झारखण्ड राँची

गहलोत सरकार का महिला युवा विरोधी चरित्र आमजनों से नहीं है छिपा: डॉ याज्ञवल्क्य शुक्ल

नितीश_मिश्र

राँची/राजस्थान(खबर_आजतक): अभावी की करौली से 3 अगस्त को निकली न्याय पदयात्रा गंगापुर लालसोट बस्सी से होते हुए गुरुवार को जयपुर पहुँची जयपुर में न्याय यात्री ‘घाट की घुणी’ में विश्राम करेंगे जिसके बाद यह यात्रा गुरुवार को राजस्थान विश्वविद्यालय पहुँचेगी जहाँ हजारों की संख्या में छात्र ‘न्याय हुँकार रैली’ में शामिल होंगे। इस ‘न्याय हुँकार रैली’ में अभाविप के राष्ट्रीय महामंत्री डॉ याज्ञवल्क्य शुक्ल, राष्ट्रीय मंत्री हुश्यार मीणा सहित अन्य युवा शक्ति शामिल होंगी।

3 अगस्त को शुरू हुई अभाविप की न्याय पदयात्रा राजस्थान में व्याप्त भ्रष्टाचार पेपर लीक महिला के प्रति बढ़ते अपराधों के विरुद्ध निकाली गई है। इस यात्रा ने करौली से जयपुर तक 181 किलोमीटर की लंबी दूरी आज शाम तक तय की है। राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो के अनुसार दुष्कर्म के सर्वाधिक मामले राजस्थान से आते हैं। महिला संबंधी अपराधों की संख्या प्रतिवर्ष बढ़ रही है। राजस्थान में युवाओं का एक बड़ा तबका बेरोजगारी की मार झेल रहा है। ‘न्याय पदयात्रा’ आम जनों से संवाद और जन जागरण करते आगे बढ़ रही है, जिसे बड़ी संख्या में ग्रामीण क्षेत्र की महिलाओं समेत समाज के प्रत्येक वर्ग का समर्थन प्राप्त हुआ है।

अभाविप राष्ट्रीय महामंत्री डॉ याज्ञवल्क्य शुक्ला ने कहा कि “राजस्थान की गहलोत सरकार का महिला युवा विरोधी चरित्र जनता से छुपा नहीं है। विकास के नाम पर सरकार के लोग अपनी निजी संपत्ति को बढ़ा रहे हैं। प्रदेश में हर कोने से दुष्कर्म की दुखद घटनाएं प्रतिदिन सामने आ रही हैं और मामलों में आरोपी प्रदेश सरकार का संरक्षण प्राप्त लोग निकले। अभावी की “न्याय हुँकार रैली” राजस्थान सरकार की विफलताओं का पोल खोलने वाली होगी।

अभाविप के राष्ट्रीय मंत्री हुश्यार मीणा ने कहा कि ” प्रदेश सरकार सत्ता के नशे में चूर है। प्रदेश की मूलभूत सुविधाओं की कमी है, सरकार नई समस्याओं को बढ़ावा दे रही है। दुष्कर्म जैसे अमानवीय अपराधों की प्रदेश में बढ़ रही संख्या प्रदेश सरकार की विफलताओं की देन है। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की न्याय यात्रा ने सरकार की नींदे उड़ा दी है, यदि छात्रों ‐ युवाओं महिलाओं की समस्याओं के निवारण हेतू कोई ठोस कदम गहलोत सरकार द्वारा नहीं लिए गए तो युवा व छात्र सरकार को कड़ा जवाब देंगे।

Related posts

स्माइल फाउंडेशन और DIT ने प्रतिभाशाली वि‌द्यार्थियों को किया सम्मानित

Nitesh Verma

ED: झारखंड के सीएम सोरेन के पूर्व प्रधान सचिव ईडी के सामने हुए पेश, मनी लॉन्ड्रिंग से जुड़ा है मामला

Nitesh Verma

राँची : इक्फ़ाई विश्वविद्यालय झारखंड ने मनाया गया संस्थापक दिवस

Nitesh Verma

Leave a Comment