झारखण्ड बोकारो

जिले में राष्ट्रीय लोक अदालत का हुआ आयोजन

राष्ट्रीय लोक अदालत में कुल 1,59,222 वादों को निष्पादन हेतु रखा गया, जिसमें से कुल 1,52,313 वादों का निष्पादन हुआ

बोकारो (ख़बर आजतक) : राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकार नई दिल्ली तथा झारखण्ड राज्य विधिक सेवा प्राधिकार, राँची के निर्देशानुसार एवं प्रधान जिला एवं सत्र न्यायाधीश सह अध्यक्ष, जिला विधिक सेवा प्राधिकार, बोकारो संतोष कुमार की अध्यक्षता में बीते दिन को न्याय सदन बोकारो में राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन किया गया। इस राष्ट्रीय लोक अदालत का उद्घाटन प्रधान जिला एवं सत्र न्यायाधीश सह अध्यक्ष, जिला विधिक सेवा प्राधिकार, बोकारो संतोष कुमार के द्वारा न्याय सदन बोकारो में उपायुक्त सह उपाध्यक्ष, जिला विधिक सेवा प्राधिकार बोकारो कुलदीप चौधरी, पुलिस अधीक्षक-सह-सदस्य, जिला विधिक सेवा प्राधिकार बोकारो प्रियदर्शी आलोक, प्रधान न्यायाधीश, कुटुम्ब न्यायालय आलोक कुमार दुबे, पीठासीन पदाधिकारी, श्रम न्यायालय अनुज कुमार, रजनीश कुमार डी०एफ०ओ०, ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्जवलन कर किया।
इस अवसर पर प्रधान न्यायाधीश, कुटुम्ब न्यायालय आलोक कुमार दुबे, पीठासीन पदाधिकारी, श्रम न्यायालय अनुज कुमार, जिला एवं अपर सत्र न्यायाधीश प्रथम बोकारो पवन कुमार, जिला एवं अपर सत्र न्यायाधीश तृतीय बोकारो राजीव रंजन, जिला एवं अपर सत्र न्यायाधीश चतुर्थ बोकारो योगेश कुमार सिंह, मुख्य न्यायिक दण्डाधिकारी बोकारो दिव्या मिश्रा, अपर मुख्य न्यायिक दण्डाधिकारी बोकारो लुसी सोसेन तिग्गा, सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकार बोकारो नीमा रंजना लकड़ा, अन्य न्यायिक पदाधिकारीगण, एंव अधिवक्तागण, सरकारी विभागों, बैंक एवं बीमा कंपनी के अधिकारीगण कर्मचारीगण, मीडिया कर्मीगण, पी०एल०वी० गण, एवं बड़ी संख्या में मुकदमों के पक्षकार, लाभुक उपस्थित हुए। राष्ट्रीय लोक अदालत में कुल 1,59,222 वादों को निष्पादन हेतु रखा गया, जिसमें से कुल 1,52,313 वादों का निष्पादन हुआ
प्रधान जिला एवं सत्र न्यायाधीश सह अध्यक्ष, जिला विधिक सेवा प्राधिकार, बोकारो संतोष कुमार, ने राष्ट्रीय लोक अदालत की उपयोगिता पर प्रकाश डालते हुए बताया कि आज सर्वोच्च न्यायालय से लेकर तालुका स्तर पर राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन किया जा रहा है जहाँ पर सरल एवं सुलह तरीके से वादों का निस्तारण किया जा रहा है। उन्होने यह भी बताया कि लोक अदालत में दोनों पक्षो के सहमति से वादों निष्पादित होता है अतः उनके बीच कोई भी मन मुटाव नहीं रहता है इसमें दोनो पक्षो की जीत होती है।वादों के निष्पादन हेतु व्यवहार न्यायालय बोकारो में पन्द्रह (15) एवं अनुमंडल न्यायालय तेनुघाट में दस (10) बेचो का गठन किया गया।
इस राष्ट्रीय लोक अदालत में कुल 1,59,222 वादों को निष्पादन हेतु रखा गया, जिसमें से कुल 1,52,313 वादों का निष्पादन हुआ जिसमें कुल समझौता राशि 1,64,58,64,870 हुई।
उक्त आशय की जानकारी जिला विधिक सेवा प्राधिकार बोकारो के सचिव नीमा रंजना लकड़ा ने दी ।

Related posts

लीला जानकी पब्लिक स्कूल के तीन छात्रों ने अपनी प्रतिभा से विद्यालय के साथ साथ पूरे क्षेत्र का सर ऊँचा किया…

Nitesh Verma

झारखंड में “द केरला स्टोरी” को टैक्स फ्री करने को लेकर सांसद ने मुख्यमंत्री को लिखा पत्र, कहा ‐ तथ्यों के आधार पर बनी है यह फिल्म, जन जन जागरुकता में काम आएगी

Nitesh Verma

ट्राइबल लीडरशिप कार्यक्रम में राज्य के कुल 21 लोगों ने शामिल होकर किया राज्य का प्रतिनिधित्व

Nitesh Verma

Leave a Comment