झारखण्ड राँची राजनीति

अश्विनी वैष्णव से नई दिल्ली में सांसद की मुलाकात

बहुत जल्द दौड़ेगी राँची-हावड़ा वंदे भारत एक्सप्रेस: संजय सेठ

सांसद ने कहा : राँची से बनारस के बीच भी करें वंदे भारत एक्सप्रेस का परिचालन

नितीश_मिश्र

राँची(खबर_आजतक): सांसद संजय सेठ ने नई दिल्ली में केंद्रीय रेल मंत्री अश्वनी वैष्णव से मुलाकात की। इस मुलाकात के दौरान सांसद ने केंद्रीय मंत्री से राँची लोकसभा क्षेत्र में रेल सुविधाओं के विस्तार, नई ट्रेनों के परिचालन और कई ट्रेनों के फेरे बढ़ाने का आग्रह किया। सांसद ने केंद्रीय रेल मंत्री को राँची पटना वंदे भारत एक्सप्रेस के लिए धन्यवाद कहा। इसके साथ ही राँची हावड़ा वंदे भारत एक्सप्रेस पर चर्चा की। इस चर्चा में केंद्रीय रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने सांसद को बताया कि इसकी तैयारी पूरी हो चुकी है और बहुत जल्द वंदे भारत एक्सप्रेस का परिचालन राँची और हावड़ा के बीच आरंभ कर दिया जाएगा। संजय सेठ ने राँची और बनारस के बीच भी वंदे भारत ट्रेन का परिचालन करने का आग्रह किया। उन्होंने केंद्रीय मंत्री से कहा कि बनारस देश की सांस्कृतिक राजधानी है और बड़ा व्यवसायिक केंद्र भी है। झारखंड से प्रतिदिन हजारों की संख्या में लोग बनारस आवागमन करते हैं परंतु ट्रेन सेवा नहीं होने के कारण कई बार लोगों को समस्याएँ होती है। वंदे भारत एक्सप्रेस का परिचालन राँची और बनारस के संबंधों को भी मजबूत करेगा। व्यवसायिक दृष्टिकोण से भी दोनों शहर लाभान्वित होंगे। इसके अतिरिक्त विगत 10 वर्षों से चलने वाली साप्ताहिक और विभिन्न ट्रेनों के फेरों को बढ़ाए जाने का आग्रह भी सांसद संजय सेठ ने केंद्रीय रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव से किया।

सांसद ने केंद्रीय रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव को बताया कि ऐसी कई ट्रेनें हैं जो राँची से चेन्नई, बेंगलुरु, एर्नाकुलम, वेल्लोर, पुणे, मुंबई जैसे शहरों को जाती हैं। इन ट्रेनों का परिचालन 10 वर्ष से अधिक समय से होता रहा है। इन 10 वर्षों में आबादी भी बढ़ी है और लोगों की यात्राएं भी बढ़ी है। ऐसे में यह आवश्यक है कि इन ट्रेनों का फेरा बढ़ाया जाए ताकि लोगों की यात्रा और सुगम हो सके।

सांसद ने बताया कि इन्हीं ट्रेनों के माध्यम से लोग रोजी रोजगार, उपचार, शिक्षा जैसे आवश्यक कार्यों के लिए महानगर को जाते हैं। ऐसे में फेरा बढ़ाया जाना आवश्यक है।

संजय सेठ ने जिन ट्रेनों के फेरे बढ़ाए जाने का आग्रह किया है उनमें हटिया रेलवे स्टेशन से हटिया बेंगलुरु के लिए 12835/ 12836 और 18637/18638, हटिया से मुंबई लोकमान्य तिलक टर्मिनल के लिए 12812/12811, राँची से मुंबई लोकमान्य तिलक टर्मिनल के लिए 18609/18610, हटिया से पुणे के लिए 22846/22845, धरती आबा एक्सप्रेस 22837/22838 शामिल हैं।

Related posts

जीजीएसएएसटीसी मे दो-दिवसीय द्वितीय नैशनल कान्फ्रेंस औन रीसेंट ट्रेंड्स औफ इंजीनियरिंग साइंस एंड मैनेजमेंट 2023 का समापन

Nitesh Verma

शरीर मन ‐ भावना का संतुलन ही योग : स्वामी अंतरानन्द

Nitesh Verma

जेपी नड्डा से मिली पाँच सदस्यीय टीम, सौंपी रिपोर्ट

Nitesh Verma

Leave a Comment