झारखण्ड राँची राजनीति

JSSC CGL परीक्षा में गड़बड़ी की हो निष्पक्ष CBI जाँच: अभाविप

नितीश_मिश्र

राँची(खबर_आजतक): अभाविप राँची महानगर के द्वारा जेएसएससी सीजीएल परीक्षा पेपर लिक को लेकर मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन एवं जेएसएससी के अध्यक्ष का पुतला दहन किया गया। इस आक्रोश मार्च जयपाल सिंह मुंडा स्टेडियम से फिरायालाल चौक तक निकाला गया। गौरतलब है कि 28 जनवरी को आयोजित हुए JSSC CGL परीक्षा में हुए पेपर लीक मामले को लेकर अभाविप झारखण्ड के प्रदेश मंत्री सौरभ झा ने प्रेस विज्ञप्ति जारी करते हुए कहा कि एक ओर सरकार नए नए नियम कानून बनाने में व्यस्त है, दूसरी ओर प्रतियोगी परीक्षाओं में गड़बड़ी झारखण्ड के लिए आम बात हो गया है।

इस दौरान प्रदेश मिडिया संयोजक दुर्गेश यादव ने कहा कि एक तो 12 वर्षो के लंबे समय के बाद परीक्षा का आयोजन होने से अभ्यर्थियों में काफी खुशी का माहौल दिख रहा था, परन्तु प्रश्न पत्र लिख कर के छात्रों के भविष्य के साथ खिलवाड़ करना अत्यंत दुर्भाग्यपूर्ण है, प्रश्न पत्रों का लीक होना कहीं न कहीं एडमिनिस्ट्रेशन फैलियर और सरकार की संलिप्तता नजर आ रही है, अभी तक जितने भी प्रतियोगी परीक्षाएँ हुए हैं, उन सभी में भारी अनियमितता के साथ ही पैसों का बंदर–बाटकर छात्रों के भविष्य के साथ खिलवाड़ करने का सुनियोजित षड्यंत्र झारखंड के सभी नियुक्तियों में नजर आ रही है।

राँची महानगर मंत्री ऋतुराज शाहदेव ने बताया कि झारखंड के छात्रों का भविष्य खतरे में हैं। झारखण्ड के युवा और छात्र कभी पेपर लीक तो कभी 4 साल में परीक्षाओं के आयोजन ना कराए जाने का कड़वा घूंट हर रोज पीने को मजबूर है। झारखण्ड में अब समय आ गया है कि छात्र विरोधी झारखण्ड की सरकार को सड़क से सदन तक झारखण्ड की वर्तमान सरकार को उखाड़ फेंकने के लिए सभी युवा एकजुट हो जाए।

अभाविप राँची के जिला संयोजक अमर सिंह ने कहा कि वर्तमान सरकार अपने सारे कुकृत्यों एवं कुनितियों के दम पर वर्तमान सरकार छात्रों के भविष्य से खेलने में जुटी है पर उन्हें ये ख्याल रखना चाहिए। छात्रों का विरोध एक क्रान्ति है अपने अधिकारों और हितों के रक्षा के लिए वो स्वयं सामर्थ्यवान हैं।

अभाविप के मिडिया सांयोजक दुर्गेश यादव ने जानकारी देते हुए कहा कि अभाविप माँग करती है कि इस गड़बड़ी मामले की निष्पक्ष CBI जाँच करा कर मामले में संलिप्त दोषियों के ऊपर सरकार द्वारा ही लाए नए नकल विधेयक के तहत कार्यवाही सुनिश्चित हो एवं केवल तृतीय पाली नहीं बल्कि 28 जनवरी व 4 फरवरी को होने वाले परिक्षा को हुए सभी पालियों की परीक्षा को रद्दकर कदाचार मुक्त और शांतिपूर्ण ढंग से परीक्षा का आयोजन करना सुनिश्चित किया जाए साथ ही परीक्षा संपन्न करने वाली एजेंसी को ब्लैक लिस्ट कर नई एजेंसी सीबीटी मोड में परीक्षा कराई जाए साथ ही कहा कि अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद झारखंड प्रदेश का प्रतिनिधिमंडल राज्यपाल से मिलकर झारखण्ड में शिक्षण व्यवस्था साथ ही नियुक्तियाँ में भारी अनिमियतता को लेकर एक ज्ञापन पत्र सौपेंगा

इस मौके पर अभाविप प्रदेश मीडिया संयोजक दुर्गेश यादव, प्रदेश सोशल मीडिया संयोजक आनंद कुमार, राँची महानगर मंत्री ऋतुराज शाहदेव, कार्यालय मंत्री सौरभ कुमार, जिला संयोजक अमर सिंह, विद्यानंद, किरण, शारदा, साक्षी, सृष्टि, संजना, अमन , सिद्धांत, कार्तिक, गुड्डू, पवन, मनीष सिंह, रवि, शुभम, सोनल, अंकित, सुमित उपस्थित थे।

Related posts

अज्ञात वाहन के चपेट में आने से वृद्ध की मौत

Nitesh Verma

मजदूरों पर हो रहे शोषण पर जल्द होगा बड़ा आंदोलन: रवि चौबे

Nitesh Verma

झारखंड सरकार द्वारा चलाई जा रही जनकल्याणकारी योजनाओं का किया गया प्रचार प्रसार

Nitesh Verma

Leave a Comment