राँची

देश का सबसे बड़ा हनुमान मंदिर के रुप में विकसित हो आंजन धाम : आशुतोष द्विवेदी

नितीश_मिश्र

राँची(खबर_आजतक): भाजयुमो (कला एवं खेल प्रकोष्ठ राँची महानगर) एवं सामाजिक संस्था “क्राउंड लायंस” के संयुक्त तत्वावधान में बुधवार को प्रभु श्री राम के परम भक्त हनुमान के जन्मस्थली गुमला आंजन धाम मंदिर में जाकर रात्रि विश्राम के लिए हनुमान भक्तों के लिए सेवा कार्य के तहत मंदिर के मुख्य पुजारी केदार नाथ पांडेय को 11तोशक, 11तकिया, 11 बेडशीट, 11 कंबल दान स्वरुप भेंट किया गया।

ज्ञात हो कि कई दिनों से हनुमान भक्तों को नीचे जमीन में सोने के बाध्य होना पढ़ता था। इसी को मद्देनजर रखते हुए भाजयुमो कला एवं खेल प्रकोष्ठ राँची महानगर एवं क्राउड लायंस के संयुक्त प्रयास से यह सामग्री दान स्वरुप दिया गया। इस अवसर पर भाजयुमो कला एवं खेल प्रकोष्ठ राँची महानगर के संयोजक आशुतोष द्विवेदी, भारतीय जनता पार्टी ओ बी सी मोर्चा के प्रदेश मीडिया प्रभारी राजीव रंजन, सामाजिक संस्था क्राउंड लायंस के अध्यक्ष शुभम चौधरी, सचिव मनप्रीत सिंह छाबड़ा, कोषाध्यक्ष अवंतिका अन्नू, सदस्य निहाल सिंह सोढ़ी सहित अन्य आंजन धाम मंदिर विकास समिति के विभिन्न सदस्यगण उपस्थित थे।

इस अवसर पर भारतीय जनता युवा मोर्चा कला एवं खेल प्रकोष्ठ राँची महानगर के संयोजक आशुतोष द्विवेदी ने कहा कि गुमला के इस एतिहासिक रामभक्त हनुमान के जन्मस्थली “आंजन धाम” में माँ अंजनी के गोद में विराजमान बाल स्वरुप हनुमान साक्षात विराजमान हैं। फिर भी विगत कई वर्षों से ये धरोहर का विकसित नहीं होना दुर्भाग्यपूर्ण हैं। झारखंड सरकार एवं पर्यटन विभाग के जिम्मेदारी बनती है कि इस एतिहासिक धरोहर को विकसित कर देश के मानचित्र पर लाए। भगवान राम भक्त हनुमान की जन्मस्थली में देश का भव्य हनुमान मंदिर का नवनिर्माण हो जिससे यह देश ही नहीं बल्कि विश्व पटल में ये धाम शामिल हो, इसके लिए झारखंड के सभी रामभक्तों को एक बड़े मुहिम की आवश्यकता है।तभी हम इस धरोहर को विकसित और संरक्षित कर पाएँगे।

इस दौरान डॉ वंदना राय, राजू पोद्दार, रजत आनन्द, हरीश कुमार, नवीन कुमार, अमित सहाय, महादेव पांडेय, अंजली सिन्हा, बी के राजमती, अमित कुमार, रवि श्रीवास्तव आदि उपस्थित थे।

Related posts

पुण्यतिथि पर याद किए गए पूर्व मंत्री राजेंद्र प्रसाद सिंह

Nitesh Verma

राँची : इक्फ़ाई विश्वविद्यालय झारखंड ने मनाया गया संस्थापक दिवस

Nitesh Verma

सरना धर्म कोड की माँग को लेकर आदिवासी संगठन का भारत बंद 30 दिसंबर को

Nitesh Verma

Leave a Comment