Uncategorized

बीएसएल में इन-हाउस प्रोसेस ऑप्टिमाइजेशन द्वारा उत्पाद की गुणवत्ता में वृद्धि

बोकारो (ख़बर आजतक) : बोकारो स्टील प्लांट में कोल्ड रोल्ड कॉइल्स के उत्पादन के लिए सीआरएम 1 और 2 में डीसीआर मिल की सुविधा  है, जहां कॉइल्स को वांछित मैकेनिकल  गुण प्रदान करने के लिए फोर हाई ट्विन स्टैंड रोल द्वारा पास कराया  जाता है। इससे पहले, सीआरएम-3 से प्राप्त इनपुट कॉइल्स  को सीसीएएल लाइन के माध्यम से पार किया जाता है जिसमें स्ट्रिप्स को इलेक्ट्रोलाइटिक रूप से साफ किया जाता है जिसके परिणामस्वरूप उत्पाद में बेहतर चमक प्राप्त होती है और फिर निरंतर एनीलिंग द्वारा  बेहतर एज और कम वेविनेस्स के साथ बेहतर उत्पाद गुणवत्ता होती है।  उत्पाद आयाम में मोटाई: 0.35-0.80 मिमी और चौड़ाई: 876-1000 मिमी शामिल है।

अब तक DCR उत्पाद की आपूर्ति IS 513 CR1K के रूप में की जाती थी। ग्राहकों द्वारा गुणवत्तापूर्ण कोल्ड रोल्ड स्टील IS 513 CR2K की बढ़ती मांग को पूरा करने के लिए बीएसएल के  R&C लैब और CRM 1&2 की टीम के प्रयासों  से DCR उत्पादों के गुणों में महत्वपूर्ण सुधार लाया गया है। इसके तहत  फर्नेस के विभिन्न ज़ोन के तापमान और लाइन गति जैसे प्रक्रिया मापदंडों का ऑप्टिमाइजेशन शामिल है। फर्नेस के अलग-अलग ज़ोन में तापमान के ऑप्टिमाइजेशन के लिए  मुख्यत: हीटिंग जोन 1, 2 और 3 में बर्नर का मॉडिफिकेशन तथा सोकिंग जोन 4, 5 और 6 में विद्युत ताप तत्वों का मॉडिफिकेशन  किया गया जिससे मैकेनिकल गुणों में वांछित सुधारव  अभिवृद्धि लाई जा सकी। इसके अलावा, रेफ्लेक्टेन्स टेस्ट द्वारा सतह की चमक में हुई वृद्धि की पुष्टि भी हुई । इन प्रयासों में मिली सफलता की बदौलत अब बीएसएल सीसीएएल-डीसीआर रूट से पतले गेज (0.35-0.80 मिमी) में IS 513 CR2K ग्रेड स्टील की आपूर्ति करने में सक्षम है, जिसकी बाजार में काफी मांग है।  यह उन्नयन न केवल बोकारो स्टील के उत्पाद की गुणवत्ता को बेहतर बना रहा है, बल्कि बेहतर सेल्स रियलाइजेशन की दृष्टिकोण से भी उपयोगी है। उल्लेखनीय है कि  IS 513 CR2 कोल्ड रोल्ड ड्राइंग क्वालिटी स्टील का उपयोग कई अलग-अलग उद्योगों जैसे व्हाइटगुड्स, ऑटोमोटिव, ड्रम और बैरल, हैंड और पावर टूल्स, लाइटिंग फिक्स्चर, ट्यूबिंग और रोल फॉर्मेड सेक्शन आदि में विभिन्न प्रकार के अनुप्रयोगों के लिए किया जाता है.

उत्पाद की गुणवत्ता में वृद्धि का यह इन-हाउस पहल निदेशक प्रभारी श्री बी के तिवारी के दिशा-निर्देश में अधिशासी निदेशक (कार्मिक एवं प्रशासन, अतिरिक्त प्रभार संकार्य) श्री राजन प्रसाद, मुख्य महाप्रबंधक (क्वालिटी) श्री मनोहर लाल एवं महाप्रबंधक प्रभारी (सीआरएम- 1 एंड 2) श्री विश्वजीत मिश्रा के मार्गदर्शन में R&C लैब के सदस्य महाप्रबंधक श्री रतन मल्लिक, उप महाप्रबंधक डॉ. गदाधर साहू, वरिष्ठ प्रबंधक अरिजीत बनर्जी, प्रबंधक प्रिया पाठक, प्रबंधक जितेंद्र कुमार, प्रबंधक एसके घोष और उप प्रबंधक पीके रॉय की टीम ने कार्यान्वित किया । इस कार्य में सीआरएम 1 और 2 की और से महाप्रबंधक श्री अरुण कुमार, वरिष्ठ प्रबंधक दिनेश कुमार, सहायक प्रबंधक राज अभिषेक और विकास कुमार, ऑपरेटिव मोहम्मद अशाइक आदि का भी अहम योगदान रहा.

Related posts

‘नारी शक्ति वंदन अधिनियम’ के लोकसभा में पारित होने पर रघुवर दास ने नरेन्द्र मोदी सहित अन्य का जताया आभार

Nitesh Verma

आदिवासियों व दलितों पर आए दिन हो रहे अत्याचार परंतु प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी मौन: राजेश कच्छप

Nitesh Verma

कृषि शुल्क विधेयक के विरोध में राँची में खाद्यान्न व्यापारियों का महाजुटान, 7 दिनों का मिला अल्टीमेटम

Nitesh Verma

Leave a Comment