बोकारो बोकारो

बोकारो : समृद्ध राष्ट्र-निर्माण और बेहतर व्यक्तित्व के लिए खेल जरूरी : उपायुक्त

डीपीएस बोकारो के वार्षिक खेलकूद समारोह समागम में बच्चों ने बिखेरी बहुरंगी छटा

सतलज हाउस को प्रथम, गंगा को द्वितीय व चेनाब को तृतीय स्थान

डिजिटल डेस्क

बोकारो (ख़बर आजतक) : डीपीएस बोकारो के 33वें वार्षिक खेलकूद समारोह ‘समागम’ का आयोजन बुधवार को जोशो-खरोश और उत्साहपूर्ण वातावरण में किया गया। समारोह में विद्यालय के सभी छह सदनों के छात्र-छात्राओं ने पूरे उमंग के साथ भाग लिया और विभिन्न स्पर्धाओं में जमकर अपनी प्रतिभा व अपने दमखम का परिचय दिया। एक मैदान में सैकड़ों प्रतिभाशाली छात्र-छात्राओं का समागम और कलात्मक शैली में क्रीड़ात्मक स्पर्धाओं में उनकी भागीदारी विशेष आकर्षण का केन्द्र रही। ‘समृद्ध राष्ट्र-निर्माण का सम्मिलित प्रयास’ थीम पर आधारित इस समारोह का उद्घाटन मुख्य अतिथि जिले के उपायुक्त कुलदीप चौधरी ने मशाल प्रज्वलित कर व गुब्बारे उड़ाकर किया।
अपने संबोधन में उपायुक्त श्री चौधरी ने बच्चों की प्रस्तुतियों को खूब सराहा। उन्होंने कहा कि शैक्षणिक उत्कृष्टता के मामले में डीपीएस बोकारो की ख्याति तो सर्वविदित है, खेलकूद और कला के मामले में भी यहां के बच्चों की प्रतिभा काबिले-तारीफ है। यहां के विद्यार्थी राज्य व राष्ट्र का गौरव बढ़ा रहे हैं। राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय स्तर पर लगातार मिल रहे सम्मान इसका प्रत्यक्ष प्रमाण हैं। उन्होंने स्वामी विवेकानंद की उक्ति ‘स्वस्थ शरीर में ही स्वस्थ मस्तिष्क का वास है’, की चर्चा करते हुए खेल की महत्ता बताई। अपने स्कूली-जीवन के अनुभव साझा करते हुए श्री चौधरी ने कहा कि वर्तमान शिक्षा-प्रणाली में जिस प्रकार अंक हासिल करने का दबाव है, ऐसे में खेल व सांस्कृतिक गतिविधियों में बच्चों की भागीदारी महत्वपूर्ण है। वस्तुतः, खेल बेहतर व्यक्तित्व में सहायक है और बेहतर नागरिकों से ही समृद्ध राष्ट्र-निर्माण का निर्माण संभव है।
इसके पूर्व, बच्चों ने पौधा भेंटकर और स्वागत गान के साथ अतिथियों का स्वागत किया। अपने संबोधन में प्राचार्य डॉ. गंगवार ने कहा कि खेल अनुशासन, मर्यादा, टीम भावना और आपसी तालमेल सिखाता है। खेल में हार-जीत से ज्यादा प्रतिभागिता महत्वपूर्ण है। इस क्रम में बच्चों ने ड्रिल, फिल्ड डिस्प्ले व समूह नृत्य, योग आदि की मनोहारी प्रस्तुति से बहुरंगी छटा बिखेरी। गंगा, जमुना, रावी, चेनाब, सतलज व झेलम हाउस के विद्यार्थियों द्वारा प्रस्तुत आकर्षक मार्च-पास्ट भी काबिले-तारीफ थी। मौलिक शिक्षा से वंचित बच्चों के लिए डीपीएस बोकारो द्वारा संचालित ‘दीपांश शिक्षा केन्द्र’ के बच्चों ने ‘मां तुझे सलाम…’ गीत पर समूह-नृत्य की मनोहारी प्रस्तुति दी। इस अवसर पर अतिथियों ने खेल दिवस के उपलक्ष्य में प्रकाशित विद्यालय की पत्रिका ‘जेनिथ’ का विमोचन किया।
समारोह में जीजीपीएस सेक्टर-5 के प्राचार्य सौमेन चक्रवर्ती, एमजीएम हायर सेकेंडरी स्कूल के प्राचार्य फादर रेजी सी. वर्गीस, चिन्मय विद्यालय के प्राचार्य सूरज शर्मा, जीजीपीएस चास के प्राचार्य उमाशंकर सिंह, डीएवी पब्लिक स्कूल, सेक्टर- 4 के प्राचार्य एके झा, डीएवी, सेक्टर- 6 के प्राचार्य एसके मिश्रा आदि उपस्थित थे।विभिन्न स्पर्धाओं के बाद पुरस्कार वितरण और राष्ट्रगान से समारोह का समापन हुआ।
विभिन्न खेल स्पर्धाओं में बेहतर प्रदर्शन के आधार पर 1139 अंकों के साथ सतलज हाउस प्रथम, 1125 अंक लाकर गंगा हाउस द्वितीय एवं 115 अंक के साथ चेनाब हाउस तृतीय स्थान पर रहा। बालक-बालिकाओं के अलग-अलग समूहों में 100 मीटर, 200 मीटर, 4 गुना 100 मीटर बैटन रिले रेस, लांग जंप, हाई जंप, डिस्कस थ्रो आदि स्पर्धाओं में बच्चों ने अपने दमखम दिखाए। दीपांश के बच्चों ने भी विभिन्न खेल स्पर्धाओं में भाग लिया। सभी विजेताओं को मेडल व प्रमाणपत्र के साथ पुरस्कृत किया गया।

Related posts

कसमार में रबी फसल कार्यशाला का आयोजन

Nitesh Verma

बोकारो : जरूरमंदो के बीच कम्बल बांटकर मनाया पूर्व मुख्यमंत्री शिबू सोरेन का 79वां जन्मदिवस…

Nitesh Verma

बोकारो : कोर्ट फीस वापस लेना होगा : रंजीत गिरि

Nitesh Verma

Leave a Comment