झारखण्ड राँची स्वास्थ

16 वर्षीय बालक के जबड़े की अनोखी सर्जरी कर राज अस्पताल ने बनाया कीर्तिमान

रिपोर्ट : नितीश मिश्रा

राँची (ख़बर आजतक) : राज अस्पताल रांची में हाल ही में हजारीबाग के एक 16 वर्षीय लड़के कृष्ण कुमार के जबड़े की अनोखी सर्जरी की गई। लड़के को 6 साल की उम्र में चेहरे में गंभीर चोट (मैक्सिलोफेशियल ट्रॉमा) लगी थी, जिसके कारण मरीज का जबड़ा खुलना कम हो गया था। जो की धीरे-धीरे समय के साथ और कम होने लगा। बाद में जैसे-जैसे बच्चा बड़ा हुआ, उसके जबड़े का खुलना लगभग शून्य मिमी पर आ गया, जो मरीज के जीवन के लिए एक गंभीर स्थिति बन गई।
मरीज बाइलैटरल टेम्पोरोमैंडिबुलर ज्वाइंट एंकिलोसिस से पीड़ित था। रोगी की हालत इतनी ख़राब थी कि वह खाना नहीं खा सकता था और केवल तरल और अर्ध-तरल आहार पर ही जीवित था। बीमारी की वजह से रोगी का चेहरा दाहिनी ओर मुड़ने लगा और विकृत हो गया था । मरीज को 11 साल तक अपने चेहरे की इस विकृत स्थिति के कारण बहुत सारे सामाजिक उलाहना और मनोवैज्ञानिक तनाव का सामना करना पड़ा था ।

राज अस्पताल, रांची के प्रसिद्ध लेप्रोस्कोपिक सर्जन डॉ. आशीष कुमार मोदी ने मरीज के जांच में पाया की मरीज टी.एम.जे एंकिलोसिस से पीड़ित है। तत्पश्चात अस्पताल के प्रमुख मैक्सिलोफेशियल सर्जन डॉ. अभिषेक भट्टाचार्जी, एनेस्थेटिस्ट एवं क्रिटिकल केयर विभाग के प्रमुख डॉ. मोहिब अहमद और उनकी टीम ने मिलकर मरीज के इलाज के लिए टेम्पोरलिस मसल इंटरपोजिशन के साथ एंकिलोटिक मास (जी.ए.पी आर्थ्रोप्लास्टी) को सर्जरी के द्वारा हटाया।

Related posts

बच्चों के सुरक्षा के दृष्टिकोण से झारखण्ड सरकार द्वारा लिया गया फैसला स्वागत योग्य : आलोक दूबे

Nitesh Verma

बोकारो : संत ज़ेवियर विद्यालय में राष्ट्रीय स्तर के वाद-विवाद प्रतियोगिता का आयोजन

Nitesh Verma

विधानसभा की विशेष समिति ने की अधिकारियों और प्राइवेट कंपनी के प्रतिनिधियों के साथ बैठक

Nitesh Verma

Leave a Comment