खेल झारखण्ड बोकारो

बोकारो : भाव, भंगिमा, मुद्र,लय, ताल,गति का अदभूत संगम का चिन्मय नृत्य महोत्सव


ह्रदय में परमात्म तत्व की अभिव्यक्ति है नृत्य – सूरज शर्मा

नृत्य की समृद्ध परंपरा है भारत में – कुलदीप चैधरी

बोकारो (ख़बर आजतक): चिन्मय विद्यालय बोकारो में नगर स्तरीय अंतर विद्यालय नृत्य प्रतियोगिता चिन्मय नृत्य महोत्सव का आयोजन किया गया। जिसमें बोकारो इस्पात नगर के 9 विद्यालयों की टीमों ने पूरे उमंग के साथ भाग लिया।  नृत्य महोत्सव का थीम था अतुल्य भारत। इस महोत्सव के मुख्य अतिथि थे श्री कुलदीप चैधरी उपायुक्त बोकारो । कार्यक्रम का उद्घाटन मुख्य अतिथि श्री कुलदीप चैधरी, विशिष्ट अतिथि श्रीमती अपर्णा चैधरी , स्वामिनी संयुक्तानंद सरस्वती, अध्यक्ष बिश्वरूप मुखोपाध्याय, सचिव महेश त्रिपाठी, कोषाध्यक्ष आर एन मल्लिक एवं प्राचार्य सूरज शर्मा ने दीप प्रज्वलित कर किया। इससे पूर्व सभी अतिथियों का स्वागत तिलक-मिश्री एवं पुष्प-गुछ भेंट देकर किया गया। इस प्रतियोगिता के निर्णायक मंडल में निर्मल्या शर्मा नृत्य विशेषज्ञ, कलकत्ता  शुभलक्ष्मी श्रीवास्तव एवं अमित कुमार साहू (रांची) शामिल थे।


चिन्मय विद्यालय के संगीत समूह द्वारा स्वागत गान की प्रस्तुति के पश्चात् विद्यालय के प्राचार्य सूरज शर्मा ने अपने स्वागत संबोधन में सम्मानित अतिथियों , प्रतिभागियों एवं उनके शिक्षकों को संबोधित करते हुए कहा कि नृत्य आयोजन के माध्यम से भारतीय संस्कृति एवं राष्ट्र प्रेम का गौरव गान करना ही इस आयोजन का मुख्य उद्देश्य है । इसीलिए इसका विषय अतुल्य भारत है। उन्होंने कहा कि जब हृदय में परमात्मा तत्व की जागृति होती है। तब इसकी अभिव्यक्ति ही नृत्य है । विशेष रूप से भारत के शास्त्रीय नृत्य हो अथवा लोक नृत्य सभी अध्यात्म की ओर उन्मुख करते हैं ।
अपने संबोधन में मुख्य अतिथि श्री कुलदीप चैधरी ने कहा कि सभी नृत्य प्रस्तुति में भारत के रचनात्मक पक्ष की पूर्ण अभिव्यक्ति दिखाई दी मुझे इस कार्यक्रम में भाग लेना लेते हुए अति आनंद अनुभव हुआ और यह बहुत अच्छा है की नृत्य के माध्यम से राष्ट्र का गौरव बढ़ाया जा सकता है। और राष्ट्र की गौरव की प्रस्तुति की जा सकती है। राष्ट्र की समृद्धि परंपरा को जाना जा सकता है। राष्ट्रीयता को भी मजबूत किया जा सकता है। भारत में नृत्य की अति समृद्ध परंपरा रही है।
भारतीय नृत्य परंपरा पूरे विश्व में प्रसिद्ध है और यह भारत का मान बढ़ाता है। इस प्रतियोगिता में कुल 9 प्रतिभागी विद्यालय शामिल थे। जिन्हें अलग-अलग विषय मिला था ।
चिन्मय विद्यालय – पंच महाभूत
जी.जी.पी.एस चास – योगा फॉर हेल्थ एंड वेल बीइंग
जी.जी.पी.एस- 5 – चंद्रयान 3
एम.जी.एम हायर सेकेंडरी स्कूल – अनोखा भारत
डी.ए.वी.स्कूल – 6 – ट्रिब्यूट टू अवर नेशनल हीरोज
क्रिसेंट पब्लिक स्कूल – हार्मेनी इन डाइवर्सिटी
रेनबो पब्लिक स्कूल -झारखंड संथाल नृत्य
श्री अय्यपा पब्लिक स्कूल – भारतम् अभिर्वषम ,औरू वंदनम
डॉ राजेंद्र प्रसाद पब्लिक स्कूल – झारखंड लोक नृत्य
सभी प्रतिभागी विद्यालयों की प्रस्तुति एक से बढ़कर एक रही। ताल, लय , मात्रा, मुद्रा, भाव- भंगिमा एवं सौदामिनी जैसी गति का अद्भुत संगम देखने को मिला। निर्णायक जजों को विजेताओ के चयन के बाद बहुत प्रसन्नता हुई।
प्रथम स्थान-क्रिसेंट पब्लिक स्कूल
द्वितीय स्थान- जीपीएस-5
तृतीय स्थान- एमजीएम-4
सर्वाेच्च नृत्य के लिए श्री अय्यपा पब्लिक स्कुल के प्रखर को एवं चिन्मय विद्यालय की सबसे छोटी नृत्य कलाकार तोशिका चौधरी को विशेष रूप से समानित किया गया।
सभी विजेता टीमों को उपस्थित गणमान्य अतिथियों ने ट्राफी देकर सम्मानित किया।
विद्यालय प्रबंधन द्वारा निर्णायक मंडली के सभी सम्मानित सदस्यों निर्मल्या शर्मा नृत्य विशेषज्ञ, कलकत्ता, शुभलक्ष्मी श्रीवास्तव एवं अमित कुमार साहू (रांची) को साॅल ओढा़कर, स्मृति चिन्ह एवं पुस्तक भेट कर सम्मानित किया गया । कार्यक्रम का संचालन सोनाली गुप्ता ने सफलता पुर्वक किया एवं सुप्रिया चैधरी ने सभी प्रतिभागियो ,उपस्थित शिक्षको , उपस्थित अतिथियो एवं इस कार्यक्रम को सफल बनाने में योगदान करने वाले सभी शिक्षकों को धन्यवाद दिया। प्रतियोगिता का समापन राष्ट्रगान से किया गया।

Related posts

सीएसआर की पहल से छात्र ‐ छात्राओं को विद्यालय आने जाने की समस्याओं से मिलेगी निजात: सीता राम लोमरोर

Nitesh Verma

रामनवमी के अवसर पर शांति व्यवस्था बनाये रखने के लिए फ्लैग मार्च निकाला गया

Nitesh Verma

सीएमपीडीआई में हर्षोल्लास के साथ मनाया गया गणतंत्र दिवस

Nitesh Verma

Leave a Comment