झारखण्ड धार्मिक राँची

रामोत्सव में शामिल होने हेतू निकाली गई भव्य आमंत्रण यात्रा

राममय हुई राँची: रमेश सिंह

नितीश_मिश्र

राँची(खबर_आजतक): अयोध्या में भव्य राम मंदिर के प्राण प्रतिष्ठा के शुभ अवसर पर 21 और 22 जनवरी को अल्बर्ट एक्का चौक पर भाजपा के प्रदेश कार्यसमिति सदस्य और चंद्रशेखर आजाद दुर्गा पूजा समिति एवं श्री श्री शिव बारात आयोजन समिति के अध्यक्ष रमेश सिंह के द्वारा आयोजित होने वाले रामोत्सव में शामिल होने और राम की भक्ति में लीन होने के लिए आमंत्रण यात्रा निकाली गई जो रातू रोड के इंद्रपुरी स्थित शिव मन्दिर से प्रारंभ होकर पहाड़ी मंदिर से राम मन्दिर, मेन रोड होते हुए महावीर चौक से रातू रोड के दुर्गा मंदिर पर समाप्त हुई। इस दौरान आमंत्रण यात्रा का विभिन्न स्थानों पर सामाजिक संस्थाओं एवं रामभक्तों के द्वारा स्वागत किया गया।

इस भव्य आमंत्रण यात्रा में रामरथ का प्रारुप बनाया गया था जिसमें कलाकारों को सीताजी, रामजी और हनुमान जी के रुप में विराजमान किया गया था, जिस प्रकार से 14 वर्ष के वनवास के बाद जब श्री राम अयोध्या वापस लौटे थे तो उनके अयोध्या लौटने से पूर्व हनुमान, जामवंत ने अयोध्या जाकर लोगों को भगवान राम के लौटने की सूचना दी थी। इसी से प्रेरणा लेते हुए राम मन्दिर प्राण प्रतिष्ठा के पूर्व इस आमंत्रण यात्रा का आयोजन हुआ जिसमें हजारों की संख्या में रांचीवासी शामिल होकर भगवान राम के भजनों पर नाचते झूमते नजर आए।

वहीं आयोजनकर्ता रमेश सिंह ने राँचीवासियों के प्रति आभार व्यक्त करते हुए कहा कि सैकड़ो वर्षों के संघर्ष के बाद हम वह पीढ़ी हैं जिसे प्रभु श्रीराम मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा का साक्षी बनने का अवसर प्राप्त हो रहा है और पूरे देश के साथ राजधानी राँची भी राममय हो चुकी है और राँची की जनता को रामोत्सव में शामिल होने के लिए पुनः निमंत्रण देना चाहता हूँ जहाँ लगातार दो दिनों तक विभिन्न प्रकार के भक्तिमय आयोजन होने वाले हैं जिसमे सुन्दरकांड पाठ, कारसेवकों का सम्मान समारोह, प्रसिद्ध गयिका स्वाति मिश्रा के साथ कई कलाकारों के द्वारा दोनों दिन भक्ति संध्या, विभिन्न प्रकार से आरती, राम मंदिर प्रारुप के दर्शन सहित अन्य कार्यक्रम शामिल हैं।

Related posts

झारखंड में लग सकता है राष्ट्रपति शासन….ऐसा क्यों कहा सरयू राय ने पढ़े पूरी ख़बर

Nitesh Verma

शिवराज सिंह चौहान के तर्ज पर हेमन्त सोरेन भी बर्बरता की शिकार हज़ारों आदिवासी मूलवासी बेटियों के परिजनों से माफी माँगकर करें प्रायश्चित: प्रतुल शाहदेव

Nitesh Verma

श्रमिक मजदूरों का हक हम लड़कर लेंगे : ललित ओझा

Nitesh Verma

Leave a Comment