झारखण्ड राँची

सीएमपीडीआई के सीएमडी ने झारखंड राज्य में क्लबफुट से विकलांगता का उन्मूलन हेतू ‘‘बढ़ते कदम’’ नामक सीएसआर परियोजना की शुरूआत की

नितीश_मिश्र

राँची(खबर_आजतक): सीएमपीडीआई के अध्यक्ष-सह-प्रबंध निदेशक मनोज कुमार ने शनिवार को राजेन्द्र इंस्टीच्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज (रिम्स) अस्पताल में सीएमपीडीआई की फ्लैगशिप सीएसआर पहल ‘‘बढ़ते कदम: झारखंड राज्य के बच्चों में क्लबफुट से विकलांगता का उन्मूलन’’ परियोजना का शुभारंभ किया। इस परियोजना का शुभारंभ करने के उपरांत श्री कुमार ने रिम्स अस्पताल में लाभार्थियों से बातचीत की। इस अवसर पर सीएमपीडीआई के निदेशक (तकनीकी/आरडीएंडटी) अच्युत घटक एवं अन्य वरीय अधिकारी उपस्थित थे।

ज्ञात हो कि सीएमपीडीआई (मुख्यालय) ने 24 जनवरी को निगमित सामाजिक दायित्व (सीएसआर) परियोजना के तहत ‘‘बढ़ते कदम: झारखंड राज्य के बच्चों में पोंसेटी विधि के माध्यम से क्लबफुट से विकलांगता का उन्मूलन’’ के लिए क्योर इंडिया फाउंडेशन, नई दिल्ली के साथ एक समझौता ज्ञापन (एमओए) पर हस्ताक्षर किया। सीएमपीडीआई द्वारा इस परियोजना पर वित्त वर्ष 2023-27 तक ₹93 लाख की निधि पोषित की जाएगी। सीएमपीडीआई द्वारा झारखण्ड राज्य में 500 बच्चों के इलाज और क्लबफुट के उन्मूलन में सहायता के लिए शुरू की गई अपनी तरह की यह पहली परियोजना है।

झारखण्ड स्थित राजेन्द्र इंस्टीच्यॅट ऑफ मेडिकल साइंसेज (रिम्स)-राँची, जिला अस्पताल-राँची, बोकारो जनरल अस्पताल-बोकारो, पाटलीपुत्र मेडिकल कालेज एवं अस्पताल-धनबाद, हजारीबाग मेडिकल कालेज एवं अस्पताल-हजारीबाग, पलामू मेडिकल कालेज एवं अस्पताल-मेदनीनगर, जिला अस्पताल-चाईबासा एवं एम्स-देवघर जैसे सरकारी अस्पतालों में क्लबफुट रोगियों का उपचार किया जाएगा।

Related posts

राज्यपाल व मंत्री मिथिलेश ठाकुर से मिला राँची जिला दुर्गा पूजा समिति का शिष्टमंडल

Nitesh Verma

1अक्टूबर को स्वच्छता ही सेवा अभियान चलाएगी भाजपा: डॉ प्रदीप वर्मा

Nitesh Verma

सीएमपीडीआई ने कोयला खनन में भारत के पहले
निजी 5जी नेटवर्क की तैनाती में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई

Nitesh Verma

Leave a Comment