कसमार गोमिया झारखण्ड बोकारो

विभागीय अनियमितता के कारण आदिवासी कल्याण की कई योजनाओ का निर्माण कार्य अधर में लटका

रिपोर्ट : प्रशांत अम्बष्ठ

गोमिया (ख़बर आजतक) : कल्याण विभाग द्वारा संचालित मांझी हाउस, मांझी थान एवं अन्य निर्माण कार्य गोमिया प्रखंड सहित पूरे बोकारो जिला में पिछले कई माह से पैसा के अभाव में बंद पड़े हैं। अखिल भारतीय आदिवासी महासभा के जिला सचिव बिरालाल किस्कू ने बताया कि कल्याण विभाग के जिला कार्यालय में व्याप्त अनियमितता के कारण आदिवासी कल्याण की उपर्युक्त योजनाओं का निर्माण कार्य बंद हो गया है। श्री किस्कू ने बतलाया कि योजनाओं के निर्माण को पूरा करने के लिए राशि आवंटित करने में जिला कार्यालय द्वारा हीला-हवेली किया जाता है और दूसरी तरफ वर्ष 2023-24 में आवंटित करोड़ों रुपया 31 मार्च को सरेंडर कर दिया गया है।
आदिवासी महासभा के जिला सचिव श्री किस्कू ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कहा है कि जिला कल्याण शाखा के प्रधान सहायक के अड़ियल रवैया के कारण करोड़ों रुपया सलेंडर करना पड़ा है। उन्होंने कहा कि योजनाओं के लाभुक समितियो के दर्जनों पदाधिकारीयों- बाबू दास मुर्मू, लखन हांसदा,गुरु लाल मांझी, बिगन टुडू इत्यादि ने मुख्यमंत्री चंपई सोरेन से दिनांक 9 अप्रैल’24 को भेंट कर कल्याण शाखा के प्रधान सहायक श्री संजय कुमार दास के काली करतूत की लिखित जानकारी दिया है। उक्त प्रधान सहायक पिछले एक दशक से भी अधिक समय से कल्याण शाखा में ही पद स्थापित है।
श्री किस्कू ने उपर्युक्त योजनाओं के लंबित रहने के लिए प्रधान सहायक को दोषी बताते हुए उपायुक्त बोकारो से कल्याण शाखा से तत्काल प्रभाव से उक्त प्रधान सहायक को हटाने का मांग किया है।

Related posts

कसमार : बैढक सिर्फ खानापूर्ति, भूअर्जन पदाधिकारी को मुआवज़ा दर भी मालूम नहीं : इमाम

Nitesh Verma

मू-माफिया सरकारी राशि से निर्मित तालाब को जेसीबी से मिट्टी भरकर बेचने के फिराक मे

Nitesh Verma

शिवराज सिंह चौहान के तर्ज पर हेमन्त सोरेन भी बर्बरता की शिकार हज़ारों आदिवासी मूलवासी बेटियों के परिजनों से माफी माँगकर करें प्रायश्चित: प्रतुल शाहदेव

Nitesh Verma

Leave a Comment