बोकारो

बोकारो : चिन्मय विद्यालय मे 13वां चिन्मय एलुमिनी एसोसिएशन के शानदार आयोजन…

रिपोर्ट : कैलाश गोस्वामी

बोकारो (ख़बर आजतक) : चिन्मय विद्यालय बोकारो के तपोवन सभागार में 13वा चिन्मय एलुमिनी मीट का सफल आयोजन हुआ। इस साल 1995-97 बैच के उत्तीर्ण छात्रों ने विशेष रूप से भाग लिया। जैसे ही विद्यार्थियों ने मुख्य द्वार से प्रवेश किया उनका स्वागत जोरदार आतिशबाजी कर किया गया। अपने पुराने दोस्तों एवम शिक्षकों को देख कर भावुक हो गये, खुशी के इस पल में  कई की आँखे नम हो गई। एक लंबी जुदाई के बाद आपस मे मिलना जीवन का अनूठा संगम था। सभी के चेहरे पर 25 साल बाद विद्यालय आने की रौनक साफ दिख रही थी।

चिन्मय एलुमिनी एसोसिएशन ने विद्यालय प्रबंधन के सभी सदस्यों का पुष्प गुच्छ देकर शानदार स्वागत किया। विद्यालय प्राचार्य सूरज शर्मा ने अपनी भावनाओं एवम संवेदनाओ  के साथ सभी का स्वागत  करते हुए कहा कि आज आपकी उपस्थिति से अभिभूत हूँ। आप अपने विद्यालय के लिए, अपने शिक्षकों, अपने दोस्तों से मिलने विश्व के कोने कोने से आये हैं। आपने अपना बचपन से यौवन के दहलीज़ तक इसी विद्यालय में बिताया है। इसलिए आज का प्रत्येक क्षण आपके लिए आनन्दित होने वाला है। उन्होने कहा कि चिन्मय एलुमिनी एसोसिएशन राष्ट्र एवम समाज की सेवा के लिए कई कार्यक्रम चला रहा है। जैसे कि मेघावी निर्धन छात्रों के लिए चिन्मय स्माइल बैक (निःशुल्क शिक्षा) की व्यवस्था करना, जरूरतमंद लोगो के बीच अनाज, दवाइयां  एवम कम्बल का वितरण करना इत्यादि। प्राचार्य ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की कही बातें याद दिलाते हुए कहा कि भारत देश मात्र एक भूमि का टुकड़ा नही, यह जीता जागता राष्ट्रपुरुष है, प्रत्येक नदी गंगा है, कण कण में शंकर है, यह एक अमर आग है। इसके होने से ही हम है ,औऱ हमारा अस्तित्व है। इसलिए मां  भारती की सेवा आपका प्रथम कर्तव्य होना चाहिए।

वेंकटरमन, मुकेश अग्रवाल एवम दीपक ने अपने अनुभवों को साझा करते हुए कहा कि हमारे व्यक्तित्व के विकास में , जीविका एवम जीवन की सफलता में चिन्मय विद्यालय का अमूल्य योगदान रहा है।

 अंशुअवम रूही सिंह  ने कहा कि स्कूल टाइम में टीचर्स की डांट खाना, शैतानी करना, होमवर्क नही करने पर दूसरे की कॉपी दिखा देना। ये सभी बातें विद्यालय में प्रवेश करते ही पुनः ताजा हो गई।

 उस वक्त समय की पाबंदी, सख्त अनुशासन व्यवस्था, थोड़ी सी गलती पर तुरंत अभिभावकों को स्कूल बुला लेना अच्छा नहीं लगता था परंतु आज हमारी कामयाबी में उन्ही सभी बातों का विशेष योगदान है।

 कार्यक्रम के दूसरे चरण में विद्यालय अध्यक्ष बिश्वरूप मुखोपाध्याय, सचिव महेश त्रिपाठी, कोषाध्यक्ष आर एन मल्लिक एवम प्राचार्य सूरज शर्मा ने सभी पूर्ववर्ती छात्रों को बारी बारी से पुष्प गुच्छ देकर सम्मानित किया, आशीर्वाद दिया एवम उनके अनुभवों को सुना।

ततपश्चात एलुमिनी एसोसिएशन के बच्चों ने व

स्वागत गान गाकर, विभिन्न गानों पर नृत्य कर सभी का मनोरंजन किया।  सभी ने पूरे विद्यालय का भ्रमण कर खुद को गौरवान्वित अनुभव किया।

 पूर्व प्राचार्या हेमलता बिस्वास एवम अर्चना मुखर्जी ने वीडियो संदेश देकर सभी को आशीर्वाद दिया एवम जीवन मे सफल ,स्वस्थ एवम खुश रहने की शुभकामनाएं दी।

कार्यक्रम के संचालन में संजीव मिश्रा, नेहा अवतार, विजय, सोमा तिवारी, शैबाल एवम सोनाली गुप्ता ने मुख्य भूमिका निभाई।

कार्यक्रम में अध्यक्ष बिश्वरूप मुखोपाध्याय, सचिव महेश त्रिपाठी, कोषाध्यक्ष आर एन मल्लिक, प्राचार्य सूरज शर्मा, पूर्व प्राचार्य डॉ अशोक सिंह, एवम  अशोक झा उपस्थित थे।

Related posts

कसमार : गुवई नदी में चेक डैम निर्माण कार्य का हुआ शिलान्यास

Nitesh Verma

साड़म में मगध सम्राट जरासंध का मनाया गया जयंती समारोह

Nitesh Verma

बच्चो के अधिकार सुनिश्चित करने के लिए सभी को एकजुट होना होगा: रवानी।

Nitesh Verma

Leave a Comment