राँची

राँची: श्रीमद्भागवतद्गीता धर्म ग्रंथ नहीं अपितु सनातन संस्कृति का प्रतीक : प्रो नीलिमा पाठक

नितीश_मिश्र

राँची(खबर_आजतक): सरला बिरला विश्वविद्यालय के योग एवं नेचुरोपैथी विभाग में गीता जयंती के पावन अवसर पर एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया, जिसका प्रारम्भ दीप प्रज्वलन कर योग एवं नेचुरोपैथी विभाग की डीन प्रो नीलिमा पाठक ने किया। तत्पश्चात योग तथा अन्य विभाग के विद्यार्थियों के द्वारा श्रीमद्भगवद्गीता के चयनित श्लोकों का सस्वर पाठ किया गया। प्रो नीलिमा पाठक द्वारा कहा गया कि श्रीमद्भगवद्गीता धर्म ग्रंथ नहीं अपितु सनातन संस्कृति का प्रतीक है, यह जीवन की समस्त समस्याओं का समाधान है। साथ ही विद्यार्थियों के जीवन में श्रीमद्भगवद्गीता की उपयोगिता को समझाते हुए उन्होंने कहा कि प्रत्येक विद्यार्थी को अपने विद्यार्थी धर्म का पालन करते हुए तटस्थ रहकर कर्म करना चाहिए तथा फल की चिन्ता नहीं करनी चाहिए।

Motivational Session for NET-JRF Aspirants”

सरला बिरला विश्वविद्यालय के योग विज्ञान एवं नैचुरोपैथी विभाग Motivational Session for NET-JRF Aspirants” विषय पर एक वेबिनार आयोजित किया गया जिसमें आध्यात्मिकता को जीवन में उतार कर जीने और रुझान रखने वाले सूर्य प्रकाश (NET -JRF (AIR-2) योग विज्ञान, NET-JRF टूरिज्म एडमिनिस्ट्रेशन एवं मैनेजमेंट, NET -JRF समाजशास्त्र) एवं पूजा जी (NET -JRF मनोविज्ञान और NET -JRF समाजशास्त्र) मुख्य प्रवक्ता के रूप में अपने विचार व्यक्त किए।

इस वेबिनार में- समय प्रबंधन कैसे किया जाए ? NET-JRF की तैयारी कैसे करें, अध्यन सामग्री क्या हो या उसका उपयोग कैसे किया जाए ? परीक्षा के दौरान स्वयं को तनाव मुक्त कैसे रखें ? खुश रहें, अपने लक्ष्य के प्रति केन्द्रित रहें एवं आत्म- मूल्यांकन कैसे करें आदि विषयों पर चर्चा की गई।

सरला विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. डॉ. गोपाल पाठक द्वारा चर्चा की गई कि यह वेबिनर विषय बहुत ही महत्वपूर्ण विषय है और साथ ही यह हमारे सभी विद्यार्थियों, शोधार्थियों एवं अध्यापकों के लिए भी सहायक सिद्ध होगा।

इस दौरान कुलसचिव डॉ विजय कुमार सिंह ने NET -JRF के सभी प्रतिभागियों को शुभकामनाएँ प्रेषित की। योग एवं नैचुरोपैथी की डीन प्रो नीलिमा पाठक द्वारा NET-JRF से प्राप्त होने वाली उपलब्धियों पर बात की गई। एसोसिएट डीन, आर. एम. झा ने NET -JRF के प्रतिभागियों के उज्ज्वल भविष्य की कामना की।

इस अवसर पर अजय कुमार, प्रवीण कुमार, आशुतोष कुमार द्विवेदी, डॉ अशोक कुमार अस्थाना, डॉ नम्रता चौहान, डॉ अर्चना मौर्या, अंजना कुमारी सिंह, अमरेंद्र दत्त द्विवेदी, पंकज केशरी एवं विभाग के सभी शोधार्थी एवं विद्यार्थी आदि उपस्थित थे।

Related posts

झारखंड के 34 नगर निकाय चुनाव में आज से अफसरशाही हो जाएगी हावी : प्रतुल शाहदेव

Nitesh Verma

रंग लाया सांसद संजय सेठ का प्रयास,सिल्ली इलू बाईपास रेल लाइन को रेलवे की हरी झंडी

Nitesh Verma

झारखंड की ज्योति मौर्य! पति ने मजदूरी कर नौकरी लगवाई, जॉब मिलते ही गैर की हो गई पत्नी

Nitesh Verma

Leave a Comment