राँची

प्रदेश काँग्रेस के नवनियुक्त पदाधिकारियों व वरिष्ठ काँग्रेस नेताओं की बैठक संपन्न, अविलम्ब राजेश ठाकुर को प्रदेश अध्यक्ष पद से हटाने की माँग की

नितीश_मिश्र

राँची(खबर_आजतक): झारखण्ड प्रदेश कांग्रेस के नवनियुक्त पदाधिकारियों एवं वरिष्ठ कांग्रेस नेताओं ने सोमवार को राँची स्थित अतिथिशाला में कांग्रेस बचाओ के बैनर तले बैठक किया। इस बैठक में उपस्थित सभी पदाधिकारियों ने प्रदेश अध्यक्ष राजेश ठाकुर पर पार्टी को कमजोर करने का आरोप लगाते हुए केंद्रीय अध्यक्ष से अविलंब हटाने की माँग की।
इस बैठक में निर्णय लिया गया है कि प्रदेश कांग्रेस के सैंकड़ों कार्यकर्ता जनवरी के पहले सप्ताह में दिल्ली जाएंगे एवं राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे से मुलाकात कर वस्तु स्थिति से अवगत करायेंगे और वहीं से भारत जोड़ो यात्रा में शामिल होंगे और कांग्रेस नेता राहुल गाँधी एवं वरिष्ठ कांग्रेस नेताओं से मुलाकात कर प्रदेश अध्यक्ष को हटाने की माँग करेंगें। 24 दिसम्बर से प्रदेश कांग्रेस के पदाधिकारी जिलों का दौरा करेंगे जिसकी शुरुआत बोकारो से की जाएगी। बोकारो में बैठक कराने की जिम्मेवारी प्रदेश कांग्रेस कमिटी के सचिव साधु शरण गोप को दी गई है।

इस बैठक की अध्यक्षता करते हुए प्रदेश कांग्रेस महासचिव आलोक कुमार दूबे ने कहा है कि झारखंड कांग्रेस के पूर्व प्रभारी आरपीएन सिंह कांग्रेस छोड़ने के ठीक पहले अपने चहेते को प्रदेश अध्यक्ष बनाया जिसकी ना तो कोई राजनीतिक पहचान रही और न ही संगठन चलाने का कोई तजुर्बा ही था, गणेश परिक्रमा और रहमो करम पर बनाए गए अध्यक्ष जो आज भी आर पी एन सिंह के इशारे पर भाजपा की गतिविधियों और एजेंडे को कांग्रेस पार्टी में संचालित कर रहे हैं वह किसी से छुपी नहीं है। पूरे राज्य में अराजक स्थिति हो गई है,चारों तरफ पुतला दहन, विरोध, जुलूस, धक्का-मुक्की, नारेबाजी, पैसा लूटा लूटी जैसी स्थिति से पार्टी को गुजरना पड़ रहा है। इनके मोबाइल कॉल को खंगाला जाए अगर आज भी राजेश ठाकुर आरपीएन सिंह के संपर्क में नहीं होंगे तो मैं थूक कर चाटने को तैयार हूँ। कांग्रेस का कार्यकर्ता सब कुछ सह सकता है लेकिन अपने सम्मान और स्वाभिमान पर ठेंस कभी नहीं बर्दाश्त कर सकता है। आर पार की लड़ाई में प्रदेश अध्यक्ष राजेश ठाकुर को एक दिन भी बने रहना गवारा नहीं है।

प्रदेश कांग्रेस कमेटी के वरिष्ठ नेता लाल किशोर नाथ शाहदेव ने कहा कि वर्तमान प्रदेश अध्यक्ष सिर्फ अपने स्वार्थ के लिए काम कर रहे हैं। अगर अविलम्ब नहीं हटाया गया तो 2024 आते-आते यह आदमी पूरी पार्टी को लेकर भाजपा में भाग जाएगा। एक तरफ राहुल गाँधी अपनी जान की बाजी लगाकर भारत जोड़ो यात्रा कर रहे हैं और दूसरी तरफ यह व्यक्ति संगठन को कमजोर कर रहा है,अपिरपक्व एवं थोपे हुए व्यक्ति जो कि बाहर से आया हुआ है पार्टी को हाईजैक करना चाहता हो स्वीकार नहीं है। अनुशासन का डंडा दिखाकर संगठन को चलाने वाले के दिन अब पूरे हो गये हैं। सरकार के 3 वर्ष होने के बाद भी कांग्रेस कार्यकर्ताओं को सरकार होने का एहसास है, परन्तु वर्तमान प्रदेश अध्यक्ष को अपने व्यक्तिगत लाभ में कोई कमी नहीं है, दिन दूना रात चौगुना फलते फूलते जा रहे हैं,अगर इन्हें जल्द नही हटाया गया तो झारखंड कॉंग्रेस को राजेश ठाकुर बड़ी क्षति पहुँचा सकते हैं जिसकी भरपाई आने वाले दिनों में नहीं हो सकेगी।

प्रदेश कांग्रेस महासचिव डॉ. राजेश गुप्ता छोटू ने कहा कि आज की बैठक कांग्रेस को मजबूती प्रदान करने के लिए बुलाया गया है। जिला कमिटी, प्रदेश कमिटी के गठन के बाद सभी जिला से आक्रोश की आवाज आ रही है,सभी जिलों के नेता आज की बैठक को लेकर अपनी सहमति दे चुके हैं और प्रदेश अध्यक्ष को हटाने की लड़ाई में निर्णायक संघर्ष को तैयार हैं। डॉ. राजेश गुप्ता ने कहा कि पूरी पक्के तौर पर कांग्रेस जनों का कहना है आरपीएन सिंह के कहने पर बोर्ड और निगम में अपने पुराने बफादार लोगों को बनाने का निर्णय लिया जा चुका है जिसकी जारी की जाएगी एवं राष्ट्रीय अध्यक्ष को इससे भी अवगत कराया जाएगा।

प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सचिव साधु शरण गोप ने कहा कि जिला अध्यक्षों के मनोनयन में मुस्लिम, दलित,इसाई एवं महिलाओं को नजर अंदाज करना कांग्रेस पार्टी के लिए घातक साबित होगा, भले ही आपने बाद में इसकी भरपाई की हो लेकिन एक बार आपकी मंशा भाजपा के एजेंडे के अनुरूप प्रदर्शित हो चुकी है। उन्होंने कहा कि कई ऐसे पिछड़े जाति के लोग हैं जिन्हें इस जंबोजेट कमेटी में एक भी स्थान नहीं दिया गया है,35 महासचिव में एक भी मुस्लिम और पूरी कमिटी में एक भी तेली एवं यादव समाज को शामिल नहीं किया गया है। यहाँ तक कि जिला अध्यक्षों के मनोनयन में जो इंटरव्यू लिया गया था उस इंटरव्यू को भी नजर अंदाज किया गया एवं हमारे बोकारो जिला में ऐसा अध्यक्ष बनाया गया जो साक्षात्कार में शामिल नहीं हुआ, इसलिए ऐसे प्रदेश अध्यक्ष राजेश ठाकुर का विरोध करना लाजमी है।

 प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सचिव राकेश तिवारी ने कहा कि 30 वर्षों से हम संगठन के कामों में लगे हुए हैं, लाठियां खाई,जेल गए ऐसे कार्यकर्ता अपने आप को ठगा हुआ महसूस कर रहे हैं। दिल्ली जाकर संघर्ष के इस लड़ाई को अंतिम मुकाम तक पहुँचाने की जरुरत है।

प्रदेश कांग्रेस कमेटी के पदाधिकारी होनी सिंह मुंडा ने कहा कि पार्टी को अगर कोई कमजोर करना चाहेगा तो यह बर्दाश्त नहीं होगा, 24 जिलों में प्रभारी बनाएंगे और सब जगह लोगों को जोड़ने का काम करेंगे और वर्तमान प्रदेश अध्यक्ष को बाहर का रास्ता दिखा देंगे।

प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सचिव भरत रावत ने कहा कि संगठन के निर्माण में सामाजिक समीकरण का ध्यान नहीं रखा जाता है,वरीयता का ध्यान नहीं रखा जाता है ऐसे अपरिपक्व प्रदेश अध्यक्ष को बने रहना का कोई अधिकार नहीं है।

महिला कांग्रेस नेत्री विनीता पाठक नायक ने कहा कि आंदोलन करते हुए कांग्रेसी नेताओं को प्रदेश अध्यक्ष अगर यह कहते हैं उनका कोई वजूद नहीं है तो पहले उन्हें अपने गिरेबान में झांकना चाहिए प्रदेश अध्यक्ष बनने के पहले उनका क्या वजूद था।

इस दौरान गोड्डा जिला कांग्रेस के नेता मनोज झा, चाईबासा जिला कांग्रेस कमेटी के नेता मोहम्मद फिरोज, गढ़वा जिला कांग्रेस के वरिष्ठ नेता उमेश चंद्र त्रिपाठी सहित अन्य उपस्थित थे।

Related posts

झारखण्ड तीसरा मोर्चा का किया गया गठन, पूर्व ऊर्जा मंत्री लालचंद महतो सर्वसम्मति से बनाए गए संयोजक

Nitesh Verma

एनसीपी प्रवक्ता सूर्या सिंह ने संभाल रखा है कमान, ग्राम सभा के माध्यम से हुआ 500 गाँव में विकास का कार्य

Nitesh Verma

प्रख्यात न्यूरोसर्जन डॉ अशोक मुंडा ने ज्वाइन किया क्युरेस्टा ग्रुप ऑफ हॉस्पिटल्स

Nitesh Verma

Leave a Comment