झारखण्ड राँची राजनीति

सरकार की नीतियों के चलते युवाओं के सपने अधूरे रह गए: सुदेश

सरकार की नीति से नियत झलकती है: सुदेश

आजसू पार्टी के केंद्रीय कार्यालय में राँची विश्वविद्यालय छात्र संघ का सम्मेलन संपन्न

नितीश_मिश्र

राँची(खबर_आजतक): अखिल भारतीय छात्र संघ द्वारा आयोजित राँची विश्वविद्यालय छात्र संघ सम्मेलन में आजसू के केंद्रीय अध्यक्ष सुदेश महतो ने कहा कि सरकार की नीतियों के चलते युवाओं के सपने अधूरे रह गए हैं। सरकार की नीति से नियत झलकती है। जवाबदेह राजनीति तैयार करने के लिए युवाओं को आगे आना होगा। वर्तमान सरकार युवाओं की सोच के साथ नहीं चल रही है। राजनीति अगर बैगर अंकुश के होगी तो इससे कई समस्याओं का सामना करना पड़ता है। नेता और पार्टी की जवाबदेही तय करने की जिम्मेदारी युवाओं पर है। युवाओं को दल नहीं एक अच्छे लीडर को चुनना होगा जिसके अंदर नेतृत्व करने की क्षमता हो। इस सम्मेलन में राँची विश्वविद्यालय के विभिन्न महाविद्यालयों के सैकड़ों छात्र उपस्थित थे।

उन्होंने कहा कि सरकार युवाओं के लिए कोई कदम नहीं उठा रही है। शिक्षा व्यवस्था पूरी तरह से चरमरा गई है। हर साल पांच लाख सरकारी नौकरियों का वादा कर सत्ता में आने वाली सरकार युवाओं को रोजगार से जोड़ने में पूरी तरह से विफल है। वर्तमान सरकार की नीतियों के चलते युवाओं के सपने अधूरे रह गए। रोजगार के कोई साधन नहीं होने के चलते युवा पलायन को मजबूर है।

सुदेश महतो ने सरकार को निशाने पर लेते हुए कहा कि सरकार की नीति से ही उनकी नियत झलकती है। इस सरकार ने अभी तक युवाओं के हित के लिए कोई भी नीति नहीं बनाई है यही इनकी नियत को बताता है। इनके द्वारा जो भी नीति बनाई गई वो किसी न किसी कारण से निरस्त ही हुई है। सभी युवाओं और उनके परिवार का एक ही लक्ष्य है कि अच्छे से पढ़ाई पूरी कर के फिर नौकरी मिले लेकिन सरकार के पास ऐसी कोई प्लानिंग ही नहीं है जिससे युवाओं को रोजगार दिया जा सके। युवाओं के भविष्य की गारंटी सरकार को लेनी चाहिए लेकिन सरकार बस सत्ता का सुख लेने में व्यस्त है। यह सरकार सरकारी नौकरी के अलावे और कोई भी अन्य रोजगार की व्यवस्था करने की भी नहीं सोचती है।

एक आदर्श सरकार वही है जो युवाओं को साथ ले कर चले, उनके बारे में सोचे और उनके हित में फैसले ले लेकिन राज्य की मौजूदा सरकार की सोच युवाओं के सोच के साथ नहीं चल रही है इसका परिणाम है कि आज अपनी हर मांग के लिए युवाओं को सड़कों पर उतरना पड़ता है। युवाओं की सोच से सरकार चलती तो ऐसा नहीं होता।

राज्य के सभी युवाओं को हर क्षेत्र में आगे आ कर देश की प्रतिस्पर्धा में खुद को खड़ा करना होगा इसके लिए हमें सबसे पहले अपनी सोच को बदलना होगा। आप सभी खुद में एक शक्ति है इस शक्ति को पहचाने और इसे बढ़ाए। उन्होंने कहा कि आजसू पार्टी एक ऐसा संगठन है जहां सिर्फ और सिर्फ काबिलियत देखी जाती है। यहाँ बीपीएल परिवार से आने वाला बच्चा भी नेतृत्व दे सकता है। पार्टी में ऐसे कई नेता है जिन्होंने ऐसा कर के दिखाया है।

राँची विश्वविद्यालय छात्र संघ के सम्मेलन में मुख्य रुप से हरीश कुमार, गौतम सिंह, नीरज वर्मा, गदाधर महतो, ज्योत्सना केरकेट्टा, ओम वर्मा, नीतीश सिंह, राजकिशोर महतो, अभिषेक शुक्ला, राहुल तिवारी, दीपक दूबे, रोहित चौधरी, सपन कुमार सिंह, विक्रम यादव, विशाल यादव, बीएस महतो,अमित तिर्की, शुभम कुमार, चंदन कुमार, अभिजीत महतो, प्रतीक टोप्पो, घिलमान अनवर आदि मौजूद थे।

Related posts

विनय चौबे से मिला झारखंड चैंबर और आर्टिटेक्ट एसोसिएशन का प्रतिनिधिमंडल

Nitesh Verma

जगत प्रकाश नड्डा से मिले आजसू प्रमुख सुदेश, राज्य की वर्तमान स्थिति एवं अन्य विषयों पर हुई चर्चा

Nitesh Verma

राँची पहुँचे जदयू के प्रदेश प्रभारी डॉ अशोक चौधरी, कार्यकर्ताओं ने 51 किलो का माला पहनाकर किया स्वागत

Nitesh Verma

Leave a Comment