झारखण्ड धनबाद

मंडल रेल प्रबंधक चेतना नंद सिंह की अध्यक्षता में मंडल राजभाषा कार्यान्वयन समिति’ की बैठक संपन्न

रिपोर्ट:- सरबजीत सिंह

आसनसोल (ख़बर आजतक): मंडल रेल प्रबंधक,चेतना नंद सिंह की अध्यक्षता में ‘मंडल राजभाषा कार्यान्वयन समिति’ वर्ष की दूसरी बैठक संपन्न हुई। नवागत अपर मंडल रेल प्रबंधक श्री आशीष भारद्वाज ने पुष्प गुच्छ भेंट करके मंडल रेल प्रबंधक का स्वागत किया। राजभाषा अधिकारी ने अपर मंडल रेल प्रबंधक, श्री आशीष भारद्वाज का पुष्प गुच्छ भेंट करके स्वागत किया। अपर मंडल रेल प्रबंधक श्री आशीष भारद्वाज ने स्वागत अभिभाषण प्रस्तुत करते हुए आह्वान किया कि मंडल के अधिकांश अधिकारीगण हिंदी भाषी हैं। विभिन्न विभागों में भी हिंदीभाषी कार्मिकों की अच्छी संख्या है। आवश्यकता है कि सरकारी काम-काज में हिंदी का प्रयोग-प्रसार हेतु हम लोग आगे आएँ।बैठक के आरंभ में राजभाषा अधिकारी/आसनसोल के स्वागत के बाद मंडल रेल प्रबंधक, पूर्व रेलवे, आसनसोल ने हिंदी साहित्य की महान कवयित्री सुभद्रा कुमारी चौहान की जयंती के अवसर उनके चित्र पर माल्यार्पण कर भावभीनी श्रद्धांजिल अर्पित की। तदुपरांत, सुभद्रा कुमारी चौहान की जीवनी व काव्य-कृतियों पर राजभाषा अधिकारी/आसनसोल ने सारगर्भित प्रकाश डालते हुए कहा कि उन्होंने अपनी कृतियों में बाल-सुलभ चरित्र से लेकर देशप्रेम से भरे प्रेरक भावनाओं को समेटा है, जो आज भी प्रासंगिक है। मानक कार्यसूची पर चर्चा करते हुए राजभाषा अधिकारी ने राजभाषा अधिनियम की धारा 3(3) के सांवैधानिक प्रावधानों के बारे बताया। मंडल रेल प्रबंधक श्री चेतना नंद सिंह ने उपस्थित शाखा अधिकारियों को प्रेरित करते हुए कहा कि राजभाषा हिंदी के प्रचार-प्रसार हेतु हमलोगों को राजभाषा टीम का सहयोग करना होगा और उनका सहयोग लेना भी पड़ेगा। विभागीय स्तर पर ताल-मेल रखते हुए, मिल-जुलकर ही हमलोग राजभाषा हिंदी की प्रगति को वांछित गति दे पाएंगे। इसी कड़ी में मंडल रेल प्रबंधक/पूरे/आसनसोल ने बैठक में विभागों के कार्यों की समीक्षा करते हुए कहा कि सभी विभागों को हिंदी पत्राचार के लिए निर्धारित लक्ष्यों को अनिवार्य रूप से पूरा करें और इसके लिए रूटीन प्रकार के दस्तावेजों का हिंदी-अंग्रेजी द्विभाषी टेम्पलेट तैयार किया जाए। राजभाषा विषयक विविध प्रावधानों का गंभीरता के साथ पालन किया जाए। हिंदी में कार्यों की मात्र को बढ़ाने के लिए उपलब्ध विभिन्न तकनीकी सुविधाओं – जैसे कि गुगल-ट्रांसलेशन, स्पीच-टू-टेक्स्ट टूल्स आदि का प्रयोग किया जाए।अध्यक्षीय संबोधन के क्रम में उन्होंने उपस्थित शाखा अधिकारियों को इस मुहिम से जुड़ने और जोड़ने का आह्वान किया। उन्होंने निदेश दिया कि राजभाषा पखवाड़ा के कार्यक्रम मात्र मंडल कार्यालय तक सिमट कर नहीं रहे। फील्ड के स्टेशनों और डिपो में भी कुछ प्रेरक कार्यक्रम की योजना बनायी जाए।राजभाषा अधिकारी के धन्यवाद ज्ञापन के साथ बैठक संपन्न हुई।

Related posts

सीएमपीडीआई में विशेष अभियान 3.0 के तहत विभिन्न गतिविधियों का आयोजन जारी

Nitesh Verma

विकास की राशि सरेंडर कर देने की परंपरा गरीबों के साथ धोखा व अन्याय : विजय शंकर नायक

Nitesh Verma

चिरकुंडा नगर परिषद अंतर्गत वार्ड संख्या 12 स्थित तालाब के चारों और पेपर ब्लाक बिछाने के कार्य का शिलान्यास

Nitesh Verma

Leave a Comment