राँची

राँची: भीमराव अंबेडकर भारतीय संविधान के आधार स्तंभ : आदित्य साहू

नितीश_मिश्र

राँची(खबर_आजतक): भाजपा के प्रदेश महामंत्री सह राज्यसभा सांसद आदित्य प्रसाद साहू ने पार्टी के प्रदेश कार्यालय में आयोजित डॉ भीमराव अंबेडकर की 67वीं महापरिनिर्वाण दिवस पर कहा कि भारतीय संविधान का जनक डॉ भीमराव अंबेडकर की महान प्रयास ने देश को एकजुट रखने में बहुत मदद की है। उनके द्वारा लिखित भारत का संविधान आज भी देश का मार्गदर्शन कर रहा है और आज भी ये कई संकटों के दौरान सुरक्षित रूप से बाहर निकलने में मदद कर रहा है।

    आदित्य प्रसाद साहू ने डॉ भीमराव अंबेडकर की जीवनी लर प्रकाश डालते हुए कहा कि बाबा साहेब को भारतीय संविधान का आधार स्तंभ माना जाता है। डॉ भीमराव रामजी अंबेडकर का निधन 6 दिसंबर, 1956 को हुआ और उनके द्वारा देश के लिए किए गए योगदान को पूरा देश याद करता है और आज के दिन को महानिर्वाण दिवस के रूप में मनाता है।

    वहीं आदित्य प्रसाद साहू ने कहा कि नीति निर्देशक सिद्धांतों को आकार देने में उनका अथक प्रयास, समाज के पिछड़े वर्गों के उत्थान के लिए आरक्षण प्रणाली का सूत्रपात, दलितों के लिए समान अधिकार की आवाज़ ने उन्हें भारतीय राजनीतिक इतिहास में एक अपूरणीय स्थान दिलवाया है।

     आदित्य प्रसाद साहू ने कहा कि देश के प्रधानमंत्री  नरेंद्र मोदी डॉ भीमराव अंबेडकर  के द्वारा दिखाए गए रास्ते पर चलते हुए सबका साथ,सबका विकास और सबका विश्वास के मूल मंत्र पर काम कर रहे है। आज देश उनके नेतृत्व में विकास की राह पर अग्रसर है।

डॉ भीमराव अंबेडकर ने देश मे पिछडों,दलितों,वंचितों को एक आवाज दी : बालमुकुंद सहाय

     प्रदेश के महामंत्री बालमुकुंद सहाय ने कहा कि भारतीय संविधान के मुख्य वास्तुकार  समाज सुधारक, अर्थशास्त्री, विचारक, राजनीतिज्ञ और स्वतंत्र भारत के पहले कानून मंत्री भीमराव रामजी अंबेडकर ने अपनी नींद में रहते हुए अंतिम साँस ली और इस दिन को पूरा देश महापरिनिर्वाण दिवस के रुप मनाता है। 

     बालमुकुंद सहाय ने कहा कि डॉ भीमराव अंबेडकर के कारण ही देश मे पिछडों,दलितों,वंचितों को एक आवाज मिला। उन्हें राजनितिक,आर्थिक, शैक्षणिक और सामाजिक दृष्टि से मजबूत करने में अपनी महति भूमिका निभाया। यह देश उनके योगदान को कभी भूल नही सकता है।

इस कार्यक्रम में जोगेन्द्र लाल, खुदा राम, राजीव राज लाल, सुबोध कान्त, बबिता वर्मा, रेखा महतो, नरेश रजक उपस्थित थे।

Related posts

राँची : मुख्यमंत्री को दी नव वर्ष की शुभकामनायें….

Nitesh Verma

डीआरयूसीसी सदस्य अरुण जोशी ने दक्षिण पूर्व रेलवे के महाप्रबंधक अर्चना जोशी को किया पत्राचार, संतरागाछी अजमेर एक्सप्रेस के मार्ग परिवर्तन की माँग की

Nitesh Verma

राँची: झारखण्ड ऊर्जा विकास श्रमिक संघ की ऑनलाइन बैठक संपन्न

Nitesh Verma

Leave a Comment