बोकारो

डीपीएस बोकारो के तीन विद्यार्थी इंस्पायर अवार्ड के लिए पुनः चयनित…

बोकारो (ख़बर आजतक) : दिल्ली पब्लिक स्कूल (डीपीएस), बोकारो के विद्यार्थियों ने एक बार फिर अपनी कुशल वैज्ञानिक प्रतिभा का परिचय देते हुए राष्ट्रीय स्तर पर ख्याति प्राप्त की है। स्कूली छात्र-छात्राओं में रचनात्मकता और वैज्ञानिक नवोन्मेषता (नवीन सोच) को बढ़ावा देने के लिए विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग, भारत सरकार द्वारा संचालित इंस्पायर अवार्ड मानक योजना में इस वर्ष भी डीपीएस बोकारो के तीन विद्यार्थी चयनित किए गए हैं। इंस्पायर अवार्ड स्कीम 2022-23 में 10वीं कक्षा के छात्र रूपेश कुमार, नौवीं की छात्रा अंजलि शर्मा और कक्षा 6 की आयुषी शर्मा ने अपनी पैठ बनाने में सफलता हासिल की है। विदित हो कि अंजलि शर्मा का चयन गत वर्ष भी इस महत्वाकांक्षी योजना में लड़कियों के लिए सुरक्षात्मक घड़ी इजाद करने के लिए किया गया था। खास बात यह है कि इस बार अंजलि के साथ-साथ उसकी छोटी बहन आयुषी शर्मा को भी उनके नवाचारी प्रोजेक्ट के लिए चयनित किया गया है। जबकि, रूपेश कुमार ने हाल ही में नागपुर में आयोजित 108वें इंडियन साइंस कांग्रेस के राष्ट्रीय किशोर वैज्ञानिक सम्मेलन में झारखंड राज्य का प्रतिनिधित्व किया।
इस बार रूपेश को सड़क दुर्घटना रोकने के लिए खास डिवाइस और एप बनाने तथा अंजलि को शारीरिक रूप से अक्षम लोगों के लिए कुर्सी और विभिन्न सुविधाओं से युक्त विशेष बैसाखी तैयार करने की नवोन्मेषी सोच के लिए इंस्पायर अवार्ड हेतु चयनित किया गया है। वहीं, आयुषी को स्कूलों में बायोमीट्रिक प्रणाली आधारित विशेष सैनिटरी पैड बॉक्स बनाने के लिए चुना गया है। इन तीनों ही विद्यार्थियों को भारत सरकार की ओर से अपना मॉडल पूरा करने के लिए 10 हजार रुपए की प्रोत्साहन राशि दी जाएगी।
अपने स्कूल के विद्यार्थियों को पुनः यह सुअवसर मिलने पर प्राचार्य डॉ. ए. एस. गंगवार ने प्रसन्नता व्यक्त की है। मंगलवार को उन्होंने तीनों ही बच्चों को उक्त योजना के आगामी चरणों के लिए अपनी शुभकामनाएं देते हुए पूरे मनोयोग के साथ काम करने और विद्यालय का नाम रोशन करने का संदेश दिया। प्राचार्य डॉ. गंगवार ने कहा कि डीपीएस बोकारो परिवार अपने अनुभवी व दक्ष शिक्षकों की सहायता से विद्यार्थियों के भीतर छिपी प्रतिभा को निखारने का हर अवसर प्रदान करता रहा है। शैक्षणिक नवाचार की दिशा में विद्यालय में लगातार नए-नए आयाम जोड़े जा रहे हैं। बच्चों की उपलब्धियां इन्हीं प्रयासों का परिणाम है। इस अवसर पर विद्यालय के उपप्राचार्य अंजनी भूषण एवं उक्त विद्यार्थियों के गाइड टीचर मो. ओबैदुल्लाह अंसारी भी उपस्थित थे। उल्लेखनीय है कि गत वर्ष की इंस्पायर मानक योजना के तहत विद्यालय के छात्र अभिनीत शरण बुजुर्गों के लिए एंटी शेकिंग स्पून, अंजलि शर्मा गर्ल्स सेफ्टी कॉलिंग वाच और उत्कर्ष राज स्मार्ट बिन बनाने के लिए चयनित किए गए थे।

Related posts

बोकारो : सड़क सुरक्षा सप्ताह के समापन पर सेमिनार का हुआ आयोजन

Nitesh Verma

कसमार : भूमि मुआवजा भुगतान किये बगैर बगदा मे हो रहे सडक निर्माण कार्य को रैयतो ने रोका…

Nitesh Verma

बोकारो : चिन्मय विद्यालय में चिन्मय एलुमिनी संगठन के द्वारा रक्तदान शिविर का आयोजन

Nitesh Verma

Leave a Comment