राँची

राँची:आलोक दूबे, डॉ राजेश गुप्ता सहित पांच ने तोड़ा पार्टी का संविधान, मिला कारण बताओ नोटिस…

डिजिटल डेस्क

राँची (ख़बर आजतक) : पार्टी अनुशासन को तोड़ने के आरोप में प्रदेश कांग्रेस की अनुशासन समिति ने आलोक दूबे, डॉ राजेश कुमार गुप्ता सहित पांच को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। साथ ही उन्हें 14 दिनों के भीतर जवाब देने को कहा गया है। आज पार्टी के अनुशासन समिति की ओर से यह जानकारी दी गयी। अनुशासन समिति के अध्यक्ष ब्रजेन्द्र प्रसाद सिंह, सदस्य अनादि ब्रहम, काली चरण मुंडा, केशव महतो कमलेश, शमशेर आलम, अमुल्य नीरज खलखो ने कारण बताओ नोटिस जारी करते हुए अनुशासन समिति के प्रदेश अध्यक्ष को इन्हें निलंबित करने की अनुशंसा की है। इन्हें 14 दिनों के भीतर जवाब देने को कहा गया है।
बताते चलें कि आज झारखंड प्रदेश कांग्रेस अनुशासन समिति की बैठक कांग्रेस भवन, रांची में हुई। बैठक में निर्णय लेते हुए कड़ी चेतावनी दी गई कि पार्टी में अनुशासन भंग करने वालों को किसी भी सूरत माफ नहीं किया जाएगा। क्योंकि संगठन में अनुशासन सर्वोपरि है। बीते 13 दिसंबर 2022 को अनुशासन समिति की बैठक में सभी लोगों को निर्देश दिया गया था कि पार्टी विरोधी या पार्टी नेतृत्व के विरोध में ऐसा कोई कार्य नहीं करेंगे जिससे पार्टी की छवि धूमिल होती हो।

आपत्तिजनक बयान बनी शो कॉज की वजह
मिली जानकारी के मुताबिक पार्टी की ओर से कहे जाने के बाद भी कई प्रदेश पदाधिकारी सहित कुछ लोगों ने प्रदेश नेतृत्व के खिलाफ आपत्तिजनक बयानबाजी की है। अनुशासन समिति को ऐसा लगता है कि जान-बूझकर किए गए इस काम से कांग्रेस की प्रतिष्ठा घटी है जो भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के संविधान के अनुशासनात्मक नियम 04 के (क) एवं (ड़ं0) का घोर उल्लंघन है।

इन्हें मिला कारण बताओ नोटिस
आलोक कुमार दूबे, डॉ राजेश गुप्ता, साधु शरण गोप, राकेश तिवारी, लाल किशोर नाथ शाहदेव, अनिल ओझा और सुनील सिंह.

ख़बर सोर्स : दैनिक भास्कर

Related posts

विश्व गुरु बनने का ढोंग करने वाले प्रधानमंत्री मोदी ने पूरे विश्व के सामने भारत को किया शर्मशार: रंजन कुमार

Nitesh Verma

राज्य के औद्योगिक विकास हेतू स्टेकहोल्डर्स व उद्योग सचिव के बीच सीधा संवाद आवश्यक: बिनोद अग्रवाल

Nitesh Verma

अरुण जोशी ने झारखंड में बेहतर रेल सुविधा के लिए रखी माँगें, महाप्रबंधक ने जताया भरोसा

Nitesh Verma

Leave a Comment