झारखण्ड धनबाद

पुलिस की पाठशाला में पढ़ाया गया सफलता और अनुशासन का पाठ

धनबाद (प्रतीक सिंह) : जन जागरुकता अभियान के तहत धनबाद पुलिस की अनोखी मुहिम ‘’पुलिस की पाठशाला’ लगातार जारी है। इसी अभियान के तहत धनबाद थाना अनंगर्त डिनोबली स्कूल (सीएमआरआई ) में धनबाद पुलिस विभाग की तरफ से जागरुकता शिविर का आयोजन किया गया। अभियान के तहत डिनोबली स्कूल के छात्र छात्राओं के साथ यातायात नियमों, साइबर सुरक्षा, महिला एवं बाल सुरक्षा, नशे से बचाव एवं घरेलु हिंसा से जुड़े विषयों पर विस्तार से चर्चा की गई।

‘’पुलिस की पाठशाला’ कार्यक्रम के दौरान मुख्य अतिथि के तौर पर वरीय पुलिस अधीक्षक श्री हृदीप पी जनार्दनन मौजूद रहे। अभियान के तहत पुलिस विभाग के वरीय अधिकारियों ने डिनोबली के छात्र छात्राओं और शिक्षकों को संबोधित करते हुए उन्हें कानून के विभिन्न पहलुओं से जागरुक कराया। एसएसपी महोदय श्री हृदीप पी जनार्दनन ने शिविर को संबोधित करते हुए समाज को सुरक्षित बनाने के लिए छात्रों से जागरुक रहने की अपील की और देश में लागू हुए तीन नए कानूनों की जानकारी भी दी l

उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि धनबाद पुलिस जनता की सुरक्षा को लेकर हमेशा ही गंभीर रही है। यही वजह है कि पुलिस की हर मुहिम को समाज के हर वर्ग का निरंतर सहयोग मिलता रहा है और ऐसे में अगर विद्यार्थी अपने अधिकार एवं कर्तव्यों को लेकर सजग रहेंगे तो काफी हद तक समाज से बुराईयों को खत्म किया जा सकता है।

वरीय पुलिस अधीक्षक ने कहा कि यदि पुलिस के द्वारा किए जा रहे सकारात्मक एवं रचनात्मक कार्यों से छात्र- छात्राओं को जोड़ दिया जाए तो इसके दूरगामी परिणाम देखने को मिलेंगे। छात्र-छात्राओं को जिस तरह की शिक्षा दी जाएगी उनका भविष्य निर्माण भी उसी प्रकार होगा। यही वजह है कि साइबर अपराध के शिकार होने से बचाव, नशे से दूरी, यातायात नियमों की जानकारी समेत आत्मरक्षा के गुर सिखाने के लिए धनबाद पुलिस ने विशेष पहल करते हुए पुलिस की पाठशाला अभियान के लिए स्कूलों और कॉलेजों को चुना है।

एसएसपी महोदय ने वहां मौजूद छात्र – छात्राओं को सुरक्षा की गारंटी देते हुए कहा कि कभी भी किसी तरह की समस्या पर वे सीधे पुलिस से डायल 112 के जरिए सम्पर्क कर सकते हैं, पुलिस की टीम ससमय मदद को पहुंचेगी । एसएसपी महोदय ने छात्रों को सफलता का मुलमंत्र समझाते हुए कहा कि छात्र जीवन में अनुशासन व लक्ष्य बेहद जरुरी है l प्रतिबद्धता के जरिए ही लक्ष्य को साधा जा सकता है जो जीवन को कामयाब बना सकता है l

उन्होंने मोबाइल व इंटरनेट के अनावश्यक इस्तेमाल से बचने की अपील करते हुए बच्चों को यथासंभव मोबाइल के कम उपयोग की बात कही l उन्होंने बच्चों से अपील करते हुए कहा कि सभी बच्चे अपने सोशल मीडिया ऐप को सुरक्षित रखें और पासवर्ड समय समय पर बदलते रहें। उन्होंने मनोरंजन के लिए सोशल मीडिया के कम उपयोग करने और किसी अनजान शख्स से वर्चुअल दोस्ती न करने की अपील भी की। मौजूदा वक़्त में आर्टिफिशल इंटेलिजेंस के बढ़ते खतरे को देखते हुए उन्होने बच्चों को बेहद सतर्क रहने को कहा, साथ ही अपनी निजी गतिविधियों की जानकारी सोशल मीडिया पर अपडेट न करने की अपील भी की l

वरीय पुलिस अधीक्षक ने वहां मौजूद छात्राओं को संबोधित करते हुए कहा कि छात्र अवस्था जीवन का अहम काल होता है लिहाजा इस उम्र में भटकाव से बचने के लिए छात्र-छात्राओं में कानून और नियमों की जानकारी होनी अति आवश्यक है। एसएसपी महोदय ने अपने निजी जीवन के अनुभवों को साझा करते हुए बच्चों के कई सवालों के जवाब भी दिए l

कार्यक्रम में उपस्थित पुलिस उपाधीक्षक मुख्यालय श्री संदीप गुप्ता ने साइबर अपराध के बढ़ते खतरे को देखते हुए अपने संबोधन में कहा कि इंटरनेट व मोबाइल द्वारा दिए हुए किसी भी लालच में न आएं और कोई भी अनजान वेबसाइट व अन्य लिंक पर क्लिक न करें।

उन्होने बच्चो को भरोसा दिलाया की धनबाद पुलिस सभी की सुरक्षा को लेकर संकल्पित है l उन्होंने कहा कि अभियान का उद्देश्य महिला एवं बाल अपराध के उन्मूलन में समाज की सक्रिय भागीदारी सुनिश्चित करना, छात्र- छात्राओं के लिए समाज में सुरक्षित वातावरण तैयार करना भी है। उन्होंने अपने सॉम्बोधन के दौरान बच्चों को सफलता के काई टिप्स भी दिए l

कार्यक्रम के दौरान पुलिस उपाधीक्षक यातायात श्री अरविंद सिंह ने छात्र छात्राओं को यातायात नियमों से जुड़ी जानकारी देते हुए सुरक्षा से जुड़े तमाम पहलुओं पर प्रकाश डाला। उन्होंने वहां मौजूद बच्चों से सुरक्षा और ट्रैफिक नियमों के सख्ती से पालन करने की अपील की।

उन्होंने कहा कि छात्र-छात्राएं अगर जागरुक होंगें तो वे अपने परिवार और आस-पास के लोगों को भी यातायात नियमों के अनुपालन के लिए प्रेरित करेंगे। ट्रैफिक डीएसपी ने बालिग़ छात्रों से वाहन चलाते वक्त हेलमेट पहनने, सीट बेल्ट लगाने, गाड़ी को सुरक्षित पार्क करने, ड्राइविंग लाइसेंस समेत सभी जरुरी कागजातों को साथ रखने की बात कही । इसके अलावा नाबालिक बच्चों को गाड़ी न चलाने की अपील भी की l

पुलिस की पाठशाला कार्यक्रम में एसएसपी श्री ह्रदीप पी जनार्दनन, डीएसपी मुख्यालय श्री संदीप गुप्ता, डीएसपी ट्रैफिक श्री अरविंद सिंह, डिनोबली स्कूल की प्रिंसिपल श्रीमती तनुश्री बनर्जी, वाईस प्रिंसिपल शुभाशीष घोष, सुनील सिंह, प्रतिभा कुमारी समेत कई शिक्षक और सैकड़ो की संख्या में स्कूल के बच्चे मौजूद थे l

Related posts

लिंग आधारित हिंसा के खिलाफ नुक्कड़ नाटक का मंचन।

Nitesh Verma

कसमार : झारखंड राज्य खाद्य सुरक्षा आयोग की पहल पर धनिया मांझी को मिला राशन

Nitesh Verma

सरला बिरला में एक्सपर्ट टॉक का आयोजन

Nitesh Verma

Leave a Comment