झारखण्ड धनबाद

मीजल्स रुबेला संक्रमण की रोकथाम को लेकर विभिन्न प्रखंडों में चलाया गया जागरूकता अभियान

धनबाद:- मीजल्स रुबेला संक्रमण की रोकथाम को लेकर धनबाद जिला के विभिन्न प्रखंडों के स्कूलों और आंगनबाड़ी में जागरूकता कार्यक्रम चलाए गए। इस दौरान बच्चों को मीजल्स रुबेला के बारे में जानकारी दी गयी साथ ही अभिभावकों से अपील की गई कि अपने बच्चों को मिजिल्स रूबेला का टीका अवश्य लगाएं जागरूकता कार्यक्रम के दौरान कई प्रखंडों में पैरेंट्स टीचर मीटिंग की गई तो वहीं कई प्रखंडों में जागरूकता रैली स्कूलों और आंगनबाड़ी केंद्रों द्वारा निकली गयी। साथ ही कई प्रखंड के पंचायत एवं गांव में घूम घूम कर लोगो को मीजल्स रुबेला संक्रमण के बारे में जानकारी दी गयी। ज्ञातव्य हो कि 12 अप्रैल से मीजल्स रुबेला के उन्मूलन को लेकर टीकाकरण की शुरुआत हो रही है। इस अभियान के तहत जिला के 9 महीने से लेकर 15 साल तक के लगभग आठ लाख से अधिक बच्चों का एमआर टीकाकरण निर्धारित है।जागरूकता कार्यक्रम के दौरान लोगों को बताया गया कि खसरा एक जानलेवा रोग है। यह वायरस द्वारा फैलता है। इसके कारण बच्चों में दिव्यांगता तथा असमय मृत्यु हो सकती है। वहीं रूबेला भी एक संक्रामक रोग है। यह भी वायरस द्वारा फैलता है। इसके लक्षण खसरा रोग जैसे होते हैं। यह लड़के या लड़की दोनों को संक्रमित कर सकता है। यदि कोई महिला गर्भावस्था के शुरुआती चरण में इससे संक्रमित हो जाए तो कंजेनिटल रूबैला सिंड्रोम (सीआरएस) हो सकता है जो उसके भ्रूण तथा नवजात शिशु के लिए घातक सिद्ध हो सकता है। खसरा रूबैला का टीका पूर्ण रूप से सुरक्षित है। इसका कोई दुष्प्रभाव नहीं है। बच्चों को यह टीका एक प्रशिक्षित स्वास्थ्य कर्मी द्वारा लगाया जाएगा।
“हम सब ने ठाना है, मीजल्स रुबेला से झारखंड को बचाना है”

Related posts

बोकारो : चिन्मय विद्यालय में चिन्मय एलुमिनी संगठन के द्वारा रक्तदान शिविर का आयोजन

Nitesh Verma

विभागीय अनियमितता के कारण आदिवासी कल्याण की कई योजनाओ का निर्माण कार्य अधर में लटका

Nitesh Verma

श्री मद् भागवत कथा सुनने के लिए उमड़ी भीड़

Nitesh Verma

Leave a Comment