राँची

राँची: भवन नियमितीकरण योजना के प्रारुप पर की गई चर्चा

चेंबर सदस्यों ने राज्यवासियों की वर्षों से बनी हुई समस्या हेतू किए गए प्रयास के हेमन्त सोरेन व डॉ महुआ माँझी का जताया आभार

नितीश_मिश्र

राँची(खबर_आजतक): अनाधिकृत निर्माण को नियमितीकरण करने के लिए योजना 2022 के प्रारूप पर चर्चा हेतू बुधवार को झारखण्ड चैंबर ऑफ कॉमर्स के नेतृत्व में क्रेडाई, बिल्डर एसोसियेशन,आर्किटेक्ट एसोसियेशन के साथ ही विभिन्न व्यापारिक संगठनों की एक संयुक्त बैठक संपन्न हुई।

इस दौरान सदस्यों ने राज्यवासियों की वर्षों से बनी हुई समस्या के स्थाई समाधान के लिए किए गए प्रयास के लिए मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन और राज्यसभा सांसद डॉ महुआ माँझी के प्रति आभार जताया। इस बैठक के दौरान प्रारूप के कई महत्वपूर्ण बिंदुओं पर चर्चा करते हुए सदस्यों द्वारा अपने सुझाव से भी अवगत कराया गया। यह कहा गया कि वर्षों से बनी हुई इस समस्या का स्थाई समाधान हो सके इस हेतू जरुरी है कि होल्डिंग टैक्स की तरह भवनों का नक्शा भी सेल्फ डिक्लेरेशन के साथ पास किया जाए। यह भी सुझाया गया कि यह योजना केवल 31 दिसंबर 2019 तक बने भवनों के लिए नहीं वरन् डेट ऑफ नोटिफिकेशन की तिथि तक बने भवनों पर प्रभावी होना चाहिए।

अनाधिकृत निर्मित भवनों के नियमितीकरण के लिए अनुमान्य निर्धारित सीमा पर भी चर्चा की गई और इसमें सुधार की आवश्यकता बताई गई। योजना की धारा 4 उपधारा 4.3 में जमीन का अविवादित स्वामित्व से संबंधित प्रावधान में सुधार करने के साथ ही प्राप्त आवेदनों के निष्पादन हेतु तय समय सीमा 24 माह की अवधि को कम करने की आवश्यकता भी बताई गई। व्यापारियों की ओर से प्राप्त सभी सुझावों का संकलन कर, चैंबर द्वारा शीघ्र ही नगर विकास विभाग के साथ साझा करने के लिए आश्वस्त किया गया।

नियमितीकरण योजना पर सुझाव देने में बरती जा रही उदासीनता पर चैंबर अध्यक्ष किशोर मंत्री ने चिंता व्यक्त करते हुए व्यापार जगत के साथ ही आम लोगों से अपने सुझाव नगर विकास विभाग के वेबसाईट पर सब्मिट करने की अपील की। यह कहा कि झारखण्ड चैंबर ऑफ कॉमर्स इस दिशा में हरसंभव प्रयास कर रहा है किंतु आमलोग भी जो इससे पीडित हैं, वे भी अपने सुझाव विभाग को अवश्य दें ताकि एक ठोस और जनप्रिय नीति का लाभ राज्यवासियों को मिल सके। उन्होंने यह भी कहा कि जल्द ही टाउन प्लानर के साथ 5 सदस्यीय अधिकारियों की टीम के साथ भी एक बैठक कर, प्रारूप के प्रावधानों पर चर्चा कर ठोस निर्णय लिये जायेंगे।

वहीं महासचिव डॉ अभिषेक रामाधीन और उपाध्यक्ष अमित शर्मा ने संयुक्त रुप से कहा कि झारखण्ड में एक लोकप्रिय नियमितीकरण योजना लाई जा सके, इस हेतू विभाग को अधिक सुझाव देने के लिए लोगों को प्रेरित करने की भी पहल की जाएगी।

इस बैठक में चैंबर अध्यक्ष किशोर मंत्री, उपाध्यक्ष आदित्य मल्होत्रा, अमित शर्मा, महासचिव डॉ अभिषेक रामाधीन, सह सचिव रोहित पोद्दार, शैलेश अग्रवाल, प्रवक्ता ज्योति कुमारी, कार्यकारिणी सदस्य प्रवीण लोहिया, राहुल मारु, राहुल साबू, रोहित अग्रवाल, पूर्व अध्यक्ष अंचल किंगर, विनय अग्रवाल, रंजीत गाडोदिया, धीरज तनेजा, आर्किटेक्ट अरुण कुमार, सदस्य प्रिंस अजमानी, अमित किशोर, मुकेश अग्रवाल, संजय अखौरी, अरविंद मोदी, खुशबू कटारुका मोदी, अजय बथवाल, शशांक भारद्वाज, एनके पाटोदिया, दीपक अग्रवाल, आनन्द जालान, रवि प्रकाश मेहता, ओपी लाल, निर्मल मोदी, विनोद मोदी, श्रवण कुमार, राजीव चौधरी, संजय अग्रवाल, सीके गोपालका, अधिवक्ता आदित्य विक्रम रॉय, क्रेडाई, बिल्डर एसोसिएशन के पदाधिकारियों सहित अन्य व्यापारी उपस्थित थे।

Related posts

सीएमपीडीआई द्वारा वॉकथॉन और नुक्कड़ नाटक का आयोजन

Nitesh Verma

राँची गौशाला न्यास का गोपाष्टमी महोत्सव 20 नवंबर को, अनुराधा पौडवाल व कविता पौडवाल बहाएँगी भजनों की गंगा

Nitesh Verma

झारखंड पार्टी सीएनटी एक्ट के मूल्यों के साथ छेड़छाड़ नहीं करेगी बर्दाश्त: अशोक भगत

Nitesh Verma

Leave a Comment