Uncategorized

ट्रेड लाइसेंस व होल्डिंग पर कार्यशाला का आयोजन, बोले अधिकारीगण ‐ “राँची में आईटी पोर्टल हो रहा अपग्रेड, दो – तीन माह में तकनीकी रूप से जुड़ी समस्याएँ हो जाएँगी दूर”

नितीश_मिश्र

राँची(खबर_आजतक): ट्रेड लाइसेंस रिन्यूअल के दौरान होनेवाली कठिनाइओं के समाधान हेतु बुधवार को चैंबर भवन में राज्य शहरी विकास एजेंसी (सूडा) के द्वारा कार्यशाला का आयोजन किया गया। इस मौके पर राँची नगर निगम के सहायक नगर आयुक्त मुकेश कुमार भी उपस्थित थे। सूडा की ओर से पंकज गोयल ने कहा कि वित्तिय वर्ष 2022-23 से प्रॉपर्टी टैक्स का मूल्यांकन सर्किल रेट के आधार पर किया जा रहा है। झारखण्ड ही एकमात्र ऐसा राज्य है जहाँ प्रॉपर्टी टैक्स का ऑनलाइन भुगतान करने पर नागरिकों को रिबेट दिया जाता है। इस वर्ष से सीनियर सिटीजन, महिला और दिव्यांग को 5 फीसदी अतिरिक्त रिबेट के साथ ही जून से पूर्व भुगतान करने पर 5 फीसदी अतिरिक्त रिबेट दिया जायेगा। इस दौरान उन्होंने होल्डिंग नंबर लेने की आसान प्रक्रिया से भी सदस्यों को अवगत कराया।

सदस्यों ने होल्डिंग से जुड़ी समस्याओं से भी अवगत कराया। अधिकारियों ने कहा कि राँची में आईटी पोर्टल अपग्रेड हो रहा है, दो-तीन माह में तकनीकी रूप से जुड़ी समस्याएं दूर हो जाएगी। सदस्यों ने इस दौरान रेन वाटर हार्वेस्टिंग से जुडी भ्रांतियों से भी अधिकारियों को अवगत कराया जिसपर आश्वस्त किया गया कि निगम के पोर्टल पर इससे जुडी वीडियो और एजेंसी के अधिकारियों को संपर्क नंबर अपलोड कर दिए जाएँगे।

इस दौरान ट्रेड लाइसेंस रिन्यूअल के दौरान व्यापारियों के समक्ष होनेवाली कठिनाई से चैंबर अध्यक्ष किशोर मंत्री ने अधिकारियों को अवगत कराया। यह कहा कि दस्तावेजों की कमी के कारण लाइसेंस बनाने और रिन्यूअल में हो रही कठिनाईयों का समाधान जरूरी है। लाइसेंस रिन्यूअल के दौरान होल्डिंग की माँग करने से रेंट की दुकान पर व्यापार कर रहे व्यापारियों को कठिनाई होती है, जिसका समाधान जरूरी है।

वहीं महासचिव परेश गट्टानी ने कहा कि होल्डिंग की अपडेट रसीद की कमी के कारण लाइसेंस रिन्यूअल नहीं करना अनुचित है। उचित होगा कि जीएसटी रजिस्ट्रेशन अथवा बिजली बिल की कॉपी के आधार पर वर्षों से किसी एक जगह पर व्यापार कर रहे व्यापारी के लाइसेंस का रिन्यूअल कर दिया जाय, जिस पर अधिकारियों ने विचार के लिए आश्वस्त करते हुए कहा कि यह रूल से जुडा मामला है और इसमें समय लगेगा। उन्होंने यह भी कहा कि हम केस टू केस मामलों की समीक्षा करेंगे।

अधिकारियों ने यह भी कहा कि पहली बार ट्रेड लाइसेंस बनानेवालों के लिए होल्डिंग टैक्स की कॉपी अनिवार्य नहीं है। पहली बार ट्रेड लाइसेंस लेनेवाले व्यापारियों को सिर्फ रेंट एग्रीमेंट या बिजली बिल की कॉपी देना है। इस दस्तावेज के आधार पर व्यापारी एकसाथ 10 वर्ष का ट्रेड लाइसेंस ले सकते हैं। होल्डिंग की अपडेट रसीद केवल लाइसेंस रिन्यूअल के दौरान ही देनी है।

चैंबर सह सचिव अमित शर्मा और शैलेश अग्रवाल ने ट्रेड लाइसेंस रिन्यूअल से जुड़ी व्यापारियों की ओर से प्राप्त समस्याओं से भी अधिकारियों को अवगत कराया।

चर्चाओं के दौरान यह भी सहमति बनाई गई कि जनवरी माह में सूडा, चैंबर और नगर निगम द्वारा संयुक्त रूप से कैंप का आयोजन कर लाइसेंस रिन्यूअल किया जाएगा। बाजार टांड स्थित दुकानों के किराया से जुड़े विवाद के समाधान हेतु किराया समाधान योजना लाने के चैंबर अध्यक्ष के आग्रह पर राँची नगर निगम के सहायक नगर आयुक्त मुकेश कुमार ने विचार के लिए आश्वस्त किया। कोषाध्यक्ष ज्योति कुमारी के धन्यवाद ज्ञापन से कार्यशाला समाप्ति की घोषणा की गई।

इस मौके पर सूडा के अधिकारी नीसार मिन्हाज के अलावा चैंबर के महासचिव परेश गट्टानी, सह सचिव अमित शर्मा, शैलेश अग्रवाल, कोषाध्यक्ष ज्योति कुमारी, कार्यकारिणी सदस्य साहित्य पवन, संजय अखौरी, नवजोत अलंग, सदस्य प्रमोद चौधरी, आनंद जालान, विकास झाझरिया, शशांक भारद्वाज, एससी जैन, महेंद्र जैन, माला कुजूर, संतोष अग्रवाल, किशन अग्रवाल, संजय बुधिया, अंकिता वर्मा, संजय सिंह, कुलदीप सिंह, हर्ष ठक्कर, शालिनी कुमारी, दिलीप शर्मा, विक्रम तिवारी, दिनेष गुप्ता, सिद्धार्थ जयसवाल, अरूण जोशी, विवेक सहाय, मनीष अग्रवाल उपस्थित थे।

Related posts

सेक्टर 4 मजदूर मैदान मे अक्षरधाम मंदिर प्रारूप पंडाल मे विराजमान होंगे 16 फिट के गणपति बाप्पा

Nitesh Verma

18 आईपीएस का हुआ तबादला, चंदन सिन्हा बनाए गए राँची एसएसपी

Nitesh Verma

राज्यपाल से चार अलग-अलग विश्वविद्यालयों के कुलपतियों ने किया शिष्टाचार मुलाकात

Nitesh Verma

Leave a Comment