कसमार झारखण्ड बोकारो

रैयत,वेदांता प्रबंधन व प्रशासन की उपस्थिति में त्रि पक्षीय वार्ता विफल, धरना चौथे दिन जारी

रिपोर्ट : रंजन वर्मा

कसमार (ख़बर आजतक) : इलेक्ट्रोस्टील वेदांता की ओर से बिछाए गए पानी पाईप लाईन से प्रभावित महाल गांव के रैयतों ,इलेक्ट्रोस्टील प्रबंधन एवम प्रशासन की उपस्थिति में आयोजित त्रि पक्षीय वार्ता विफल रहा, रैयतों ने आन्दोलन जारी रखने की बात कही। प्रभावित रैयत नियोजन को लेकर विगत चार दिनों से जारी धरना बुधवार को चौथा दिन जारी रहा। धरना के चौथे बुधवार को सीओ चंदनकियारी रवि कुमार आनंद, व कंपनी प्रबंधन के आई आर जी एम लक्ष्मण राव के बीच अमलाबाद ओपी में त्रिपक्षीय वार्ता आयोजित की गई, रैयत जहां नौकरी की मांग पर अड़े रहे, कंपनी ने ग्रीवांस नंबर जिन्हें दिया गया है उनमें हर परिवार के एक एक व्यक्ति को प्राथमिकता के आधार पर नियोजन देने की बात कही। कंपनी का कहना है कि जिनके परिवार को नौकरी मिला है उन्हे कुछ दिन बाद दिया जायेगा।रैयतों ने कहा आंदोलन तब तक जारी रहेगा जब तक नियोजन नही मिल जाता। आंदोलनकारियों ने कहा कंपनी शुरू से ही फूट डालों राज करो की नीति पर चल रही है। रैयतों को हक देना नहीं चाहती। जमीन देते समय पूर्ववर्ती कंपनी हर रैयतों को नियोजन की बात कही थी।वंही वार्ता में उपस्थिति वेदांता के प्रतिनिधि लक्ष्मण राव ने रैयतों से एक सप्ताह के अंदर जांचोपरांत मांगों पर विचार करने का आश्वासन दिया जा रहा था हालांकि आज गुरुवार को मुखिया शीतल सिंह समेत अन्य प्रतिनिधि मंडल को वार्ता के लिए बुलाया गया है। जिसपर रैयत नही माने और लिखित आश्वासन का मांग किया। मौके पर मुखिया शीतल सिंह, विक्रम सिंह, सुदाम सिंह, ओपी प्रभारी रवि शंकर समेत अन्य उपस्थित थे।

Related posts

बिरसा मुंडा को हमेशा राष्ट्रीय नायक एवं आदिवासी नायक के प्रतीक के रुप में किया जाता है याद: रंजन यादव

Nitesh Verma

लायंस क्लब द्वारा लझमी गुप्ता के जन्मदिन पर सत्तू शरबत का वितरण

Nitesh Verma

बोकारो : कोर्ट फीस वापस लेना होगा : रंजीत गिरि

Nitesh Verma

Leave a Comment