राँची

दो दिवसीय दक्षिण झारखंड संभाग प्रांतीय खेलकूद प्रतियोगिता का किया गया शुभारंभ

प्रांतीय खेलकूद प्रतियोगिता से बच्चों को कर रहे प्रोत्साहित : रमेश धरणीधरका

नितीश_मिश्र

राँची(खबर_आजतक): वनबंधु परिषद राँची चैप्टर के एकल अभियान के तहत बिरसा मुंडा एथलेटिक्स स्टेडियम खेलगाँव में शनिवार को दो दिवसीय दक्षिण झारखंड संभाग प्रांतीय खेलकूद प्रतियोगिता का शुभारंभ हुआ। इसका शुभारंभ सीसीएल के सीएमडी पीएम प्रसाद ने गुब्बारे उड़ाकर किया। इस मौके पर उन्होंने एकल अभियान के तहत ग्रामीण क्षेत्रों में शिक्षा और खेलकूद को बढावा देने के प्रयास की सराहना की। उन्होंने कहा कि एकल अभियान ग्रामीण क्षेत्र के खिलाडियों को एक मंच देने का प्रयास कर रही है। ग्रामीण बच्चों को मुख्यधारा में लाने की एक बेहतरीन पहल है। झारखंड में सीसीएल आठ जिलों में कार्य कर रहा है। कोशिश होगी कि सीसीएल इन जिलों में से किसी गाँव या आदिवासी क्षेत्रों में खेल को बढावा दें। एकल परिवार और सरकार के साथ मिलकर काम किया जा सकता है। शीघ्र ही इस दिशा में पहल की जाएगी।

वनबंधु परिषद ईस्ट जोन की सचिव रेखा जैन ने अतिथियों का स्वागत करते हुए कहा कि गाँव की प्रतिभा को एक मंच देने का प्रयास है। इन्हें गाँव से निकालकर मुख्यधारा से जोड़ रहे हैं। इन्हें राष्ट्रीय स्तर पर अपनी प्रतिभा दिखाने का मौका मिल रहा है।

वनबंधु परिषद राँची चैप्टर के अध्यक्ष रमेश धरणीधरका ने कहा कि प्रांतीय खेलकूद प्रतियोगिता से बच्चों को प्रोत्साहित कर रहे हैं। इन बच्चों की प्रतिभा को एक मंच देने के लिए ग्रामीण स्तर, अंचल स्तर आदि पर प्रतियोगिता का आयोजन कर इन्हें राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय मंच देंगे। ग्रामीण क्षेत्र से आए बच्चे ओलपिंक में देश के लिए गोल्ड लाए और देश का नाम बढाये।

इस शुभारंभ समारोह में मंच का संचालन प्रदीप जैन ने किया।

इस मौके पर उषा जालान, सतीश तुलस्यान, जयदीप मोदी, मुकेश अग्रवाल, दीपक अग्रवाल, विशेष केडिया, सुमित खेमका, प्रेम अग्रवाल, विवेक भसीन, कपिल भाटिया, सुमित पोद्दार आदि मौजूद थे।

इस प्रतियोगिता में 375 बच्चे भाग ले रहे हैं।
इस प्रतियोगिता के लिए दक्षिण झारखण्ड के लगभग 12 जिलों के विस्तार में स्थित 4000 गाँव से 375 बच्चे भाग ले रहे हैं। इनमें मेदिनीनगर, लातेहार, खूँटी, घाटशिला, रातू, लोहरदगा, गुमला, सिमडेगा, सिंहभूम, रामगढ़, गढ़वा, सरायकेला जिले शामिल है।

इस शुभारंभ सत्र के बाद बिरसा मुंडा एथलेटिक स्टेडियम में अनेक प्रकार के खेलों में दौड़, लंबी कूद, ऊंची कूद इत्यादि की प्रतिस्पर्धा हुई। वहीं, टाना भगत स्टेडियम में कुश्ती, कबड्डी इत्यादि खेल की प्रतिस्पर्धा का आयोजन किया गया। प्रतियोगिता के विजेता बच्चे फरवरी माह में राष्ट्रीय खेल में सहभागिता देने हेतु लखनऊ जाएँगे। जो बच्चे राष्ट्रीय स्तर पर विजेता घोषित होंगे, उन्हें स्पोर्टस अथॉरिटी ऑफ इंडिया अपनी देखरेख में प्रशिक्षित करेगा।

Related posts

एनसीपी प्रवक्ता सूर्या सिंह ने संभाल रखा है कमान, ग्राम सभा के माध्यम से हुआ 500 गाँव में विकास का कार्य

Nitesh Verma

भाजपा के राष्ट्रीय पदाधिकारियों की दो दिवसीय बैठक संपन्न

Nitesh Verma

राँची विश्‍वविद्यालय का जगन्नाथ कॉलेज एक मॉडल के रुप में दिखेगा : डॉ अहमद

Nitesh Verma

Leave a Comment