झारखण्ड बोकारो

डीपीएस बोकारो के वार्षिक क्रीड़ा उत्सव ‘समागम’ में बच्चों ने दिया राष्ट्र की प्रगति का संदेश

बोकारो (ख़बर आजतक) : डीपीएस बोकारो के 34वें वार्षिक क्रीड़ा उत्सव ‘समागम’ का आयोजन गुरुवार को जोशो-खरोश और उत्साहपूर्ण वातावरण में किया गया। समारोह में विद्यालय के सभी छह सदनों के छात्र-छात्राओं ने पूरे उमंग के साथ भाग लिया और विभिन्न स्पर्धाओं में जमकर अपनी प्रतिभा व अपने दमखम का परिचय दिया।

एक मैदान में सैकड़ों प्रतिभाशाली छात्र-छात्राओं का समागम और संगीतबद्ध शैली में क्रीड़ात्मक स्पर्धाओं में उनकी भागीदारी विशेष आकर्षण का केन्द्र रही। ‘प्रगति की ओर’ थीम पर आधारित इस कार्यक्रम में बच्चों ने अपनी प्रस्तुतियों के माध्यम से राष्ट्र की प्रगति का सुंदर संदेश दिया। इस अवसर पर मुख्य अतिथि जिले के उपायुक्त कुलदीप चौधरी व विद्यालय के प्राचार्य डॉ. एएस गंगवार सहित जीजीपीएस सेक्टर-5 के प्राचार्य सौमेन चक्रवर्ती, एमजीएम हायर सेकेंडरी स्कूल के प्राचार्य फादर रेजी सी. वर्गीस, चिन्मय विद्यालय के प्राचार्य सूरज शर्मा, एआरएस पब्लिक स्कूल के निदेशक आरएल यादव, प्राचार्य विश्वजीत पात्रा, जीजीएस चास के प्राचार्य अभिषेक कुमार आदि मुख्य रूप से उपस्थित थे।

उपायुक्त श्री चौधरी ने ध्वजारोहण, मशाल प्रज्जवलन तथा गुब्बारे उड़ाकर उद्घाटन किया। अपने संबोधन में उपायुक्त ने बच्चों की प्रस्तुतियों को सराहा। उन्होंने विद्यार्थियों के समग्र व्यक्तित्व के विकास में शिक्षा के साथ-साथ खेलकूद व सह-पाठ्यक्रम गतिविधियों को आवश्यक बताया। साथ ही, इस दिशा में डीपीएस बोकारो की ओर से विगत लगभग साढ़े तीन दशक से किए जा रहे प्रयासों की सराहना की। उपस्थित अभिभावकों से उन्होंने अपनी इच्छाएं अपने बच्चों पर न थोपने तथा बच्चों की रुचि के अनुसार ही उनकी लक्ष्य-प्राप्ति में सहयोग का आह्वान किया। उपायुक्त श्री चौधरी ने बच्चों को पराजय से घबराने की बजाय उससे सीख लेने का संदेश दिया। कहा कि प्रयास विफल हो सकता है, व्यक्ति नहीं। इसलिए, सदैव सकारात्मक बने रहें। इसके पूर्व, बच्चों ने पौधा भेंटकर और स्वागत गान के साथ अतिथियों का स्वागत किया। अपने संबोधन में प्राचार्य डॉ. गंगवार ने कहा कि खेल अनुशासन, मर्यादा, टीम भावना और आपसी तालमेल सिखाता है। उन्होंने विद्यार्थियों के सर्वांगीण विकास की दिशा में डीपीएस बोकारो की कटिबद्धता भी व्यक्त की।


इस क्रम में बच्चों ने डिजिटल इंडिया, प्रोग्रेसिव इंडिया आदि विषयवस्तुओं पर आधारित मास ड्रिल, फील्ड डिस्प्ले, समूह नृत्य व जुम्बा डांस की मनोहारी प्रस्तुति से 21वीं सदी के भारत की शक्ति को दर्शाया। जबकि, छात्राओं ने नृत्य व कराटे प्रदर्शन से आत्मरक्षा का संदेश दिया। ड्रोन से पुष्प-वर्षा के बीच गंगा, जमुना, रावी, चेनाब, सतलज व झेलम हाउस के विद्यार्थियों की आकर्षक मार्च-पास्ट भी काबिले-तारीफ थी। वहीं, अभिवंचित वर्ग के बच्चों के लिए डीपीएस बोकारो द्वारा संचालित ‘दीपांश शिक्षा केन्द्र’ के बच्चों ने स्वावलंबन को दर्शाता सुंदर नृत्य प्रस्तुत किया। वहीं, विद्यालय में नवस्थापित झारखंड के पहले एरो लैब द्वारा एयर शो का रोमांचकारी नजारा बेहद अनूठा रहा। बच्चों ने रॉकेट्री, एविएशन व एयरोनॉटिक्स का जीवंत प्रदर्शन किया। हेलीकॉप्टर, एयरक्राफ्ट की उड़ान ने लोगों को खूब लुभाया और पूरा विद्यालय परिसर तालियों की गड़गड़ाहट से गूंज उठा। इस अवसर पर अतिथियों ने खेल दिवस के उपलक्ष्य में प्रकाशित विद्यालय की पत्रिका ‘जेनिथ’ का विमोचन भी किया।
विभिन्न खेल स्पर्धाओं में समेकित प्रदर्शन के आधार पर चेनाब हाउस को ओवरआल विजेता का खिताब मिला। जबकि, जमुना सदन द्वितीय व रावी सदन तृतीय स्थान पर रहे। बालक-बालिकाओं के अलग-अलग समूहों में 100 मीटर, 4 गुणा 100 मीटर बैटन रिले रेस, लांग जंप, हाई जंप, डिस्कस थ्रो आदि स्पर्धाओं में बच्चों ने अपने दमखम दिखाए। दीपांश के बच्चों ने भी विभिन्न खेल स्पर्धाओं में भाग लिया। सभी विजेताओं को मेडल व प्रमाणपत्र के साथ पुरस्कृत किया गया। इस दौरान उपस्थित अभिभावकों के लिए स्पेशल म्यूजिकल चेयर रेस का भी आयोजन किया गया तथा शिक्षकों व विद्यालय के कर्मियों ने भी दौड़ लगाई। समापन राष्ट्रगान से हुआ।

Related posts

मणिपुर में हुए घटना के विरोध में आदिवासी छात्र संघ ने मणिपुर के मुख्यमंत्री का किया पुतला दहन

Nitesh Verma

बाहा बोंगा महोत्सव का किया गया आयोजन

Nitesh Verma

कसमार : ग्रामीण युवाओं भी खेल में बना सकता है करियर : बिनोद कुमार महतो

Nitesh Verma

Leave a Comment