झारखण्ड बोकारो

विस्थापित के अधिकार को गैर विस्थापितों के बीच बंदर बाट किया जा रहा है : हसनुल्लाह अंसारी

बोकारो (ख़बर आजतक): रविवार को सेक्टर 4 कार्यालय में विस्थापित संयुक्त परिवार कि साप्ताहिक बैठक संपन्न हुई। बैठक में विस्थापित संयुक्त परिवार के आंदोलनकारी उपस्थित हुए। बैठक को संबोधित करते हुए विस्थापित संयुक्त परिवार के नेता हसनुल्लाह अंसारी ने कहा कि 12 अगस्त 2023 को मुख्य महाप्रबंधक कार्मिक एवं प्रशासन श्री हरि मोहन झा सिनियर सहायक महाप्रबंधक आरिफ हुसैन एवं संयुक्त परिवार के प्रतिनिधिमंडल के साथ जो वार्ता हुई थी प्रबंधन उसे धरातल पर उतारे नही तो विस्थापित संयुक्त परिवार आंदोलन का बिगुल फूंक देगा। विस्थापित संयुक्त परिवार ने मजदूर मैदान में कुदाली चलाओ खेती करो आंदोलन स्थगित किया है वापस नहीं लिया है। बोकारो प्रबंधन अपने वादा खिलाफी से बाज आए नहीं तो विस्थापित मजदूर मैदान में कुदाली चलाओ खेती करो आंदोलन करने में विवश होगी। बोकारो प्रबंधन लगातार बहाली निकाल रही है परंतु किसी भी बहाली में विस्थापित के लिए आरक्षित सीट नहीं है। यह प्रबंधन का विस्थापितों के साथ सौतेला व्यवहार है। अपने जमीन पर कारखाना स्थापित करने वाले विस्थापित आज भुखमरी की कगार पर है। रोजी-रोटी के लिए दूसरे प्रदेश पलायन कर रहे हैं। विस्थापित के अधिकार को गैर विस्थापितों के बीच बंदर बाट किया जा रहा है। झारखंड सरकार ने मल्टीनेशनल कंपनी में 75% अस्थाई नियोजन देने का प्रस्ताव कैबिनेट में पारित किया जा चुका है बावजूद प्रबंधन द्वारा विस्थापित बेरोजगारों को अस्थाई नियोजन नहीं दिया जा रहा है। विस्थापित ठेकेदारों के साथ भी बोकारो प्रबंधन का सौतेला व्यवहार रहा है। संयंत्र के अंदर चाहे बाहर किसी भी तरह के कामों में विस्थापित को आरक्षण नहीं दिया जा रहा है। 4328 की सूची बोकारो प्रबंधन के पास है जिसमें से 1500 लोगों ने अप्रेंटिस कर लिया है शेष बचे विस्थापितों को अप्रेंटिस करने की बातें है। प्रबंधन के उदासीन रवैया के कारण विस्थापितों की उम्र सीमा बढ़ रही है। हमने इन सभी मांगों से बोकारो प्रबंधन को अवगत करा चुके है । प्रबंधन ने सहमति भी जताई है कि बहुत जल्द विस्थापितों को हम अप्रेंटिस कराएंगे। लेकिन प्रबंधन के कथनी और करनी में अंतर दिखने लगा है। प्रबंधन के रवैया से विस्थापितों के अंदर काफी आक्रोश है। हसनाउल्लाह अंसारी ने प्रबंधन को चेतावनी देते हुए कहा कि बोकारो प्रबंधन वार्ता में जो बातें हुई है उन सभी मांगों पर सकारात्मक पहल करें नहीं तो इस साल के नवंबर दिसंबर संघर्ष का वर्ष होगा विस्थापित संयुक्त परिवार विस्थापितों के मान सम्मान के लिए निर्णायक आंदोलन में कुद ने के लिए विवश होगी।इस मौके पर बालेश्वर सिंह राठौर अयूब अंसारी राजेश कुमार मंडल सेवा सिंह मुस्लिम अंसारी चौहान महतो सबेतुललाह अंसारी सेवा सिंह लालजी माझी शंकर मंडल साहीद अंसारी फजले ईमाम जमील अख्तर गुलजार अंसारी कुर्बान अंसारी इत्यादि सामिल थे।

Related posts

बोकारो : होमगार्ड बहाली में धांधली को लेकर अभ्यर्थी ने किया आत्मदाह का प्रयास

Nitesh Verma

राज्यपाल से मिले पूर्व मंत्री राधा कृष्ण किशोर, सौंपा ज्ञापन

Nitesh Verma

राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू 24 मई को करेगी 165 एकड़ में फैले झारखंड हाईकोर्ट का शुभारंभ

Nitesh Verma

Leave a Comment