टेक्नोलॉजी मनोरंजन

जानकारी : खाने की थाली में तीन रोटियां क्यों नहीं परोसते, क्या आप जानते हैं इसके पीछे का रहस्य…

डिजिटल डेस्क

ख़बर आजतक : किेसी के भी खाने की थाली में एकसाथ तीन रोटियां नहीं परोसना चाहिए. इसके धार्मिक और वैज्ञानिक कारण हैं., क्या आप जानते हैं इसके पीछे का रहस्य
आमतौर पर थाली में एक बार में 1 या 2 रोटी परोसी जाती हैं. एक साथ 3 रोटी परोसना अच्‍छा नहीं माना जाता है, जिसके पीछे अहम धार्मिक और वैज्ञानिक कारण हैं


धर्म-शास्‍त्रों में रोटी बनाने, रोटी परोसने के तरीके और रोटी के उपाय-टोटके भी बताए गए हैं. रोटी से जुड़े कुछ नियम भारतीय परंपरा के हिस्‍से बन चुके हैं.
एकसाथ थाली या प्‍लेट में 3 रोटी न परोसना. बड़े-बुजुर्ग एकसाथ 3 रोटी परोसने से मना करते हैं, जिसके पीछे कुछ खास वजह हैं.एक साथ तीन रोटियां नहीं परोसनी चाहिए. ये धर्म, ज्‍योतिष और विज्ञान से जुड़ा हुआ है, जिसमें भोजन जैसी अहम चीज में 3 अंक का उपयोग सही नहीं माना जाता है. लिहाजा थाली में एकसाथ एक बार में 3 रोटी परोसना अशुभ होता है.
किसी व्‍यक्ति की मृत्‍यु होने पर जब तेरहवीं के दिन उसके नाम की थाली लगाई जाती है तो उसमें 3 रोटी या 3 पूरी रखी जाती हैं. इस तरह 3 रोटी वाली थाली मृतक की थाली कहलाती है. इसलिए कभी भी आम दिनों में थाली में 3 रोटी नहीं परोसनी चाहिए.
थाली में 3 रोटी परोसने से भोजन करने वाले के मन में लड़ाई-झगड़े के भाव आते हैं. इसलिए विवादों से बचने और मन में नकारात्‍मक भावों से बचने के लिए एकसाथ थाली में 3 रोटी नहीं परोसनी चाहिए.
वैज्ञानिक नजरिए से देखें तो व्‍यक्ति को एक बार में ज्‍यादा भोजन नहीं करना चाहिए. डॉक्‍टर और सेहत विशेषज्ञ कहते हैं कि कम भोजन करना चाहिए. दिन में 3 से 4 बार थोड़ा-थोड़ा भोजन करना चाहिए.

Related posts

13 जनवरी से होगा 20वां इस्पातांचल स्वदेशी मेला का आयोजन

Nitesh Verma

विवेक अग्निहोत्री को मिली Y कैटेगरी की सिक्योरिटी पर भड़के लोग, तो निर्देशक ने कही ये बात

Nitesh Verma

वाइल्ड वादी वाटर पार्क एडवेंचर से रोमांचित हुए श्री अग्रसेन स्कूल के बच्चे

Nitesh Verma

Leave a Comment