झारखण्ड बोकारो

चिन्मय मिशन चास द्वारा दो दिवसीय गीता गायन प्रतियोगिता का सफल आयोजन

बोकारो (ख़बर आजतक): भोजपुर कॉलोनी स्थित चिन्मय मिशन, चास के  बोकारो द्वारा दो दिवसीय गीता गायन प्रतियोगिता का सफल आयोजन किया गया। चिन्मय मिशन चास के स्वयंसेवक द्वारा टेलगाडिया, चंदनकियारी, जैनामोड़, बहादुरपुर, इत्यादि में जाकर बिभिन्न विद्यालयों के हजारों विद्यार्थियों  को गीता गायन के लिए प्रशिक्षण दिया गया विद्यालय स्तर पर लगभग 2100 विद्यार्थियों ने भाग लिया। इसमें से योग्यता के आधार पर 361 विद्यार्थियों को नगर स्तरीय गीता गायन प्रतियोगिता के लिए चुना गया ।आवासीय आचार्य स्वामी राघवानंद  सरस्वती के मार्गदर्शन में नगर अस्तरीय  यानी सिटी लेवल गीता चैटिंग प्रतियोगिता का सफल आयोजन किया गया।  सभी बच्चों को चार विभिन्न रूपों में विभाजित किया गया था। आठ अनुभवी निर्णायकों विनय कुमार पांडेय, शशिकांत पांडेय, तिलोत्मा कोचगवे , रोली प्रियदर्शी, गोपाल कृष्णा दुबे,मनोज तिवारी, सुबल झा, उदित पांडेय ने योग्यता के आधार पर चारों विभिन्न वर्गों में विजेताओं का चयन किया।  विजेताओं के नाम इस प्रकार हैं –
समूह “ए”
1. श्रेयशी (क्रेसेन्ट प. चास)
2. अर्पित कुमार (क्रेसेन्ट प. चास)
3. शिक्षा ( 3 डी डी स्कूल चास)

समूह “बी”
1. जयंत कुमार(क्रेसेन्ट प. स्कूल चास)
२.आराध्या कश्यप(चिन्मय बाल बिहार)
3.अनुष्का सिंह (बाल बिहार)
समूह “सी”
1.अंश कुमार(एस बी एन प. स्कूल, चास)
2.हर्ष कुमार (सेम्फोर्ड इंटरनेशनल अकैडमी, जैनामोड़)
3.पायल कुमारी(स्काई विज़न प. स्कूल)
समूह “डी”
1.नमन गुप्ता(ए आर एस )
2. अनुष्का कुमार (क्रेसेन्ट प. स्कूल )
3. अमृतांश कुमार(एस बी एन पब्लिक स्कूल)

चारों वर्गों में सात सात सान्त्वना पुरस्कार देकर बच्चों के सकारात्मक प्रयास को सराहा गया ।

इस उत्साह से भरे कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि  ब्रह्मचारिणी प्रतिभा चैतन्य, निरंजन सिंह, नीना नारायण, गोपाल ठाकुर, प्रभात कुमार, जितेंद्र कुमार, विशाल मोहन द्विवेदी  एवम चिन्मय विद्यालय की पूर्व प्राचार्या , राष्ट्रपति पुरस्कार से सम्मानित डॉ हेमलता बिश्वास एवम प्रदीप बिश्वास ने विजयी छात्र-  छात्राओ को प्रशस्ति पत्र एवम ट्रॉफी देकर सम्मानित किया गया। साथ उन विद्यालयों को सम्मानित किया गया जिनकी भागीदारी प्रतियोगिता में सर्वाधिक थी।

सभी विजयी बच्चों को शुभकामनाएं एवं आशीर्वाद देते हुए स्वामी राघवानंद सरस्वती जी ने कहा कि गीता के वचन से, अध्ययन से एवं उसके  नियमों का पालन करने से जीवन जीना अत्यंत सरल हो जाता है। गीता वाचन प्रतियोगिता में बच्चों ने पूरी श्रद्धा के साथ भाग लिया है । इससे बच्चों में अनुशासन के साथ अध्यात्म ज्ञान बढ़ता है और यह बच्चे जीवन के हर क्षेत्र में चाहे वह कितना भी चुनौती भरा क्यों ना हो बड़े ही सफलता से आगे बढ़ते चले जाते हैं और यही बातें उन्हें आम बच्चों से अलग करती है। इसलिए यह जरूरी है कि हमें बचपन से ही अपने बच्चों में गीता के ज्ञान के प्रति जागरूकता बढ़ाना चाहिए।

कार्यक्रम को सफल बनाने में आवासीय आचार्य स्वामी  राघवानंद सरस्वती के नेतृत्व में  सचिव बृज भूषण त्रिपाठी, संदीप तिवारी,पंकज मिश्रा, देवेश त्रिपाठी,संयोजक राजू पांडेय, बिनोद कुमार, पंकज सिंहा, अशोक कुमार झा, नरेंद्र कुमार राय ने अहम भूमिका निभाई।

Related posts

स्व. बिंदेश्वरी दूबे की जयंती पर यूथ इंटक के प्रदेश अध्यक्ष रवि चौबे व उनकी टीम ने बांटे 500 कम्बल

Nitesh Verma

झारखंडियों के दुःख-दर्द को समझने वाले नेता थे प्रवीण उराँव : सुदेश महतो

Nitesh Verma

भाजपा अनुसूचित जाति मोर्चा का कार्यकर्ता मिलन सह सदस्यता ग्रहण समारोह चटकपुर नामकुम में

Nitesh Verma

Leave a Comment