कसमार झारखण्ड

धरना प्रदर्शन कार्यक्रम मे दिल्ली जा रहे हो समाज के आंदोलनकारियों का बोकारो स्टेशन में स्वागत

बोकारो ख़बर आजतक) : दिल्ली के जंतर मंतर में 21 अगस्त को आदिवासी हो भाषा को भारतीय संविधान की आठवीं अनुसूची में शामिल करने की मांग को लेकर धरना प्रदर्शन कार्यक्रम है। इसमें देशभर से आदिवासी हो समाज के लोग भाग लेंगे।कोल्हान के आंदोलनकारी आदिवासी हो समाज युवा महासभा के नेतृत्व में दिल्ली जाने के क्रम में बोकारो रेलवे स्टेशन पहुंचे पर समाज सेवी योगो पूर्ती के नेतृत्व में आंदोलनकारियों का स्वागत बोकारो हो समाज के लोगो ने किया। इस दौरान जोरोंग जीत, जोरोंग जीत, हो हयम जोरोंग जीत। बिरसा मुंडा जोरोंग जीत,सिद्धु कानू जोरोंग जीत, पोटो हो जोरोंग जीत,लाखो बोदरा जोरोंग जीत के नारे लगाए गए। आंदोलनकारियों को जलपान हेतु बिस्कुट,पानी व चूड़ा आदि देकर दिल्ली के लिए विदाई दी गई। मौके पर श्री पूर्ती ने कहा की आज दिन प्रतिदिन प्राचीन आदिवासी भाषाएं विलुप्त होते जा रही है।

हो भाषा को 8वीं अनुसूची में शामिल करने पर भाषाई अस्मिता की पहचान पुख्ता होगी। सरकार भाषा के विकास के लिए अनुदान देती है जिससे उस भाषा को और लोकप्रिय किया जा सकता है। आठवीं अनुसूची में शामिल होने के बाद उस भाषा में एकेडमिक एग्जाम दिए जा सकते हैं। उन्होंने कहा की भाषा के शामिल होने से आदिवासियों की प्राचीन महान सभ्यताएं विलुप्त होने से बचेगी। सिंधु जैसे सभ्यता में ‘वारङ चिति’ लिपि से लिखी गई है। प्राचीन सभ्यताओं में भी आदिवासी भाषाएं, ज्ञान व संस्कृतियां में मिलती है। स्वागत करने वालों में संजय गगराई, रेंगो बिरूवा, चंद्रकांत पूर्ती, झारीलाल पात्रों, संजय कुमार, दीपक सवाइयां, सुनील पिंगुवा, ननिका पूर्ती, निनिमाई, जयंती सिजूई, सरस्वती होनहागा, सुखमती आदि शामिल थे।

Related posts

दुमका लोकसभा सीट के लिए दीपिका पांडेय सिंह प्रभारी मनोनित

Nitesh Verma

फिल्म महोत्सव के दौरान तीन दिनों में कुल 60 चयनित फिल्मों का हुआ प्रदर्शन

Nitesh Verma

एक्सआईएसएस के निदेशक 9 -12 जुलाई तक स्पेन में जेसुइट बिजनेस स्कूलों के अंतराष्ट्रीय सम्मेलन में लेंगे भाग

Nitesh Verma

Leave a Comment