झारखण्ड पलामू

छत्तरपुर के चाणक्या एकेडमी सेंटर में हुआ करियर काउंसलिंग सह….

अँग्रेजी को और मजबूत करने के साथ पर्सनालिटी डेवेलपमेंट पर भी फोकस करें:अरविंद

रिपोर्ट:- अरविंद अग्रवाल

छत्तरपुर (ख़बर आजतक) : छत्तरपुर प्रखण्ड अंतर्गत चाणक्या एकेडमी सेंटर में शुक्रवार को छात्र -छात्राओं के बीच करियर काउंसलिंग किया गया। जिसको लेकर 10वीं और 12वीं कक्षा के छात्र- छात्रों का विदाई समारोह का भी आयोजन किया गया है। इस आयोजन का शुभारंभ मुख्य अतिथि युवा समाजसेवी अरविंद गुप्ता चुनमुन उपस्थित हुए। वहीं संस्था के निदेशक सह शिक्षक गगन कुमार,वरीय शिक्षक कमलेश प्रजापति, अजय कुमार,चितरंजन कुमार,बसंत कुमार,चंदन कुमार ने छात्राओं के बीच संयुक्त रूप से मां सरस्वती के चित्र पर दीप प्रज्वलित कर एवं पुष्प अर्पित कर किया।

श्री अरविंद ने करियर काउंसलिंग का मुख्य उद्देश्य को बताते हुए कहा कि छात्र- छात्राओं का कुशल मार्गदर्शन करना है साथ ही स्मरण शक्ति एवं तार्किक क्षमता एवं सही तरीके से अध्ययन करना ही परीक्षा में अच्छे अंक प्राप्त करने का एकमात्र साधन है। साथ ही उन्होंने कहा एक विद्यार्थी का सबसे बड़ा धर्म अपने लक्ष्य की प्राप्ति की ओर निरंतर आगे बढ़ाना है उन्होंने कहा बाधाएं तो जीवन के हर क्षण में आती है पर उसे हम कैसे आसानी से दूर करें यह हमारे क्षमता पर निर्भर करता है अगर हमारी सोच सही दिशा में रहेगी तो हम किसी भी बड़ी समस्या का हल आसानी से निकाल सकते हैं। उन्होंने छात्रों का मार्गदर्शन करते हुए कहा कि छात्र अपनी कमजोरियों को अपनी शक्ति बनाएं, और पढ़ाई में अव्वल रहने के साथ साथ वे अपनी अँग्रेजी को और मजबूत करने के साथ पर्सनालिटी डेवेलपमेंट पर भी फोकस करें। तभी उनका भविष्य स्वर्णिम हो पायेगा, उन्होंने कहा कि ‘कोई भी मुश्किल बड़ा नहीं, हारा वही जो अड़ा नहीं’ वहीं संस्था के निदेशक गगन कुमार ने बच्चों को उनके उज्ज्वल भविष्य की शुभकामनाएं देते हुए अच्छे से पढ़ाई करने का उन्हें टिप्स दिया। छात्र-छात्राओं के बीच अपने विचार रखते हुए बड़े ही सरल तरीके से कम समय में हल करने के कई तरीके बताएं
साथ ही उन्होंने विद्यार्थियों को समय का सदुपयोग एवं समय पर अपना काम करते हुए अपने लक्ष्य प्राप्ति हेतु कई मार्गदर्शन भी दिए श्री अरविंद ने अपने विचार में मोबाइल को आज के युग के बच्चों के परीक्षा में असफल होने का मुख्य कारण बताया,उन्होंने कहा की आप मोबाइल का प्रयोग करें किंतु सही कार्यों के लिए करें ना कि मोबाइल में बेकार की बातों को पढ़कर व देखकर अपने समय को नष्ट करें। उन्होंने बच्चों के बीच महात्मा गांधी के द्वारा बोले गए एक लाइन को दोहराते हुए कहा “तन हमारा रथ है मन हमारा सारथी कथनी को करनी में बदलें ताकि दुनिया करे तुम्हारी आरती”अर्थात हमारा शरीर एक रथ की तरह है और उसको कंट्रोल करने वाला हमारा मन उसका सारथी है। कार्यक्रम में हनी कुमारी, अंजलि कुमारी, कुमकुम कुमारी, सोनाल गुप्ता,नेहा गुप्ता, प्रियंका कुमारी,चंदा कुमारी, एमपी कुमारी,पुष्पा कुमारी, ओम कुमार,शशांक शिवम,आनंद कुमार सहित दर्जनों छात्र छात्राओं को करियर काउंसलिंग प्रक्रिया से विदाई दी गई।

Related posts

पूर्व प्रधानमंत्री स्व राजीव गाँधी की जयंती पर युवा कॉंग्रेस द्वारा संगोष्ठी का आयोजन

Nitesh Verma

बोकारो:डीएवी सेक्टर 6 की कुमारी आकांक्षा को कराटे चैंपियनशिप में मिला प्रथम स्थान…

Nitesh Verma

झारखण्ड में मानसून की दस्तक, लोगो को उमस भरी गर्मी से मिली राहत…

Nitesh Verma

Leave a Comment