गोमिया बोकारो

दुःखद : गोमियां के प्रवासी मजदूर की मुम्बई में हुई मौत….

रिपोर्ट : प्रशांत अम्बष्ठ

गोमिया (ख़बर आजतक) : :प्रवासी मजदूरों की मौत का सिलसिला थमता नजर नहीं आ रहा है।इसी क्रम में बोकारो जिले के गोमियां प्रखंड के चतरोचट्टी थाना क्षेत्र अंतर्गत करी खुर्द के मजदूर की मुम्बई में शनिवार शाम को मुम्बई में मौत हो गयी।मिली जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है कि चतरोचट्टी थाना क्षेत्र अंतर्गत करी निवासी सोमर महतो के 45 वर्षीय पुत्र जगरनाथ महतो की मौत हो गयी। मौत की सूचना मिलते ही परिजन सकते में है तो वहीं गांव वाले भी शोक में हैं।घाटना के कारणों के बारे में अभी तक कोई पूरी जानकारी नहीं मिल सकी है।मृतक जगरनाथ महतो मुम्बई में ट्रांसमिशन कंपनी में कार्यरत था।मृतक अपने पीछे मुस्कान कुमारी(22),भुनेश्वर कुमार(20),आरती कुमारी(17) व सुमन कुमार(15) को छोड़ गया।इस घटना को लेकर प्रवासी मजदूरों के हित में कार्य करने वाले समाजसेवी सिकन्दर अली संवेदना प्रकट करते हुए करते हुए कहा कि झारखंड के नौजवानों की मौत के मुंह में समा जाने की यह पहली घटना नहीं है।इससे पहले भी कई लोगों की मौत हो चुकी है।रोजी-रोटी की तलाश में परदेस गये प्रवासी झारखंडी मजदूरों की मौत का सिलसिला जारी है। हर रोज झारखंड के किसी न किसी इलाके से प्रवासी मजदूर की दूसरे राज्यों या विदेश में मौत की खबरें आ रही है।प्रवासी मजदूरों की सबसे ज्यादा तादाद गिरिडीह, हजारीबाग और बोकारो जिले से रोजी कमाने गये लोगों की है।अपना घर छोड़कर परदेस गये इन मजदूरों की जिंदगी तो कष्ट में बीतती ही है, मौत के बाद भी उनकी रूह को चैन नसीब नहीं होता है।किसी की लाश हफ्ते भर बाद आती है, तो किसी को 3 महीने भी लग जाते हैं।ऐसे में सरकार को रोज़गार के ऐसी व्यवस्था करनी चाहिए।ताकि मजदूरो का पलायन रोका जा सके।

Related posts

ओएनजीसी में दलाली प्रथा हावी: रैयतों के साथअन्याय बर्दाश्त नहीं : माधवलाल

Nitesh Verma

सीसीएल एवं डीवीसी का चक्का जाम आंदोलन ऐतिहासिक होगा : सचिन महतो

Nitesh Verma

बोकारो : संगीत हमारे जडो में बसी है, संगीत के बिना जीवन अधूरा : जौहर अली

Nitesh Verma

Leave a Comment