठक में सर्वसम्मति से कसमार प्रखंड को सुखाड़ क्षेत्र घोषित कर अविलंब राहत कार्य शुरू करने व मनरेगा के कार्यों में तेजी लाने की मांग की गई। उमाशंकर महाराज, मुमताज अंसारी, शरीफ अंसारी, सहबान अंसारी , सगीर अंसारी, जमाल रज़ा, सलीम अंसारी, लालमोहन सिंह, एनुल अंसारी, अरूण महतो, दासू लहेरी, केदारनाथ महतो, इरफान अहमद आदि मौजूद थे।

Related posts

चिरकुंडा नेहरू रोड में लोयला स्कूल के समीप बही विकास की गंगा

Nitesh Verma

बोकारो : वेदांता ईएसएल मे हुए मजदूर की मौत प्राकृतिक है, मामले की जाँच की जा रही : वेदांता प्रबंधन

Nitesh Verma

सूरज जैसा बनना है तो सूरज जैसा जलना होगा : डॉ ब्रजेश

Nitesh Verma

Leave a Comment